Assembly Banner 2021

कोटा के गरोठ स्टेशन में यात्रियों को टॉयलेट का पानी पिलाने का मामला, स्टेशन मास्टर सस्पेंड, कर्मचारी बर्खास्त

कोटा रेलवे स्टेशन पर टॉयलेट का पानी पिलाने के मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है.

कोटा रेलवे स्टेशन पर टॉयलेट का पानी पिलाने के मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है.

कोटा के गरोठ रेलवे स्टेशन में यात्रियों को टॉयलेट का पानी भरकर पिलाने का मामला सामने आने के बाद दोषियों पर रेलवे ने बड़ी कार्रवाई की है. अब रेलवे ने स्टेशन मास्टर को सस्पेंड और एक प्राइवेट कर्मचारी को बर्खास्त कर दिया गया है.

  • Last Updated: March 6, 2021, 11:06 AM IST
  • Share this:
कोटा. न्यूज़ 18 राजस्थान की खबर का बढ़ा असर सामने आया है. कोटा रेल मंडल के गरोठ स्टेशन पर शौचालय के नल में पाइप लगाकर पानी की टंकी भरकर रेल यात्रियों को पानी पिलाने का मामला सामने आया था. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ. न्यूज 18 राजस्थान ने इस खबर को प्रमुखता से प्रसारित किया था, जिसका असर यह हुआ कि कोटा रेल मंडल प्रशासन ने तत्काल प्रभाव से गौरव स्टेशन मास्टर चौथमल मीणा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया हैै.

प्राथमिक जांच में प्राइवेट ठेका श्रमिक सफाई कर्मचारी शौचालय के नल में पाइप लगाकर टंकी भरने का दोषी पाया गया. उसकी सेवाएं समाप्त कर दी गई है. यह जानकारी कोटा रेल मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक अजय पाल सिंह ने दी. इधर, न्यूज़ 18 राजस्थान की खबर रिप्लाई करते हुए ट्वीट करके कोटा रेल मंडल प्रबंधक (DRM) पंकज शर्मा ने कहा कि कोटा के गरोठ स्टेशन की उक्त घटना के संज्ञान में आते ही त्वरित कार्रवाई की गई है. रेल यात्रियों के लिए स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है.

डीआरएम पंकज शर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा है कि यह मामला 1 मार्च 2021 का है, जिसे संज्ञान में लिया गया. इसमें पानी की टंकी की सफाई एक प्राइवेट सफाई कर्मचारी करता दिख रहा है, इस टंकी में स्वच्छ पानी के लिए रेल प्रशासन ने उचित एवं स्थाई पाइप की व्यवस्था कर रखी है. DRM ने कहा कि मामले में कड़ी कार्रवाई करते हुए ऑन ड्यूटी स्टेशन मास्टर को निलंबित कर दिया गया है. प्राइवेट सफाई कर्मचारी की सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं. जांच के आदेश भी दिए गए हैं. कोटा रेल मंडल यात्री सेवाओं के लिए निरंतर प्रतिबद्ध भविष्य में इस प्रकार की कोई भी गलती ना हो इसके लिए सख्त निर्देश जारी किए गए हैं।



इधर, आज पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक शैलेंद्र सिंह कोटा रेल मंडल के कोटा-गंगापुरसिटी रेल खंड का निरीक्षण करने पहुंचे. कोटा स्टेशन पर मीडिया से बातचीत करने के दौरान उन्होंने कहा कि मामला उनकी जानकारी में भी आया है. जांच के आदेश दे दिए गए हैं. कार्रवाई की जा रही है, जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. जिस किसी ने इस काम को अंजाम दिया है, उसके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज