Viral Video: न्याय आपके द्वार शिविर में SDM ने फरियादी को लात-घूसों से पीटा

जनसुनवाई के दौरान फरियादी ओमप्रकाश मीणा को एसडीएम ने गिरेबां पकड़कर जमीन पर पटका और फिर लात-घूसों से जमकर मारपीट की.

Dharmendra | News18 Rajasthan
Updated: June 13, 2018, 7:26 PM IST
Dharmendra | News18 Rajasthan
Updated: June 13, 2018, 7:26 PM IST
राजस्थान के करौली जिले में मंगलवार को एक गांव में आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम 'न्याय आपके द्वार' में एक शख्स को फरियाद करना महंगा पड़ा. सड़क निर्माण की बात रखने वाले इस शख्स कमालपुरा गांव के ओमप्रकाश मीणा को एसडीएम ने गिरेबां पकड़कर जमीन पर पटका और फिर लात-घूसों से जमकर मारपीट की.

रास्ते पर अतिक्रमण की शिकायत करने आए ओमप्रकाश के साथ करौली जिले की टोडाभीम
उपखंड के उप जिला कलेक्टर जगदीश आर्य की इस बेरहमी से मारपीट को वहां मौजूद व्यक्ति ने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया. फरियादी के साथ एडीएम की यह मारपीट देखते ही देखते सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. मामले को लेकर लोगों ने कड़ी नाराजगी जताते हुए एसडीएम के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है.

जानकारी के अनुसार टोडाभीम उपखंड के कमालपुरा गांव में मंगलवार को आयोजित हुई जनसुनवाई में उप जिला कलेक्टर जगदीश आर्य पहुंचे. यहां कमालपुरा गांव निवासी प्रकाश मीणा ने रास्ते में हो रहे अतिक्रमण की एसडीएम से शिकायत की. प्रकाश ने एसडीएम को बताया कि उक्त रास्ते पर सड़क निर्माण के लिए सरपंच ने पैसा उठा लिया लेकिन सड़क निर्माण नहीं कराई गई.

प्रकाश मीणा की शिकायत पर उप जिला कलेक्टर जगदीश आर्य आगबबूला हो गए और प्रकाश की
गिरेबां पकड़ कर उसके साथ मारपीट की. उसके बाद उसे जमीन पर पटककर उसकी गर्दन पर रख
दिया और बेरहमी से मारपीट की.

आरोप है कि इस दौरान कर्मचारियों ने भी प्रकाश के साथ मारपीट की. इसके बाद एसडीएम ने प्रकाश को पुलिस के हवाले कर दिया. लोगों का कहना है कि आम जनता के सामने एसडीएम का ताव में आना और बेरहमी से मारपीट करना बेहद गलत है. उन्होंने सरकार से एसडीएम के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर