Corona Effect: सोशल मीडिया में छाया जोधपुरी साफे के साथ मास्क का यह 'टशन'
Jodhpur News in Hindi

Corona Effect: सोशल मीडिया में छाया जोधपुरी साफे के साथ मास्क का यह 'टशन'
अब इस नए अंदाज को युवा से लेकर वृद्ध तक सभी पसंद कर रहे हैं.

कोरोना संक्रमण (COVID-19) के कारण मुंह पर मास्क लगाने की मजबूरी ने जोधपुर (Jodhpur) के विश्व प्रसिद्ध साफा (Turbans) व्यवसाय में बड़ा बदलाव कर दिया है. साफा/पगड़ी के पहनने के बाद मास्क (Mask) लगाने से कहीं उसकी सुंदरता कम नहीं हो जाए, इसके लिए अब पगड़ी निर्माताओं ने नया स्टाइल (New style) ईजाद कर लिया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जोधपुर. कोरोना संक्रमण (COVID-19) के कारण मुंह पर मास्क लगाने की मजबूरी ने जोधपुर (Jodhpur) के विश्व प्रसिद्ध साफा (Turbans) व्यवसाय में बड़ा बदलाव कर दिया है. साफा/पगड़ी के पहनने के बाद मास्क (Mask) लगाने से कहीं उसकी सुंदरता कम नहीं हो जाए, इसके लिए अब पगड़ी निर्माताओं ने नया स्टाइल (New style) ईजाद कर लिया है. पगड़ी के साथ पगड़ी जैसा ही मास्क अब जल्द ही धूम मचाएगा और इसे एक नई पहचान भी देगा. कोरोना के कारण ठप हुआ पगड़ी व्यवसाय अब धीरे-धीरे वापस पटरी पर आ रहा है.

मास्क की मजबूरी को फैशन में बदला
एक तो कोरोना ने पहले ही पगड़ी व्यवसाय पर ग्रहण लगा दिया था. उसके बाद अब मास्क लगाने की मजबूरी पगड़ी को सुंदरता को बिगाड़ रही थी. इसलिए पगड़ी व्यवसायियों ने इसका तोड़ निकालते हुए अब इसे नए फैशन में बदल दिया है. यह बदलाव किया जोधपुर के एक युवा व्यापारी ने. सूर्यनगरी के बीजेएस में स्थित साफा आउटलेट के किशन सिंह ने जोधपुरी पगड़ी के साथ मास्क को भी एड कर उसे एक अलग रूप दे दिया है.

युवा से वृद्ध तक सभी पसंद कर रहे हैं



अब इस नए अंदाज को युवा से वृद्ध तक सभी पसंद कर रहे हैं. पगड़ी के साथ उसके जैसे मास्क का यह टशन इतनी तेजी से फैला कि अब सोशल मीडिया में यह स्टाइल छाया हुआ है. जोधपुर में पगड़ी खरीदने वाले भी इस नए रूप को लेकर उत्साहित नजर आ रहे हैं. वो कहते हैं कि पगड़ी का महत्व प्राचीन काल से चला आ रहा है. कोरोना के कारण मास्क की मजबूरी के अब पगड़ी की सुंदरता को नहीं बिगाड़ पाएगी. मास्क का यह नया स्टाइल पगड़ी के साथ अखरता नहीं है.



दो तरह की होती है जोधपुरी पगड़ी
जोधपुरी पगड़ी की कई खासियतें हैं. यह पगड़ी दो तरह की होती है. एक गोल पगड़ी. यह सिर के चारों और गोलाकार शेप में बांधी जाती है. दूसरी पगड़ी के पीछे लटकन (सुरंगा) होती है. दोनों पगड़ियों को लोग आयोजनों में अपनी-अपनी पंसद के अनुसार काम में लेते हैं. बहरहाल जोधपुरी पगड़ी का मास्क के साथ नया रूप सभी को पसंद आ रहा है. अब आने वाले दिनों में शादी और अन्य समारोह में मास्क विद पगड़ी का नया रूप देखने मिलेगा.

Rajasthan: सरकार की यह योजना आपको कराएगी छप्पर फाड़ कमाई, 90% तक मिलेगा लोन

छा गया निर्मल का निशाना ! मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर साधती है उल्टे निशाने
First published: June 4, 2020, 1:38 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading