अपना शहर चुनें

States

Chambal River Front Project: अब 700 करोड़ रुपयों का हुआ, जानिये क्या-क्या बदलेगा कोटा में

कोचिंग सिटी कोटा जल्दी अमृतसर शहर की तर्ज पर हेरिटेज लुक के साथ नजर आयेगा.
कोचिंग सिटी कोटा जल्दी अमृतसर शहर की तर्ज पर हेरिटेज लुक के साथ नजर आयेगा.

Chambal River Front Project: कोटा के इस ड्रीम प्रोजेक्ट का दायरा बढ़ाकर इसे 700 करोड़ रुपयों का कर दिया गया है. इसमें अब कई नये फीचर (New features) जोड़े जा रहे हैं. देशभर में यह प्रोजेक्ट अनूठा होगा.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Coaching city kota) को पर्यटन नगरी में तब्दील करने के लिए महत्वपूर्ण माने जा रहे है चंबल रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट (Chambal River Front Project) का अब विस्तार कर इसे 700 करोड़ का कर दिया गया है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के इस ड्रीम प्रोजेक्ट को देश ही नहीं बल्कि विदेशी सैलानी (Foreign tourist) भी देखने आए इस दृष्टिकोण से अनूठा बनाया जा रहा है. अब परियोजना के तहत बन रहे घाट केवल बाढ़ नियंत्रण का कार्य ही नहीं करेंगे बल्कि उन्हें हेरिटेज लुक देते हुए बहु उपयोगी और आकर्षक बनाने तथा समाज और संस्कृति (Society and culture) से भी जोड़ा जाएगा. यह प्रोजेक्ट गोमती ओर साबरमती नदियों के रिवर फ्रंट से अधिक आकर्षक होगा.

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि इसके तहत अब घाटों पर साहित्यकार चौक और पुस्तकालय को भी प्रोजेक्ट का हिस्सा बनाया गया है. पुस्तकालय में साहित्यकारों की रचनाएं पढ़ने को मिलेगी एवं साहित्यकार चौक में देश के प्रतिष्ठित साहित्यकारों की प्रतिमाओं को लगाया जाएगा. यही नहीं योग व आध्यात्मिक चौक भी रिवर फ्रंट का हिस्सा होंगे. नयापुरा पुलिया तक रिवर फ्रंट में करीब 6 किलोमीटर में हेरिटेज लुक के साथ मुगलकालीन गार्डन की तर्ज पर खूबसूरत पर्यटन स्थल बनाया जाएगा. रिवर फ्रंट प्रोजेक्ट के निदेशक अनूप भरतिया ने बताया कि यह प्रोजेक्ट देश का नया प्रोजेक्ट होगा. भरतिया लगातार नगर विकास न्यास के ओएसडी आरडी मीणा, मुख्य अभियंता ओपी वर्मा और तकनीकी अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क कर रिवर फ्रंट की बारीकियों के बारे में चर्चा कर रहे हैं. रिवर फ्रंट तय समय पर गुणवत्ता के साथ पूर्ण हो इसके लिए फिलहाल 700 से अधिक श्रमिक प्रोजेक्ट में काम कर रहे हैं. वहीं मॉनिटरिंग के लिए नगर विकास न्यास के अधिकारी मुस्तैदी से लगे हुए हैं.

Kota: 18 नवजातों की मौत के बाद सियासत का अखाड़ा बना जेके लॉन अस्पताल, आज आयेगी मानवाधिकार आयोग की टीम

एंट्री प्वाइंट करवाएगा सैलानियों को हेरिटेज सिटी का एहसास


कोचिंग सिटी कोटा जल्दी अमृतसर शहर की तर्ज पर हेरिटेज लुक के साथ नजर आएगी. चंबल ब्रिज से नयापुरा चौराहा तक के पूरे क्षेत्र को नया बनाने के साथ इसके आसपास के क्षेत्र में जितनी भी बिल्डिंग हैं उनका फ्रंट एलीवेशन हेरिटेज लुक में दिखेगा. इस प्रोजेक्ट को 20 करोड़ रुपये में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत नगर विकास न्यास पूरा करेगा.

नयापुरा चौराहे पर लगेगी विवेकानंद की विशाल प्रतिमा
अब आप जयपुर की तरफ से बस या अन्य वाहनों से जब कोटा में प्रवेश करेंगे तो चंबल ब्रिज पार कर नयापुरा पहुंचते ही आपको जाम की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा. वहीं क्षेत्र की पुरानी बिल्डिंगों को नया लुक देकर सौंदर्यकरण कर उनको हेरिटेज लुक दिया जाएगा. नयापुरा चौराहे पर विवेकानंद की प्रतिमा भी बनाई जाएगी. पुरानी प्रतिमा की जगह 15 फीट ऊंची नई प्रतिमा लगाई जाएगी. यह प्रतिमा 15 फीट के कलात्मक पेडल स्टैंड पर होगी.

10 साल तक कंपनी ही करेगी चौराहे की देखरेख
कोटा के नयापुरा चौराहे क्षेत्र में फ्रंट एलिवेशन का जो भी कार्य होगा उससे इस क्षेत्र का काया कल्प हो जायेगा. इसकी 10 साल तक देखभाल वही कंपनी करेगी जो इसे बना रही है. इसी शर्त के साथ इस कार्य को करवाया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज