अपना शहर चुनें

States

Jodhpur News: जूनियर छात्रों को रैगिंग से बचाने के लिए प्रिंसिपल ने दिया अनोखा आदेश

प्रिंसिपल के आदेश के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले सभी सीनियर स्टूडेंट्स 2 फरवरी से लेकर 8 फरवरी तक छुट्टी पर रहेंगे. (सांकेतिक फोटो)
प्रिंसिपल के आदेश के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले सभी सीनियर स्टूडेंट्स 2 फरवरी से लेकर 8 फरवरी तक छुट्टी पर रहेंगे. (सांकेतिक फोटो)

जोधपुर के डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज (Dr. SN Medical College) में अगले महीने यानी फरवरी से नए सत्र की शुरुआत हो रही है. कॉलेज में रैगिंग न हो, इसके मद्देनजर प्रिंसिपल ने सीनियर छात्रों को 7 दिन की छुट्टी दे दी है.

  • Share this:
जोधपुर. शिक्षण संस्थानों (Educational Institutions) में नए सत्र की शुरुआत के साथ ही छात्रों के साथ रैगिंग (Ragging) की खबरें आने लगती हैं. कॉलेज प्रशासन के तमाम निर्देशों और कार्रवाई के बाद भी हर साल रैगिंग लेने या इसकी वजह से जूनियर छात्रों को प्रताड़ित करने के समाचार आते हैं. संस्थानों में प्रवेश लेने वाले नए छात्रों को रैगिंग से बचाने के लिए कई बार पुलिस-प्रशासन भी इन मामलों में हस्तक्षेप करता है, लेकिन घटनाएं थम नहीं पातीं. राजस्थान के जोधपुर में स्थित डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज (Dr. SN Medical College) में भी रैगिंग की खबरें आती हैं. इस साल ऐसा कुछ न हो, इसके लिए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने अनोखा आदेश जारी कर दिया है.

जोधपुर के डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज में अगले महीने यानी फरवरी से नए सत्र की शुरुआत हो रही है. इसके साथ ही कॉलेज में नए छात्रों की आमद शुरू हो जाएगी. इन जूनियर छात्रों के साथ कॉलेज में रैगिंग न हो, इसके लिए प्रिंसिपल ने नायाब तरीका ढूंढ निकाला है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने सीनियर बैच के छात्रों को 7 दिनों की छुट्टी दे दी है. नए सत्र में जूनियर छात्रों की रैगिंग न हो सके, इसके लिए मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. गुलझारी लाल मीणा ने यह आदेश जारी किया है.

हॉस्टल में भी नहीं रह सकेंगे सीनियर


प्रिंसिपल के आदेश के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले सभी सीनियर स्टूडेंट्स 2 फरवरी से लेकर 8 फरवरी तक छुट्टी पर रहेंगे. आदेश में कहा गया है कि छुट्टी की अवधि के दौरान सीनियर स्टूडेंट्स की न तो कोई क्लास होगी और न ही किसी वॉर्ड में उनकी तैनाती की जाएगी. यही नहीं, प्रिंसिपल ने अपने आदेश में सीनियर छात्रों को हॉस्टल में भी रहने से मना कर दिया है. छुट्टी के दौरान कोई भी सीनियर स्टूडेंट अपने हॉस्टल में नहीं रह सकेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज