Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    गुर्जर आंदोलन: सूरौठ थाने के बंद कमरे में हुई वार्ता रही बेनतीजा, मंत्री बोले- जो संभव था सरकार ने कर दिया

    विभिन्न मांगों को लेकर राजस्थान में गुर्जर आंदोलन जारी है. (फाइल फोटो)
    विभिन्न मांगों को लेकर राजस्थान में गुर्जर आंदोलन जारी है. (फाइल फोटो)

    मंत्री अशोक चांदना (Ashok Chandna) ने कहा कि वह आंदोलन के शांतिपूर्ण समाधान के लिए आए थे, लेकिन वार्ता बेनतीजा रही है.

    • Share this:
    करौली. गुर्जर आरक्षण आंदोलन (Gujjar Agitation) मामले में वार्ता का गतिरोध आखिरकार खत्म हो गया. जिला प्रभारी मंत्री अशोक चांदना (Ashok Chandna) आंदोलन के मुखिया कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला और उनके पुत्र विजय बैंसला सहित पंच पटेलों के साथ सूरौठ थाने में वार्ता की. हालांकि ये वार्ता बेनतीजा रही. इस दौरान कलेक्टर सिद्धार्थ सिहाग, एसपी मृदुल कच्छावा, सवाई माधोपुर कलेक्टर नंनुमल भी मौजूद रहे. सूरौठ थाने के बंद कमरे में करीब ढाई घंटे तक वार्ता चली. हालांकि वार्ता कोई ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकी.

    सरकार ने मानी बात
    वार्ता बेनतीजा रहने के बाद मंत्री अशोक चांदना जयपुर के लिए रवाना हो गए. वहीं पीलूपुरा में आंदोलन यथावत जारी है. मंत्री अशोक चांदना ने कहा कि वह आंदोलन के शांतिपूर्ण समाधान के लिए आए थे, लेकिन वार्ता बेनतीजा रही है. मंत्री ने कहा कि समाज की 16 मांगे हैं, सरकार ने 14 मांगें मान ली हैं. कानून के दायरे में जो मिल सकता है, वह सब कुछ सरकार ने दे दिया है. इसके अलावा कुछ मुद्दे भ्रांति फैलाने वाले हैं.

    मंत्री ने साफ तौर पर कहा कि कुछ लोग इस मानसिकता के साथ आए थे कि वार्ता सफल ही ना हो. कर्नल साहब ने जो मांगें रखी थी वह पूरी हो चुकी हैं. उनको आंदोलन समाप्त कर देना चाहिए. बैकलॉग भर्ती के मामले में मंत्री ने खुलासा किया कि हाईकोर्ट ने मना कर दिया है और सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी लंबित है, कोर्ट से निर्णय आने के बाद ही कुछ संभव है. उन्होंने कहा कि आंदोलन से लोगों को परेशानी हो रही है. अब अगली कोई भी वार्ता हिंडौन में नहीं, जयपुर में ही होगी.
    विजय बैंसला ने कही ये बात


    उधर गुर्जर आंदोलन के मुखिया कर्नल किरोड़ी बैसला के पुत्र विजय बैंसला ने कहा कि वार्ता सकारात्मक नहीं रहीं. इसलिए आंदोलन यथावत रहेगा. विजय बैंसला ने कहा कि पिछली भर्ती और बैकलॉग पर समाधान नहीं हुआ है. अन्य मांगों में भी 1252 का आर्डर बनने, चेक बनने की बात कही गई है, लेकिन एरियर नहीं दिया जा रहा. उन्होंने मुख्यमंत्री से एरियर देने की अपील की. विजय बैंसला ने कहा कि मुख्यमंत्री चाहे तो उनका प्रतिनिधि मंडल जयपुर भी वार्ता के लिए जा सकता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज