लाइव टीवी

VIDEO: छात्रों से भरे कोटा के हॉस्टल में लगी आग, सूरत जैसा हादसा होते-होते बचा

News18 Rajasthan
Updated: June 11, 2019, 6:15 PM IST

कोटा शहर के पॉश इलाके तलवंडी-बी सेक्टर में घनी आबादी क्षेत्र में अवैध रूप से बने चार मंजिला हॉस्टल में सोमवार की रात भीषण आग लग गई.

  • Share this:
राजस्थान की एजुकेशन सिटी कोटा में सोमवार की रात सूरत अग्निकांड जैसा बड़ा हादसा होते- होते बच गया. रात करीब 10 बजे शहर के पॉश इलाके तलवंडी-बी सेक्टर में घनी आबादी क्षेत्र में अवैध रूप से बने चार मंजिले हॉस्टल में भीषण आग लगी. आग से हॉस्टल का ग्राउंड फ्लोर वाला हिस्सा पूरी तरह से जल गया और पूरे हॉस्टल में धुंआ भर गया. घनी आबादी व संकरे रास्ते वाले इलाके में आग लगने से पूरे तलवंडी क्षेत्र में अफरा-तफरी मची रही.

28 छात्र रह रहे थे हॉस्टल में  

हॉस्टल में देश के कई राज्यों के मेडिकल, इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने वाले करीब 28 स्टूडेंट्स रह रहे है. वे सभी हॉस्टल के ग्राउंड फ्लोर पर भड़की आग व फैलते धुंए के समय हॉस्टल में मौजूद थे. आग व धुंआ देखकर सभी को जान को बचाने के लाले पड़ गए. स्टूडेंटस जान बचाते हुए हॉस्टल की छत पर चले गए. स्टूडेंटस हॉस्टल में नीचे भड़कती आग को देखकर बचने के लिए चिल्लाने लगे.
लोगों से प्रशासन को सूचना दी, मौके पर तत्काल शहर जिला प्रशासन, कलेक्टर मुक्तानंद अग्रवाल, सिटी एसपी दीपक भार्गव, ट्रेनी आईपीएस नम्रता दोहन, डिप्टी संजय शर्मा, जवाहरनगर थाना व अन्य आसपास के थाना की पुलिस पहुंची गई. मुख्य अग्निमशन अधिकारी, गौतम लाल, सहायक अग्निशमन अधिकारी देवेंद्र कुमार गौतम 5 दमकलों व रेस्क्यू दल पहुंच गया.

हॉस्टल मालिक का सारा सामान जला

करीब 1 घंटे की मशक्कत से बाद आग पर काबू पाया जा सका. किसी स्टूडेंट या अन्य व्यक्ति को कोई नुकसान नहींं हुआ. हॉस्टल मालिक हिम्मत सिंह हाडा को इस आग से बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ है, नीचे बिल्डिंग में हाडा परिवार सहित रहता है. घर का सारा सामान, दोपहिया वाहन, पैसे, चेक, ज्वैलरी, कपड़े, आग की भेंट चढ़ गए. हॉस्टल को जिला प्रशासन ने रात को ही सील कर दिया, किसी को हॉस्टल में  अंदर जाने से मना कर दिया.

कलेक्टर ने गठित कर दी जांच टीम
Loading...

मौके पर पहुंचे जिला कलेक्टर मुक्तानंद अग्रवाल ने कहा कि हादसे की जिला प्रशासन जांच कराएगा और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. कलेक्टर मुक्तानंद अग्रवाल ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए रातों-रात कमेटी गठित कर दी है. हॉस्टल में संभवत: मेस भी चलता है, मेस का सारा सामान जल गया. तीन से चार गैस सिलेंडर आग को बुझाने के दौरान बाहर रोड पर ला गए.

शार्ट सर्किट से भड़की आग 

प्रत्यक्षदर्शियों व हॉस्टल मालिक हिम्मत सिंह हाडा के मुताबिक वह अपने घर कमरे में सो रहा था, करीब 10 बजे मकान से 10 से 15 कदम की दूरी पर लगे बिजली के ट्रांसफार्मर में तेज धमाके हुए, स्पार्किंग हुई इसके बाद मकान के नजदीक खड़े बिजली के पोल में आग लगी. सहायक अग्निशमन अधिकारी देवेंद्र गौतम के मुताबिक हॉस्टल मालिक हाडा गायों को पालता है, जिनके लिए रखे चारे व भूसे बिजली के तारों हुई स्पार्किंग व शॉर्ट सर्किट से हॉस्टल में आग लगी. आग से वहां रखा 3 - 4 किलो की गैस वाले छोटे सिलेंडर में गैस लीकेज हुई, और आग ने फिर विकराल रूप ले लिया. आग हॉस्टल के नीचे वाले ग्राउंड फ्लोर में फैल गई. बिल्डिंग में धुंआ भर गया.

ये भी पढ़ें-
सूरत: कोचिंग सेंटर में लगी आग में 20 छात्रों की मौत, सीएम रूपानी ने दिए सभी मॉल और स्कूल की सुरक्षा ऑडिट के आदेश

सूरत हादसा: 10वीं क्लास की इस स्टूडेंट ने दोस्तों से कहा- मत हो परेशान, सूझबूझ से कुछ यूं बचाई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 11, 2019, 6:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...