Assembly Banner 2021

लाइट, कैमरा, एक्‍शन: अब कोचिंग सिटी कोटा को मिलेगी नई पहचान, जानें क्‍या है राज्‍य और केंद्र सरकार का प्‍लान


अब कोटा कोचिंग के साथ फिल्‍मों के लिए जाना जाएगा.

अब कोटा कोचिंग के साथ फिल्‍मों के लिए जाना जाएगा.

राजस्‍थान की कोचिंग नगरी कोटा (Coaching City Kota) आने वाले समय में फिल्मों (Film) के क्षेत्र में बेस्ट लोकेशन के लिए भी जानी जाएगी. इस बाबत राज्‍य और केंद्र सरकार मिलकर काम कर रहे हैं.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग नगरी कोटा (Coaching City Kota) आने वाले समय में बॉलीवुड फिल्मों (Bollywood Film) के क्षेत्र में बेस्ट लोकेशन के लिए भी जानी जाएगी. इस समय कोटा में बहुत से विकास कार्य चल रहे हैं, जिसमें इस शहर के सौंदर्य को चार चांद लगाने वाले चौराहे, चम्बल रिवर फ्रंट, एयरपोर्ट, ब्रिज आदि का काम पूरा होने के बाद न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि फिल्म लाइन के द्वार भी खुलेंगे. राजस्थान लाइन प्रोडूसर एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट सुभाष सोरल ने बताया कि हाड़ोती में बहुत ही खूबसूरत लोकेशन हैं, जहां एक ओर राज्य सरकार से यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल कोटा में विकास के कार्य करवा रहे हैं, तो वहीं दूसरी और केन्द्र सरकार के सहयोग से लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) कोटा में एयरपोर्ट व चम्बल में क्रूज चलाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं. इससे कोटा व हाड़ोती में पर्यटन व फिल्मी दुनिया को बढ़ावा मिलेगा.

राजस्थान लाइन प्रोडूसर एसोसिएशन के वाइस प्रेसिडेंट सुभाष सोरल  ने बताया कि कोटा में पहले भी काफी प्रयास करने के बाद कई फिल्मों की शूटिंग हुई हैं, इनमें प्रमुख जालियांवाला बाग, जब वी मेट, माचिस, दिल्‍लगी, बद्रीनाथ की दुल्हनिया, मर्दानी-2 व शेरगढ़ में लाल कप्तान के साथ सावधान इंडिया, फेयर फाइल, शाबाश इंडिया, तीसमारखां, म्हारी आस्था, यह प्रीत ना  जाने रीत, कोटा फैक्ट्री और अन्य कई फिल्मों व धारावाहिक शामिल हैं. साथ ही कहा कि आगे भी कई फिल्म और वेब सीरीज की शूटिंग कोटा व हाड़ोती  में होगी.

बस ये बात करती है परेशान
सोरल ने कहा कि अभी राजस्थान में फिल्‍मों की शूटिंग की परमिशन बहुत कठिन हैं, जिसमें 15 से 20 दिन लग जाते हैं. इससे निमार्ताओं को व लाइन प्रोडूसर को बहुत परेशान होना पड़ता है. जबकि मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश सहित कई प्रदेशों में शूटिंग की परमिशन 48 घंटे में मिल जाती है. इससे राजस्थान में फिल्म उद्योग को बहुत नुकसान उठाना पड़ रहा है. इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भी एसोसिएशन की तरफ से पत्र लिखा है और राजस्थान में शूटिंग परमिशन का सरलीकरण करने की मांग की गई है. उन्होंने कहा कि राजस्थान में कई ऐसे स्थल हैं जो फिल्म लोकेशन के लिए बेहतरीन हैं, ऐसे में फिल्म उद्योग को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किए जाने चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज