Jodhpur News: मूंग-मूंगफली खरीद में करोड़ों का घोटाला, 16 अधिकारियों पर गिरी गाज, जानिये पूरी कहानी

खरीद कमेटी में शामिल जोधपुर जिले की क्रय विक्रय सहकारी समितियों के सभी प्रबंधकों के नाम अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए मांगे गये हैं.

खरीद कमेटी में शामिल जोधपुर जिले की क्रय विक्रय सहकारी समितियों के सभी प्रबंधकों के नाम अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए मांगे गये हैं.

Scam worth crores in buying moong and peanuts: जोधपुर संभाग में गत वर्ष मूंग और मूंगफली की समर्थन मूल्य पर की गई खरीद में करोड़ों रुपये का घोटाला सामने आने के बाद 16 अधिकारियों को चार्जशीट थमा दी गई है.

  • Share this:
जोधपुर. सनसिटी जोधपुर और इससे सटे पाली जिले में मूंग-मूंगफली (Moong and peanuts) की समर्थन मूल्य पर की गई खरीद में कई जगह करोड़ों के घोटाले (Scam) सामने आने के बाद कई अधिकारियों पर गाज गिरी है. सहकारिता विभाग ने इस मामले में अतिरिक्त रजिस्ट्रार सहित सभी आरोपियों को चार्जशीट थमा दी है.

जोधपुर में 2019-20 में समर्थन मूल्य पर मूंग और मूंगफली खरीद में कई जगह घोटाले की बात सामने आई थी. उसके बाद सहकारिता विभाग ने जोधपुर और पाली के अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई करने का निर्णय लिया. इसके तहत जोधपुर जोन के तत्कालीन अतिरिक रजिस्ट्रार सहित 7 अधिकारियों को चार्जशीट थमाई जा चुकी है. वहीं, राजफैड के तत्कालीन क्षेत्रीय अधिकारी सहित तीन को आरोप पत्र भेजे गए हैं. इनकी चार्जशीट प्रक्रियाधीन है. खरीद कमेटी में शामिल जोधपुर जिले की क्रय विक्रय सहकारी समितियों के सभी प्रबंधकों के नाम अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए मांगे गए हैं.

इन पर हुई कार्रवाई

1. तत्कालीन अतिरिक्त रजिस्ट्रार धनसिंह देवल को पर्यवेक्षकणीय लापरवाही.
2. जोधपुर क्रय विक्रय सहकारी समिति में वर्ष 2020 में मूंग खरीद में करीब 1.50 करोड़ रुपए कम मिलने पर तत्कालीन प्रबंधक प्रेमसिंह चौधरी को 16 सीसी की चार्जशीट थमाई गई है.

3. फलौदी क्रय विक्रय सहकारी समिति में वर्ष 2018-19 में मूंगफली खरीद में 2.75 करोड़ की मूंगफली कम मिलने पर तत्कालीन प्रबंधक एवं वर्तमान में राजफैड जोधपुर के क्षेत्रीय अधिकारी मुरली मनोहर व्यास को 16 सीसी चार्जशीट दी गई.

4. जैतारण क्रय विक्रय सहकारी समिति द्वारा वर्ष 2020 में मूंग खरीद में एक करोड़ रुपए की मूंग कम मिलने पर तत्कालीन प्रबंधक पाबूराम चौधरी को चार्जशीट दी गईं.



5. पाली के तत्कालीन उप रजिस्ट्रार एवं वर्तमान में टोंक के उप रजिस्ट्रार शुभम जैन को खरीद में फर्जी तरीके से कार के इस्तेमाल और झूठी लॉग बुक भरकर 1.22 लाख का भुगतान उठाने का आरोप है.

6. मई 2020 में एसीबी द्वारा ट्रेप होने पर सिरोही के तत्कालीन उप रजिस्ट्रार राजेन्द्र प्रशाद दायमा को 16 सीसी की चार्जशीट दी गईं है. दायमा अभी निलंबित हैं.

7. केंद्रीय सहकारी बैंक( सीसीबी ) पाली में हाऊसिंग ऋण घोटाले और सोलर प्लेट लगाने में गड़बड़ी के चलते तत्कालीन महाप्रबन्धक योगेश पाठक को 16 सीसी चार्जशीट दी गई. पाठक पिछले महीने ही सेवानिवृत्त हो चुके हैं.

चार्जशीट देने के आदेश

जोधपुर सहकारी समिति के अतिरिक्त रजिस्ट्रार भोमाराम ने बताया कि सरकार ने समर्थन मूल्य खरीद में गड़बड़ी पर चार्जशीट देने के आदेश दिए थे. लिहाजा कुछ अधिकारियों को चार्जशीट भेज दी गईं है. कुछ अधिकारियों की प्रक्रियाधीन है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज