ट्रांसफर हुआ है, रिलीव नहीं हुई... मंथली पहुंचा देना, ये कहते ही आबकारी इंस्पेक्टर हुई गिरफ्तार

मेरा ट्रांसफर भले ही हो गया है, लेकिन अभी मैं रिलीव नहीं हुई हूं, चुपचाप मंथली दे देना..यह कहकर शराब ठेकेदारों से रिश्वत की मासिक बंधी रकम वसूलने वाली आबकारी विभाग की महिला इंस्पेक्टर मूमल बूब को एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया.

News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 2:35 PM IST
ट्रांसफर हुआ है, रिलीव नहीं हुई... मंथली पहुंचा देना, ये कहते ही आबकारी इंस्पेक्टर हुई गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 2:35 PM IST
शराब ठेकेदारों से मंथली बंधी वसूल कर रही आबकारी विभाग की इंस्पेक्टर मूमल बूब को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया है. मूमल तबादले के बाद भी रिश्वत की मासिक बंधी रकम वसूल कर रही थी. शराब ठेकेदारों से मंथली वसूली के लिए मूमल यह कह कर धमकी दे रही थी कि ‘मेरा ट्रांसफर भले ही हो गया है, लेकिन अभी मैं रिलीव नहीं हुई हूं, वापस भी आ सकती हूं, चुपचाप मंथली दे देना...’ एसीबी ने उसके साथी सिपाही जोगेंद्र सिंह को भी गिरफ्तार कर लिया है. दोनों सोमवार शाम को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किए गए.

तीन साल पहले ही आरएएस एलाइड सर्विस में हुआ था चयन

मूमल का करीब तीन साल पहले ही आरएएस एलाइड सर्विस में चयन हुआ था. करीब दो साल से मूमल की पोस्टिंग ओसियां में है और इसके पास जोधपुर शहर मध्य का अतिरिक्त चार्ज भी था. कुछ दिन पहले ही बूब का तबादला बारां जिले के अंता हुआ था. मूमल के पति बारां के अंता पुलिस सर्किल के उप अधीक्षक हैं. जोधपुर से रिलीव होने से पहले मूमल शराब ठेकेदारों से वसूली में जुटी थी. एएसपी (एसीबी) नरेंद्र चौधरी ने बताया कि ओसियां के बरसालू खुर्द के मेहराराम जाट की ओर से शिकायत मिली थी. जाट ने शिकायत में बताया था कि उसके ओसियां सर्किल में शराब के तीन ठेके हैं. इन पर कार्रवाई नहीं करने की एवज में मंथली बंधी के रूप में आबकारी विभाग की इंस्पेक्टर मूमल बूब रिश्वत की मांग कर रही है.
इसका सत्यापन कराने के दौरान बूब के स्तर से खुलेआम फोन पर ही शराब ठेकेदारों को मंथली बंधी के लिए धमकाने की बातें सामने आईं. परिवादी से भी बूब ने जोधपुर स्थित आबकारी भवन में ही 47 हजार रुपए की रिश्वत मांगे जाने की पुष्टि हुई. इसी आधार पर एसीबी की टीम ने बूब को ट्रेप करने की योजना बनाई और उसे अंजाम दिया.

ठेकेदार से और ज्यादा रुपए देने को कहा 

सोमवार की शाम को जाट ने इंस्पेक्टर मूमल से संपर्क किया, तो उसने रिश्वत की राशि ओसियां आबकारी थाने में सिपाही जोगेंद्रसिंह शेखावत को देने की बात कही. एसीबी की टीम ने वहां शेखावत को 30 हजार रुपए लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया. इसके बाद टीम ने शेखावत की बात बूब से कराई, तब भी बूब ने ठेकेदार से और ज्यादा रुपए देने की बात कही. पुष्टि होने पर एसीबी की टीम ने जोधपुर से मथानिया में अपने पिता के घर पहुंची इंस्पेक्टर मूमल को भी गिरफ्तार कर लिया. बाद में उसे ओसियां आबकारी ऑफिस ले जाकर कार्रवाई पूरी की गई.

ये भी पढ़ें- चार साल की बच्‍ची से रेप, आंगन से उठा ले गया था आरोपी
Loading...

अलवर में फिर अपहरण कर नाबालिग से किया गैंगरेप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जोधपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 2:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...