कोटा: BJP MLA मदन दिलावर तकिया और चद्दर लेकर कलेक्टर के चैम्बर में पहुंचे, जानें क्‍या है पूरा मामला

अपने समर्थकों के साथ कलेक्टर चैम्बर में चद्दर बिछाकर बैठे बीजेपी विधायक मदन दिलावर.

अपने समर्थकों के साथ कलेक्टर चैम्बर में चद्दर बिछाकर बैठे बीजेपी विधायक मदन दिलावर.

Kota's political drama: बीजेपी के रामगंजमंडी विधायक मदन दिलावर (BJP MLA Madan Dilawar) ने एक बार फिर पॉलिटिक्ल ड्रामा किया. दिलावर अपनी मांगें मनवाने के लिये जिला कलेक्टर कार्यालय में तकिया और चद्दर लेकर पहुंच गये और वहां 2 घंटे तक धरना दिया.

  • Share this:

कोटा. अपने बयानों और कार्यशैली को लेकर हमेशा विवादों में रहने वाले बीजेपी के प्रदेश महामंत्री एवं रामगंजमंडी विधानसभा क्षेत्र से विधायक मदन दिलावर (BJP MLA Madan Dilawar) एक बार फिर चर्चा में हैं. इस बार चर्चा की वजह है उनका तकिया और चद्दर. दिलावर अपनी मांगें मनवाने के लिये बुधवार को तकिया और चद्दर (Pillow and sheet) लेकर कलेक्टर के चैम्बर में पहुंच गये और वहां धरने पर बैठ गए. दिलावर का कहना था कि इस बार जब तक जिला कलेक्टर उनकी मांगों के संबंध में लिखित आश्वासन नहीं देंगे, तब तक वह धरना समाप्त नहीं करेंगे.

दरअसल, दिलावर अपने विधानसभा क्षेत्र में डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की मांग कर रहे हैं. उनके साथ पार्षद नितिन धारीवाल और रेखा यादव सहित अन्य समर्थक भी कलेक्टर उज्जवल राठौड़ के चैम्बर में धरने पर बैठ गए. मदन दिलावर ने कहा कि जब तक लिखित आश्वासन नहीं मिलेगा तब तक वह धरने से नहीं उठेंगे. करीब दो घंटे बाद जिला कलेक्टर ने उनकी मांगों को लेकर लिखित आश्वासन दिया. उसके बाद दिलावर ने धरना समाप्त किया. इस दौरान करीब दो घंटे तक जिला कलेक्टर भी अपने कक्ष में मौजूद रहे.

लिखित आश्वासन के बाद ही धरने से उठे विधायक

कलेक्टर उज्जवल राठौड़ ने विधायक मदन दिलावर को लिखित में आश्वासन दिया कि जल्द ही रामगंज मंडी स्वास्थ्य केंद्र पर चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति कर दी जाएगी. इससे पूर्व भी मदन दिलावर ने जब मांग की थी तो स्टाफ तैनात किया गया था. कलेक्टर ने कहा कि रामगंज मंडी में ऑक्सीजन प्लांट में स्थापित किए जाने की मंजूरी आ गई है. कलेक्टर से मिले लिखित आश्वासन के बाद दिलावर ने अपना धरना समाप्त किया.
27 मई को भी धरने पर बैठे थे दिलावर

इससे पहले दिलावर ने 27 मई को कलेक्टर चेम्बर में करीब 1 घंटे धरना दिया था. उस समय चिकित्सा सचिव से वार्ता और कलेक्टर के आश्वासन पर उन्होंने धरना खत्म किया था. दिलावर ने चेतावनी दी थी कि 31 मई तक मांगें पूरी नही होने पर वे दुबारा धरने पर बैठेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज