अपना शहर चुनें

States

कोटा: रिश्वत केस के आरोपी बारां के तत्कालीन कलक्टर इन्द्र सिंह को भेजा जेल, बैरक नंबर 27 में रहेंगे

एसीबी का दावा है कि उसके पास आरोपी कलक्टर के खिलाफ चालान पेश करने के लिये पुख्ता सबूत हैं.
एसीबी का दावा है कि उसके पास आरोपी कलक्टर के खिलाफ चालान पेश करने के लिये पुख्ता सबूत हैं.

रिश्वत केस (Bribery case) में पकड़े गये बारां के तत्कालीन जिला कलक्टर इन्द्र सिंह राव (IAS Indra Singh Rao) को कोर्ट ने 14 दिनों के लिये जेल (Jail) भेज दिया है. राव को जेल में 27 नंबर बैरक में रखा जायेगा.

  • Share this:
कोटा. पेट्रोल पंप को एनओसी देने के मामले में रिश्वत केस (Bribery case) में पकड़े गये बारां के पूर्व कलक्टर इंद्र सिंह राव (IAS Indra Singh Rao) को जेल भेज दिया गया है. राव की एक दिन की रिमांड अवधि समाप्त होने पर शुक्रवार को एसीबी ने उनको फिर से कोटा में न्यायाधीश के समक्ष पेश किया. वहां से न्यायाधीश ने राव को 14 दिन के लिये जेल (Jail) भेजने के आदेश दिए हैं.

पेशी के दौरान एसीबी के एसपी सीपी शर्मा ने आरोपी राव का नारको टेस्ट करवाने की भी मांग की है. शर्मा के अनुसार राव ने पूछताछ में कई मामलों में आनाकानी की है. फिलहाल पूर्व कलक्टर इन्द्र सिंह राव का अगला ठिकाना कोटा जेल का बैरक नंबर 27 होगा. कोर्ट के आदेश के बाद एसीबी की टीम उन्हें कोटा जेल छोड़ आई.

राजस्थान समेत हरियाणा और दिल्ली में बंगले तथा फ्लैट मिले हैं
इस पूरे रिश्वत प्रकरण की एसीबी की टीम गहनता से जांच कर रही है. एसीबी का दावा है कि उसके पास आरोपी कलक्टर का चालान पेश करने के लिये पुख्ता सबूत हैं. एसीबी के अधिकारियों ने बताया कि आरोपी आईएएस इन्द्र सिंह राव की संपत्तियों का भी लगातार खुलासा हो रहा है. राव की संपत्तियों की जब जांच-पड़ताल की गई तो उनके पास राजस्थान समेत हरियाणा और दिल्ली में बंगले तथा फ्लैट मिले हैं. एसीबी अभी भी लगातार उनकी संपत्तियों की जांच-पड़ताल में लगी है.
9 दिसंबर को एसीबी ने की थी कार्रवाई


उल्लेखनीय है कि 9 दिसंबर को एसीबी ने बारां के तत्कालीन कलक्टर इन्द्र सिंह राव के पीए महावीर नागर को 1 लाख 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते ट्रेप किया था. उसने परिवादी से पेट्रोल पंप के लिए एनओसी जारी करने की एवज में यह रिश्वत ली थी. ट्रैप होने के बाद उसने इस रिश्वत राशि को कलक्टर के लिए लिया जाना बताया था. उसके बाद एसीबी ने इस मामले की पूरी जांच-पड़ताल कर राव को भी गिरफ्तार कर लिया था. महावीर नागर भी फिलहाल कोटा जेल में बंद है.

आज मूंग की दाल और लौकी की सब्जी बनेगी जेल में
कोटा जेल की बैरक नंबर 27 अगले कुछ दिनों के लिये बारां के पूर्व कलक्टर का ठिकाना रहेगी. जेल मेन्यु के अनुसार अब कलक्टर साहब को वहां का खाना खाना होगा. जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आज कलक्टर साबह मूंग की दाल और लौकी की सब्जी के साथ जेल की रोटी का स्वाद चखेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज