Home /News /rajasthan /

Rajasthan: समृद्ध 'इतिहास' और 'अपणायत' का दूसरा नाम है 'सनसिटी' जोधपुर, पधारो म्हारे देश

Rajasthan: समृद्ध 'इतिहास' और 'अपणायत' का दूसरा नाम है 'सनसिटी' जोधपुर, पधारो म्हारे देश

जोधपुर के मेहरानगढ़ की वास्तुकला हर किसी को मोहित कर देती है.

जोधपुर के मेहरानगढ़ की वास्तुकला हर किसी को मोहित कर देती है.

राजस्थान के पश्चिमी भूभाग में स्थित जोधपुर (Jodhpur) का इतिहास और यहां की संस्कृति (History and culture) किसी से छिपी हुई नहीं है. राजस्थान में ट्यूरिस्ट प्वाइंट (Tourist point) का बेहद आर्कषक स्पॉट सनसिटी (Suncity) कई मायनों में अहम है.

अधिक पढ़ें ...
जोधपुर. पश्चिमी राजस्थान (Rajasthan) में स्थित जोधपुर (जोधाणा) का इतिहास (History) जितना साहस और शौर्यभरा है उतनी ही शानदार है यहां की भाषा और अपणायत. देश-विदेश में 'सनसिटी' (Suncity) के नाम से मशहूर जोधपुर (Jodhpur) के 'साफे' और 'सूट' के पीएम नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) से लेकर बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) तक मुरीद हैं.

मरुधरा के बेजोड़ पर्यटक स्थल के रूप में स्थापित जोधपुर को 'ब्लू सिटी' के रूप में भी अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त है. यहां का 'छितर स्टोन' और 'मिर्ची बड़ा' हर किसी को अपना मरीद बना लेता है. यहां की भाषा में 'ह' शब्द का प्रयोग इतनी अपणायत भर देता है कि सामने वाला उसका दीवाना हो जाता है. यहां के 'मेहरानगढ़' की प्राचीरें और 'उम्मेद भवन पैलेस' की वास्तुकला देखकर देसी-विदेशी पर्यटक उन्हें एकटक निहारते ही रह जाते हैं.

Rajasthan: रेतीले धोरों में वैभव, विरासत, कला और संस्कृति का अनूठा संगम है 'गोल्डन सिटी' जैसलमेर

राव जोधा ने की थी जोधपुर की स्थापना
राजस्थान की न्यायिक नगरी के रूप में पहचान रखने वाले आधुनिक जोधपुर की स्थापना 12 मई 1459 में मंडोर के राव जोधा ने की थी. प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा शहर जोधपुर स्थापत्य कला, पर्यटन और ऐतिहासिक दृष्टि से देशभर के सबसे महत्वपूर्ण शहरों में शुमार है. जोधपुर को रजवाड़ों की राजधानी भी कहा जाता है. थार के रेगिस्तान के बीच मनोहारी नक्काशीदार महलों और पर्यटन स्थलों के कारण जोधपुर की चमक पूरी दुनिया में फैली हुई है.

शहर के परकोटे में है हर घर और इमारत का है ब्लू कलर
जोधपुर शहर के परकोटे के भीतर स्थित सभी घरों और अन्य इमारतों में चूने में नील मिलाकर पुताई करने का रिवाज रहा है. इसके चलते पूरा शहर नीले रंग में रंगा नजर आता है. इसीलिये जोधपुर को दुनियाभर में ब्लू सिटी के नाम से भी जाना जाता है. ऊंचाई से देखने पर लगता है मानो आसमान धरती पर उतर आया हो. दरअसल यहां पर तेज गर्मी पड़ती है और गर्मी से बचाव तथा घर को ठंडा रखने के लिए चूने में नील मिलाकर पुताई करने की परंपरा बरसों पहले इस शहर में शुरू हुई थी. बाद में इसी पंरपरा ने इस शहर को एक नया दिया है वह है ब्लू सिटी.

Rajasthan: समृद्ध 'इतिहास' और 'अपणायत' का दूसरा नाम है 'सनसिटी' जोधपुर, एक बार जरुर आयें यहां Rajasthan- Jodhpur- Suncity- Blue City- Rich History-Apnapan- Tourist Spot- Umaid Bhawan Palace- Mehrangarh- Rajputana-Jodhpur Safa & Suites- Heritage
उम्मेद भवन पैलेस. फोटो - इंस्टाग्राम


यहां का खानपान हर किसी को दीवाना कर देता है
जोधपुर को लेकर एक कहावत प्रसिद्ध है कि "यहां के खंडे और खावण खंडे" पूरी दुनिया में जाने जाते हैं. इसका तात्पर्य है कि यहां के छितर के पत्थर (खंडे) और यहां का खानपान हर किसी पर अपनी छाप छोड़े बिना नहीं रहते. यहां की मिठाइयां और नमकीन लोगों को दीवाना कर देती है. अक्सर यह भी कहा जाता है कि "जोधपुर आया और मिर्ची बड़ा नही खाया तो क्या खाया" ? चटपटा और मीठा खान-पान यहां के लोगो का शौक है. यही कारण की यहां मिठाइयों की अनगिनत प्रसिद्ध् दुकानें और शो-रूम हैं. जोधपुर की मिठाइयों की दीवानगी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजस्थान का शायद ही कोई शहर या कस्बा ऐसा होगा जहां जोधपुर मिष्ठान भंडार नाम से मिठाई की दुकान ना हो. राजधानी जयपुर में भी इस नाम से अनगिनत मिठाई की दुकानें हैं.

Rajasthan: 'आइडियल ट्यूरिस्ट डेस्टिनेशन' वर्ल्ड हेरिटेज सिटी जयपुर, यहां महलों और किलों में जीवित है गौरवशाली अतीत

यहां की वेशभूषा की भी है अलग पहचान
जोधपुर की खास-ओ-आम से लेकर आमजन तक की वेशभूषा इतनी निराली है कि इसको देखते हुए कोई भी उसे अपनाये बिना नहीं रह सकता. जोधपुरी साफा (पाग) और बंद गले का सूट यहां हर आयोजन में चार चांद लगाता है. जोधपुरी साफे का तो विदेशों में भी करोड़ों का कारोबार होता है. वही ऑरिजनल जोधपुर सूट सिलवाने के लिये प्रदेश के अन्य इलाकों से भी लोग यहां आते हैं. महिलाओं की रंगबिरंगी ड्रेस किसी भी आकर्षित करने के लिये काफी है. पुरुष यहां कानों में बाली और लौंग पहनते हैं वहीं महिलायें सोने की आड, नथ और रखड़ी (बोरला) बाजूबंद को काफी पंसद करती हैं. आमजन चांदी के आभूषणों का उपयोग ज्यादा करते हैं. इनमें खासतौर पर महिलायें गले में चांदी की हंसली और पैरों में बड़े और मोटे कड़े पहनती हैं. यहां की मोजड़ी (जूतियां) की अपनी एक अलग खास पहचान है. मिठाई की दुकानों की तरह है राजस्थान के हर शहर में जोधपुरी शूट, साफे और मोजड़ी की विशेष दुकानें हर कहीं देखने को मिल जायेंगी.

न्यायिक राजधानी के नाम से भी प्रसिद्ध है जोधपुर
जोधपुर शहर को राजस्थान की न्यायिक राजधानी के नाम से भी जाना जाता है. यहां वर्ष 1950 में राजस्थान हाई कोर्ट की स्थापना हुई थी. जिस भवन में राजस्थान हाईकोर्ट की स्थापना की गई थी वह वर्ष 1936-37 में बना था. बाद में इस पर राजस्थान हाई कोर्ट अंकित कर दिया गया था. इसके अलावा यहां के तत्कालीन महाराजा उम्मेद सिंह ने 52 कचहरियों का निर्माण कराया था. राजस्थान हाई कोर्ट की स्थापना के बाद हालांकि इसकी एक सर्किट बेंच राजधानी जयपुर में स्थापित की गई थी, लेकिन मुख्य पीठ आज भी जोधपुर शहर में है. गत वर्ष ही यहां हाई कोर्ट का नया भवन बनाया गया है. यह भवन भी पारंपरिक और आधुनिक वास्तुकला का उत्कृष्ट नमूना है. यह पूरे भारत में सबसे न्याय का सबसे आधुनिक भवन है.

Rajasthan: समृद्ध 'इतिहास' और 'अपणायत' का दूसरा नाम है 'सनसिटी' जोधपुर, एक बार जरुर आयें यहां Rajasthan- Jodhpur- Suncity- Blue City- Rich History-Apnapan- Tourist Spot- Umaid Bhawan Palace- Mehrangarh- Rajputana-Jodhpur Safa & Suites- Heritage
जोधपुर शहर. फोटो - इंस्टाग्राम


पर्यटन स्थलों की है भरमार
पर्यटन दृष्टि से देखा जाए तो जोधपुर शहर देशी विदेशी सैलानियों को बहुत भाता है. यहां छितर के पत्थर से बना उम्मेद भवन पैलेस, जसवंत थड़ा तथा मेहरानगढ़ दुर्ग लोगों को अपनी और आकर्षित करते हैं. सैलानी आज तक इनकी वास्तुकला के रहस्य को नहीं समझ पाये हैं. ट्यूरिस्ट गाइडों और किताबों में दी गई संपूर्ण जानकारी के बाद भी वे यहां वास्तुकला को समझ नहीं पाते कि ऐसा भी हो सकता है क्या ? जोधपुर की स्थापना के बाद यहां के राजपरिवार की रानियों का धर्म के प्रति विशेष लगाव रहा था. लिहाजा उन्होंने शहर में कई मंदिरों का निर्माण करवाया. इनमें कुंज बिहारी मंदिर, राजगोपाल मंदिर, रणछोड़ मंदिर और नैनी बाई का मंदिर प्रसिद्ध है. यहां के लोग धार्मिक दृष्टि से बहुत संवेदनशील हैं.

सेना और वायुसेना का बड़ा स्टेशन
देश की पश्चिमी सरहद पर स्थित जोधपुर सेना, वायुसेना और बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स का बड़ा स्टेशन है. यहां खासतौर पर एयरफोर्स की बड़ा लवाजमा है. पड़ोसी देश पाकिस्तान से यु्द्ध के हालात में यही वह स्टेशन है जो सबसे अहम भूमिका निभाता है.

Tags: Best tourist spot, Jodhpur News, Rajasthan News Update, Tourist places in rajasthan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर