Assembly Banner 2021

Corona warriors : कोटा के एक ही परिवार के तीन लोगों ने किया प्लाज्मा डोनेट

कोटा के एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने किया प्लाज्मा डोनेट. (सांकेतिक तस्वीर)

कोटा के एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने किया प्लाज्मा डोनेट. (सांकेतिक तस्वीर)

अब तक ऐसा मामला देखने को नहीं मिला कि एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने कोरोना की जंग जीतने के बाद दूसरों की मदद करते हुए एक साथ प्लाज्मा डोनेशन किया हो.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 17, 2020, 9:36 PM IST
  • Share this:
कोटा. कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीजों (Patients) के इलाज के लिए जीवनदाता टीम लोगों को लगातार जागरूक कर रही है और उन्हें प्लाज्मा डोनेट (Plasma donate) करने के लिए तैयार कर मरीजों को नया जीवन देने का प्रयास कर रही है. टीम के ऐसे ही प्रयासों से कोटा (Kota) में एक ही परिवार के तीन सदस्य एक साथ प्लाज्मा डोनेशन के लिए आगे आए हैं. टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब (Lions Club) के जोन चेयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि एक ही परिवार के तीन सदस्यों का एक साथ डोनेशन करने का प्रदेश में यह पहला मामला है. अब तक ऐसा मामला देखने को नहीं मिला कि एक ही परिवार के तीन सदस्यों ने कोरोना की जंग जीतने के बाद दूसरों की मदद करते हुए एक साथ प्लाज्मा डोनेशन किया हो. गुप्ता ने बताया कि कृष्णा नगर रंगबाडी रोड स्थित शगुन मैरिज गार्डन के पास रहनेवाले मनोज त्यागी, साक्षी त्यागी व सारांश त्यागी ने कोरोना को मात देकर अब दूसरों का जीवन बचाने का निर्णय किया है. कोटा में प्लाज्मा डोनेशन का ये 27वां मामला है. प्लाज्मा डोनेशन करवाने में टीम जीवनदाता के सदस्य वर्धमान जैन, डॉ. क्षिप्रा गुप्ता, एडवोकेट महिन्द्रा वर्मा, नितिन मेहता, विपुल गुप्ता, मनीष माहेश्वरी, रजनीश खंडेलवाल, प्रतीक अग्रवाल, महीप सिंह सौलंकी, जोंटी नायक का अहम योगदान रहा.

डोनर्स का उत्साह बढ़ाया

प्लाज्मा डोनर का उत्साहवर्धन करने के लिए माहेश्वरी समाज कोटा के जिला अध्यक्ष राजेश बिरला एवं अखिल भारतीय महिला माहेश्वरी मंडल की राष्ट्रीय अध्यक्ष आशा माहेश्वरी व लायंस क्लब के पूर्व प्रान्तपाल बद्री विशाल माहेश्वरी एमबीएस ब्लड बैंक पहुंचे. वहां उन्होंने प्लाज्मा डोनर के इस कार्य की सराहना की. बिरला ने कहा कि कोटा के लोगों में सदा ही सेवा का जज्बा रहा है. बद्री विशाल माहेश्वरी ने कहा कि कोरोना से जंग जीतने वाले दूसरों की मदद को आगे आए ये कोरोना को हराने में उनसे बेहतर कोई नहीं जान सकता. कोरोना से पीड़ित होने के बाद की मानसिक, सामाजिक व अन्य परेशानियां बेहद पीड़ादायी हैं. उसके बाद ठीक होकर दूसरे कोरोना पीड़ित की मदद करना ईश्वरीय कार्य है.



डोनर्स ने कहा, मन को गहरा सुकून
प्लाज्मा डोनेशन के बाद डोनर मनोज त्यागी ने कहा कि हम आगे भी प्लाज्मा डोनेशन करने के लिए यहां आते रहेंगे. ये ही नहीं दूसरों से सम्पर्क कर प्लाज्मा डोनेशन में आ रही समस्या का समाधान करने का प्रयास भी किया जाएगा. उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए प्लाज्मा डोनेशन करने से मन में गहरा सुकून मिला है. कोरोना से बचाव ही उपचार है. जबकी साक्षी व सारांश का कहना है कि कोरोना को चेन तोड़कर ही हराया जा सकता है. ऐसे में अपने कार्य के दौरान परेशानी उठानी हो तो उठाएं लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का उपयोग निरंतर करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज