राजस्थान हाई कोर्ट ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2015 पर लगाई अंतरिम रोक

राजस्थान उच्च न्यायालय में जस्टिस दिनेश मेहता की पीठ ने आज तृतीय श्रेणी अध्यापक भर्ती प्रक्रिया पर एक बड़ा फैसला दिया. कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद पूरी भर्ती प्रक्रिया पर स्थगन का अंतरिम आदेश जारी कर दिया.

News18Hindi
Updated: July 6, 2017, 7:28 PM IST
राजस्थान हाई कोर्ट ने तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2015 पर लगाई अंतरिम रोक
कोर्ट के फैसले के बाद मीडिया से बात करते सरकारी वकील
News18Hindi
Updated: July 6, 2017, 7:28 PM IST
राजस्थान उच्च न्यायालय में जस्टिस दिनेश मेहता की पीठ ने आज तृतीय श्रेणी अध्यापक भर्ती प्रक्रिया पर एक बड़ा फैसला दिया. कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद पूरी भर्ती प्रक्रिया पर स्थगन का अंतरिम आदेश जारी कर दिया.

जानकारी के अनुसार प्रार्थी गोपालसिंह की याचिका तृतीय श्रेणी अध्यापक भर्ती प्रक्रिया रिट 2015 को चुनौती दी गई थी. याचिकाकर्ता की ओर से कोर्ट में यह तथ्य रखा गया कि जो अंतिम उत्तर कुंजी जारी की गई है उसमे बहुत सी अनियमित्ताएं हैं.

कोर्ट के फैसले के अनुसार आगामी आदेश तक किसी भी प्रकार के पदस्थापन पर रोक लगा दी गई है. अब इस मामले में आगामी 17 जुलाई को फिर सुनवाई होगी. याचिकाकर्ता की ओर से मृगराजसिंह और महावीरसिंह ने पैरवी की है. इस आदेश के बाद सरकार रीट भर्ती 2015 के तहत किसी भी प्रकार की नियुक्ति अगले आदेश तक नहीं दे सकती.  बता दें कि इस मामले में शिक्षा जगत की कई बड़ी हस्तियां अपनी राय रख चुके हैं.

इससे पहले भी  ऐसे ही एक मामले की अपील में कहा गया था कि आरटीई एक्ट के अनुसार शिक्षक नियुक्ति के लिए योग्यता तय करना एनसीटीई का काम है. आरटीई एक्ट के तहत प्राईमरी और मिडिल तक विषय विशेष के शिक्षकों की नियुक्ति का प्रावधान नहीं है बल्कि प्रथम और द्वितीय भाषा पढ़ाने का प्रावधान है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 6, 2017, 7:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...