Gujjar Reservation Movement : प्रदर्शनकारियों का तीसरे दिन भी दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर कब्जा जारी

प्रदर्शनकारियों के साथ दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर बैठे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला
प्रदर्शनकारियों के साथ दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर बैठे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला

Gujjar Reservation Movement: आंदोलनकारी अपनी मांगों को लेकर दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक (Delhi-Mumbai Railway Track) पर मंगलवार को तीसरे दिन भी कब्जा करके वहां डटे हुये हैं. वहीं आंदोलन की आग अब अन्य जिलों में भी भड़कने लगी है.

  • Share this:
करौली/ भरतपुर. गुर्जर आरक्षण आंदोलन (Gujjar Reservation Movement) की आग अब धीरे-धीरे प्रदेश के अन्य इलाकों में भी फैलने लगी है. विभिन्न शहरों में कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला गुट (Colonel Kirori Singh Bainsla Camp) के जुड़े गुर्जर समाज के लोगों ने भी प्रदर्शन करने शुरू कर दिये हैं. आरक्षण से जुड़ी मांगों को लेकर प्रदर्शकारियों का दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक (Delhi-Mumbai Railway Track) पर भरतपुर जिले के बयाना स्थित पीलूपुरा में लगातार तीसरे दिन मंगलवार को भी धरना प्रदर्शन जारी है. हिण्डौन-बयाना-भरतपुर रोड मार्ग को भी जाम कर दिये जाने के कारण वहां यातायात पूरी तरह बंद है.

वहीं मुंबई-दिल्ली रेल मार्ग पर प्रदर्शनकारियों द्वारा पीलूपुरा में पटरियां उखाड़ने और उनके वहां डटे होने के कारण रेल यातायात भी पूरी तरह ठप्प है. गुर्जर प्रदर्शनकारी पटरी पर घास का बिस्तर बनाकर वहां डटे हुए हैं. सोमवार को देर शाम को गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला वहां गये थे. लेकिन उनकी तबीयत नासाज होने के कारण वे वहां से वापस हिण्डौन स्थित अपने आवास पर लौट आए. बैंसला के पुत्र विजय बैंसला प्रदर्शनकारियों के साथ पटरी पर टिके हुए हैं.

Rajasthan: सचिन पायलट को मिला 'खोया सम्‍मान', विधानसभा में फिर से आगे की सीट पर बैठे

आसपास के गांवों से खाने-पीने व चाय की व्यवस्था की जा रही है


प्रदर्शनकारियों के लिए आसपास के गांवों से खाने-पीने व चाय की व्यवस्था की जा रही है. प्रदर्शनकारी पटरी व आसपास टेंट लगा कर धरना स्थल पर टिके हुए हैं. अब वहां चाय व खाने के लिए भी स्टॉल सजाई जा चुकी है. वहीं दूसरी तरफ बयाना के नेहरा क्षेत्र के गुर्जर समाज के 80 गांवों की सोमवार को पंचायत आयोजित की गई थी. इसमें सरकार द्वारा 14 मांगों पर सहमति बनने को सही ठहराते हुए आंदोलन खत्म करने का निर्णय लिया गया. इसको लेकर नेहरा क्षेत्र के गुर्जर समाज का 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आज कर्नल बैंसला पास भेजा जायेगा. यह प्रतिनिधिमंडल पटरी और सड़क पर लगे जाम को हटाने के लिए लिये बैंसला गुट से गुजारिश करेगा.

गुर्जर आरक्षण आंदोलन: उत्तर पश्चिम रेलवे ने 10 और ट्रेनों को डायवर्ट किया, अब तक 17 का मार्ग बदला, देखें सूची

इंटरनेट सेवा बंद रखने की अवधि बढ़ाई
पुलिस प्रशासन लगातार पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है. आंदोलन स्थल के आसपास सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में आरएसी, आरपीएफ, बार्डर होमगार्ड और पुलिस के जवान तैनात हैं. करौली व भरतपुर जिले में 29 अक्टूबर से बंद की गई इंटरनेट सेवा की अवधि को 3 नवंबर की रात 12 बजे रात्रि तक बढ़ा दी गई है. हालांकि ब्रॉडबैंड और लीज चालू सेवा चालू है. जयपुर, दौसा, सवाई माधोपुर और धौलपुर समेत गुर्जर बाहुल्य क्षेत्रों में भी इंटरनेट सेवा बंद है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज