राजस्थान: केटल 'फ्री' होगी कोचिंग सिटी कोटा, 300 करोड़ की देवनारायण योजना से होगा कायापलट

इस योजना के तहत करीब 900 पशुपालकों को यहां शिफ्ट किया जाएगा.

देश की कोचिंग कोटा को केटल फ्री (Cettle free) किया जायेगा. देवनारायण योजना (Devnarayan scheme) के तहत यहां 300 करोड़ रुपये की लागत से पशुपालकों के लिये तमाम सुविधाओं से युक्त आवासीय योजना बनाई जा रही है.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Kota) अब जल्द ही देश के उन शहरों में शुमार होगा जो केटल 'फ्री' (Cettle free) हैं. कोटा राजस्थान का पहला शहर होगा जहां पशुपालकों के लिए सरकार न सिर्फ घर बनवा रही है बल्कि उनके पशुओं के लिए बाड़े, दूध मंडी और उससे जुड़ी तमाम बुनियादी सुविधायें मुहैया करवायी जायेगी. यह प्रोजेक्ट अब जमीन पर उतरने लग गया है. यह सब बदलाव होगा देवनारायण योजना (Devnarayan scheme) के तहत.

कोचिंग सिटी कोटा में पशुओं से होने वाली दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके और पशुपालकों के जीवन स्तर में अमूलचूल परिवर्तन हो सके इसको लेकर कोटा के बंधा धर्मपुरा में देवनारायण योजना अपना आकार लेने लगी है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल इस प्रोजेक्ट के तहत 300 करोड़ की लागत से पशुपालकों की प्रदेश की पहली आवासीय योजना तैयार की जा रही है.

करीब 900 पशुपालकों को यहां शिफ्ट किया जाएगा
इस योजना के तहत करीब 900 पशुपालकों को यहां शिफ्ट किया जाएगा. इनके लिए आशियाने के साथ-साथ उनके मवेशियों के लिए स्थान और प्राकृतिक वातारवरण तैयार कर बुनियादी सुविधाओं को मुकम्मल करने का काम जोर शोर पर किया जा रहा है. ताकि पशुपालक जब यहां शिफ्ट हो तो उनको तमाम सुविधायें मिल सके.

दूसरे प्रदेशों से भी अधिकारी इस योजना को देखने के लिए आ रहे हैं
योजना के तहत यहां पशुपालकों के आवास के साथ-साथ शेड, चारे के लिए गोदाम, हाट बाजार, अस्पताल, स्कूल , डेयरी उत्पाद बेचने के लिए मंडी और बायोगैस प्लांट भी तैयार किया जा रहा है. यही नहीं सामुदायिक भवन, शौचालय और पशुओं के लिए तालाब सहित तमाम सुविधाओं का निर्माण कार्य तेजी से जारी है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल का दावा है कि यह योजना देश की पहली योजना है जिसको पशुपालकों के लिए राजस्थान सरकार लेकर आई है. योजना के चर्चे अभी से इतने होने लगे है कि दूसरे प्रदेशों से भी अधिकारी इस योजना को देखने के लिए आ रहे हैं ताकि इस योजना का अनुसरण कर सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.