• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Karauli: रानौली की मंडली साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल, इब्राहिम खान गाते हैं कन्हैया के गीत

Karauli: रानौली की मंडली साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल, इब्राहिम खान गाते हैं कन्हैया के गीत

रानौली की मण्डली साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल पेश कर रही हैं..

रानौली की मण्डली साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल पेश कर रही हैं..

Kanhaiya Gayan Mandali : भारतीय पुरातन गंगा-जमुनी संस्कृति की सौंध की खुशबू करौली के गांव रानौली से आ रही है. माखनचोर कन्हैया के गीतों और पौराणिक भजनों पर जब इब्राहिम खान की स्वरलहरियां गूंजती हैं तो हिंदू भक्तगण मुग्ध होकर बरबस ही नाचने लगते हैं. साम्प्रदायिक सौहार्द्र की यह मिसाल इब्राहिम की चार पीढ़ियों से चली आ रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

करौली. आज के दौर में जहां चारों ओर साम्प्रदायिक वैमनस्यता के साथ धार्मिक कट्टरता (religious fanaticism) का माहौल बढ़ता जा रहा है. ऐसे में जिले के श्रीमहावीरजी कस्बे के समीप रानौली गांव में साम्प्रदायिक सौहार्द्र (Communal harmony) की मिसाल देखने को मिल रही है. मीणा बाहुल्य रानौली गांव की कन्हैया गीत (Kanhaiya Geet) व पद दंगल गायन मण्डली में ज्यादातर सदस्य मीणा जाति के हैं, लेकिन मण्डली के मेडिया (मुखिया या मुख्य गायक) इब्राहिम खान (Ibraheem Khan) तथा रामहरि मीणा हैं.

इब्राहिम के परिवार के लगभग 10 सदस्य इस मण्डली में धार्मिक कथाओं पर आधारित गीत पेश करते हैं. यह मण्डली करौली, सवाईमाधोपुर, दौसा सहित अन्य जिलों में लोकगीत आयोजनों में शामिल होने जाती है. इब्राहिम कहते हैं कि लोगों का जो स्नेह मिलता है, उससे वह बेहद खुश हैं और इस प्यार को धन में नहीं आंका जा सकता.

जोठ में चार पीढ़ी से शामिल है मुस्लिम सदस्य

रानौली की मण्डली या जिसे जोठ कहते हैं, साम्प्रदायिक सद्भाव की मिसाल पेश कर रही है. इस जोठ के मेडिया इब्राहिम हैं तो गीत गाने व ढोल-नगाड़े बजाने में परिवार के 10 सदस्य लगे हैं. ये सभी हिन्दू देवी-देवताओं की धार्मिक कथाओं पर आधारित गीतों का गायन करते हैं और मुग्ध होकर नाचते भी हैं. विशेष बात ये है कि वो यह सब धन के लालच में नहीं करते, बल्कि परिवार की परम्परा और गांव की शान को बरकरार रखने के लिए करते हैं. इब्राहिम को श्रोताओं से अपार प्यार मिलता है. गीतों पर दर्शक खूब इनाम देते हैं.

Rajasthan Politics : जोधपुर जिले की बागडोर जाटों के हाथ, बद्रीराम जाखड़ पर भारी पड़ीं दिव्या मदेरणा

इब्राहिम के दादा भी थे बेहतरीन गायक

पहाड़ी गांव के कृषि पर्यवेक्षक पिन्टू मीणा ने बताया कि इब्राहिम के परिवार की चार पीढ़ी लोक गीतों के गायन से जुड़ी हुई हैं. इब्राहिम के पिता हजारी खान करीब 20 वर्षों तक गांव की कन्हैया दंगल पार्टी का नेतृत्व कर चुके हैं. चाचा सेडू की भी ख्याल गीत गायन में काफी पहचान रही है. दादा शुबराती कन्हैया गीतों के बेहतरीन गायक रहे हैं. इब्राहिम के चार पुत्र हैं. इब्राहिम के सभी परिजनों को भजन, ख्याल और कन्हैया गीतों का बेहतरीन गायक माना जाता है.

इब्राहिम के चारों बेटे जोठ में देते हैं साथ

बड़ा पुत्र शहिदखान स्नातकोत्तर (पीजी) डिग्री प्राप्त है और रानौली की जोठ (मण्डली) के साथ कन्हैया गीत गायन करने को विभिन्न गांव-कस्बों में आता-जाता रहता है. वह घेरे के बीच भगवान की कथाओं पर आधारित गीत गाता है जिसमें अन्य सदस्य साथ देते हैं. दूसरे पुत्र बहिद खान तथा शाहरुख खान भी कन्हैया गायन करते हैं और घेरा (ढोल) बजाते हैं. मण्डली में इनके एक और भाई अल्लानूर ढोल एवं घेरा बजाते हैं.

अनूठी है रानौली की जोठ

रानौली गांव के बनेसिंह मीना बताते हैं कि वैसे तो उनका मीणा बाहुल्य गांव है, लेकिन इसमें हिन्दू—मुस्लिम धर्म की करीब 20 से अधिक जातियों के लोग भाईचारे और सद्भावपूर्ण तरीके से रहते हैं. इनमें से 11 जातियों के सैकड़ों लोग कन्हैया गीत मण्डली में गीत गायन का काम करते हैं. जोठ के सभी सदस्यों द्वारा आपसी लय-ताल, छंद को देशी गठजोड़ के साथ बेहतरीन तरीके से पेश करने के कारण क्षेत्र में कन्हैया गीत गायन को लेकर रानौली की मण्डली की विशेष पहचान है.

कन्हैया दंगल किसे कहते है

जिले की लोक संस्कृति में कन्हैया गीत-पद दंगल प्रमुख तौर से शामिल हैं. कन्हैया दंगल के आयोजन आए दिन क्षेत्र के गांवों-कस्बों में होते रहते हैं. इसमें एक मंडली के लगभग 50 से 100 सदस्य सामूहिक रूप से गोल घेरा बनाकर सुर-लय, ताल के साथ देवी-देवताओं की पौराणिक, धार्मिक कथाओं पर आधारित गीतों का गायन करते हैं. गीत गायन करने वाली पूरी मण्डली को क्षेत्रीय बोलचाल में जोठ कहते हैं. इस गोल घेरे के बीच नाचते-गाते नजर आते सदस्य और जोठ के नेतृत्व करने वाले को मेडिया (मुखिया) कहा जाता हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज