Home /News /rajasthan /

आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका, HC ने कहा- कोर्ट को अपराधियों से कोई सहानुभूति नहीं

आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका, HC ने कहा- कोर्ट को अपराधियों से कोई सहानुभूति नहीं

आसाराम। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

आसाराम। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

यौन उत्पीड़न के मामले में जोधपुर सेन्ट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे आसाराम को हाईकोर्ट ने गुरुवार को बड़ा झटका दिया है. हाईकोर्ट ने आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है.

    यौन उत्पीड़न के मामले में जोधपुर सेन्ट्रल जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे आसाराम को हाईकोर्ट ने गुरुवार को बड़ा झटका दिया है. हाईकोर्ट ने आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका को खारिज कर दी है. हाईकोर्ट की खण्डपीठ ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि कोर्ट को ऐसे अपराधियों से कोई सहानुभूति नहीं है.

    आसाराम की अंतरिम जमानत याचिका पर हाईकोर्ट जस्टिस संदीप मेहता की खंडपीठ में सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान सरकारी अधिवक्ता ने आसाराम की पत्नी की रिपोर्ट पेश की. सरकारी अधिवक्ता ने कोर्ट को बताया कि आसाराम की पत्नी लक्ष्मी देवी स्वस्थ हैं. कोई गंभीर हालात नहीं है.

    याचिका पर बहस के बाद खंडपीठ ने मामले में तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा, "ऐसे अपराधियों से कोर्ट को कोई सहानुभूति नहीं है." पिछली सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट जस्टिस संगीत लोढा की खण्डपीठ ने आसाराम की अर्जी पर सुनवाई करने से ही इनकार कर दिया था. आसाराम ने अपनी पत्नी से मुलाकात करने और उसकी सेवा करने के लिए अंतरिम जमानत अर्जी खण्डपीठ के समक्ष पेश की थी.

    बीकानेर में शादी समारोह में केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल का विरोध, नारेबाजी

    जीवन की अंतिम सांस तक जेल में रखने की सजा सुनाई गई थी
    उल्लेखनीय है कि आसाराम पांच साल से भी ज्यादा समय से जोधपुर सेन्ट्रल जेल में बंद है. गत वर्ष 25 अप्रैल को एससी-एसटी कोर्ट जज मधुसुदन शर्मा ने आसाराम को सजा सुनाते हुए जीवन की अंतिम सांस तक जेल में रखने की सजा सुनाई थी. उसके बाद से आसाराम जेल से बाहर आने की फिराक में है. इसके चलते आसाराम ने दो बार जिला पैरोल कमेटी के सामने पैरोल पेश की थी. एक बार हाईकोर्ट में भी पैरोल अर्जी पेश की थी. इसके अलावा हाईकोर्ट में आसाराम की सजा स्थगन याचिका पर भी सुनवाई लंबित है. सजा स्थगन याचिका पर अब 6 मार्च को सुनवाई होगी.

    काला हिरण शिकार मामले में सलमान खान याचिका पर सुनवाई 13 अप्रैल तक टली

    पाकिस्तानी कैदी की हत्या का मामला: जेल अधीक्षक को हटाया, डिप्टी जेलर भी एपीओ

    लश्कर-ए-तैय्यबा के लिए पैसा जुटाने के आरोप में सजा काट रहा था शकरउल्ला

    पुलवामा शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि, महिला भिखारी ने दिए 6 लाख 61 हजार रुपये

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Court, Jodhpur High Court, Jodhpur News, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर