कोटा: जल्द शुरू होंगे कोचिंग सेंटर, फिर जुटेंगे देशभर के स्टूडेंट्स, बेहतर माहौल देने के लिये तैयारियां शुरू

सभी हॉस्टल संचालकों और लीजधारकों से अपील की गई है कि वे कोटा आने वाले स्टूडेंट्स को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश करें.

सभी हॉस्टल संचालकों और लीजधारकों से अपील की गई है कि वे कोटा आने वाले स्टूडेंट्स को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश करें.

कोरोना काल में आर्थिक रूप से टूट चुके कोचिंग सिटी कोटा (Coaching City Kota) में फिर से जीवेतता लौटने लगी है. जल्द ही यहां कोचिंग सेंटर फिर से शुरू होंगे. इसके लिये कोचिंग सेंटर्स और हॉस्टल्स में तैयारियां शुरू हो गई हैं.

  • Share this:
कोटा. राज्य सरकार की ओर से 18 जनवरी से कोचिंग सेंटर में ऑफ लाइन क्लासेज (Offline classes) शुरू करने की अनुमति देने के साथ ही कोचिंग सिटी कोटा (Coaching City Kota) में फिर से जीवंतता नजर आने लगी है. शहर के ऐसे इलाके जहां कोचिंग संचालित होती है वहां हलचल शुरू हो गई है. कोचिंग संस्थानों के साथ-साथ हॉस्टल्स में भी स्टूडेंट्स को स्वच्छ और सुरक्षित माहौल देने के लिए राज्य सरकार की गाइड लाइंस (COVID Guidelines) की पालना के लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं.

गुरुवार को शहर की विभिन्न हॉस्टल एसोसिएशन के सदस्यों ने अपने-अपने स्तर पर तैयारियों को लेकर बातचीत की और हर हॉस्टल में साफ-सफाई से लेकर अन्य सभी जरूरी व्यवस्थाओं के लिए प्रयास शुरू कर दिये. एलन स्टूडेंट वेलफेयर सोसायटी (एएसडब्ल्यूएस) ने शहर में बेहतर माहौल बनाने तथा कोविड गाइड लाइंस की पालना सुनिश्चित करने के लिए जागरुकता अभियान शुरू कर दिया है. एएसडब्ल्यूएस के अध्यक्ष मुकेश सारस्वत ने बताया कि कोचिंग शुरू होने की अनुमति मिलने के साथ ही अब बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स जल्द ही कोटा आएंगे. उन्हें स्वस्थ और सुरक्षित माहौल मिले. इसके लिए एएसडब्ल्यूएस ने जागरुकता अभियान शुरू किया है.

13 जनवरी के बाद एक कॉमन कमेटी बनाकर सभी हॉस्टल्स की जांच करेगी

इसके तहत शहर के लैंडमार्क सिटी, राजीव गांधी नगर, इन्द्र विहार, जवाहर नगर डिस्ट्रिक्ट सेंटर और बारां रोड स्थित कोरल पार्क क्षेत्र के लिए अलग-अलग सीपीआर व विजिलेंस की टीमें बनाकर उनको हर हॉस्टल में भेजा जा रहा है. सीपीओ की टीम हर हॉस्टल में जाकर वहां के मालिक, वार्डन और अन्य सदस्यों से समझाइश कर रही है. 13 जनवरी तक यह अभियान चलाया जाएगा. इसके तहत शहर के हर हॉस्टल तक पहुंचा जाएगा. 13 जनवरी के बाद एक कॉमन कमेटी बनाकर सभी हॉस्टल्स की जांच की जाएगी. कोशिश की जाएगी कि हर हॉस्टल में कोविड गाइड लाइन की पालना हो.
हर स्टूडेंट है खास

न्यू कोटा हॉस्टल एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक लोढ़ा ने बताया कि सभी हॉस्टल संचालकों व लीजधारकों से अपील की गई है कि वे कोटा आने वाले स्टूडेंट्स को बेहतर से बेहतर सुविधाएं देने की कोशिश करें. कोचिंग संस्थानों की पढ़ाई के साथ हमारे द्वारा दिया गये अच्छे माहौल के कारण ही है कि स्टूडेंट कोटा आना चाहेंगे. पेरेन्ट्स विश्वास करते हैं. हर स्टूडेंट को खास मानते हुए ध्यान रखना है.

व्यवस्थायें करना शुरू



चम्बल हॉस्टल एसोसिएशन के अध्यक्ष शुभम अग्रवाल ने बताया कि लैंडमार्क सिटी क्षेत्र में हॉस्टल संचालकों के साथ बातचीत का दौर चल रहा है. यहां एसोसिएशन भी व्यवस्थाएं कर रही है. हर हॉस्टल में गाइड लाइन की पालना हो इसके लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं. कोचिंग संस्थानों के साथ मिलकर कोटा को अच्छा माहौल देने का प्रयास करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज