Karauli Case: 10 लाख के मुआवजे पर बनी बात, धरना खत्म, थानेदार और पटवारी पर गिरेगी गाज

मुआवजे पर सहमति बन गई है. (File)
मुआवजे पर सहमति बन गई है. (File)

Karauli Priest Murder Case: करौली पुजारी हत्याकांड मामले में गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) ने थानेदार और पटवारी को हटाने की घोषणा कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2020, 6:04 PM IST
  • Share this:
 करौली. राजस्थान के करौली जिले (Karauli) में पुजारी हत्याकांड (Priest Murder) मामले में एक बड़ा फैसला लिया गया है. सरकार और प्रशासन से वार्ता के बाद मामले के पटाक्षेप पर प्रतिनिधि मंडल से सहमति हुई है. पीड़ित परिवार को 10 लाख की आर्थिक सहायता और अनुबंध पर नौकरी देने का फैसला किया गया है. इंदिरा आवास सहित सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने पर भी सहमति बनी है. इस मामले में डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने कहा कि कुछ हद तक अब मिला न्याय. इसके साथ ही सरकार ने थानेदार और पटवारी को हटाने की घोषणा कर दी है. तो वहीं डॉ किरोड़ी लाल मीणा ने धरना खत्म होना का भी ऐलान कर दिया है.

सहमति बनने के बाद शनिवार को मृतक बाबूलाल वैष्णव की अंतिम यात्रा निलाकी गई. अर्थी को क्षेत्रीय सांसद डॉ. मनोज राजोरिया ने कंधा दिया. पुजारी की अंतिम यात्रा में माहौल गमगीन हो गया था. इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष बृज लाल डिकोलिया और कई ग्रामीण भी शामिल हुए.

ग्रामीणों ने रखी थी ये मांग



करौली जिले के सपोटरा में एक पुजारी को जिंदा जलाकर मार डालने का मामले में  ग्रामीणों ने पीड़ित परिवार को 50 लाख की आर्थिक सहायता, सरकारी नौकरी, सुरक्षा एवं आरोपियों की गिरफ्तार करने की मांग की थी. साथ ही गांव वाले पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिलने तक अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े हुए थे. राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा भी बूकना गांव पहुंच चुक थे. सांसद ने पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता और न्याय दिलाने की मांग रखी थी.
ये भी पढ़ें: Ram Vilas Paswan Funeral: पंचतत्व में विलीन हुए रामविलास पासवान, नम आंखों से बेटे चिराग ने दी अंतिम विदाई

मौत पर सियात ने हो: महेश जोशी 

पुजारी को जिंदा जलाकर मारने के मामले में सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने एक बड़ा बयान दिया है. महेश जोशी ने कहा कि किसी की मौत पर सियासत नहीं होनी चाहिए. डॉ किरोड़ी लाल मीणा की मांग अनुचित है. महेश जोशी ने कहा, डॉ. किरोड़ी बताएं कि क्या उन्होंने किसी को 50 लाख का मुआवजा दिलवाया है क्या?  पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा की मांग को सरकार मानेगी. पीड़ित परिवार को सुरक्षा भी मिलेगा. महेश जोशी ने कहा, किसी की मौत पर राजनीति बीजेपी नहीं करे. उन्होंने कहा कि  बीजेपी वाले " गिद्ध राजनीति" करते हैं. ये इसका इंताजर करते हैं कि उन्हें कोई इस तरह का मुद्दा मिल जाए. सपोटरा की घटना सभ्य समाज के लिए एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. इस पर गिद्ध राजनीति करने वालों को बाज आना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज