Kota News: एक ही परिवादी से ASI और सरपंच ने मांगी घूस, एसीबी ने दोनों को किया ट्रैप

फरार हुये रिश्वत मांगने के आरोपी एएसआई रणवीर सिंह के गैंगस्टर शिवराज सिंह से भी संबंध बताये जा रहे हैं.

फरार हुये रिश्वत मांगने के आरोपी एएसआई रणवीर सिंह के गैंगस्टर शिवराज सिंह से भी संबंध बताये जा रहे हैं.

Unbridled corruption: भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) ने कोटा में एक ही दिन में एक ही परिवादी से रिश्वत मांगने के दो अलग-अलग मामलों में कार्रवाई कर सरपंच और पुलिसकर्मी के दलाल को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
कोटा. प्रदेश में बेलगाम हो रहे भ्रष्टाचार (Unbridled corruption) के बीच कोटा में पुलिस और सरपंच ने एक ही परिवादी से अलग-अलग मामलों में रिश्वत (Bribe) मांगी. परिवादी ने हिम्मत कर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau) में अपनी शिकायत दर्ज कराई. ब्यूरो ने दोनों मामलों का सत्यापन कर रिश्वत मांगने वाले आरोपी सरपंच को रंगे हाथों ट्रैप कर लिया. रिश्वत मांगने का दूसरा आरोपी पुलिस का सहायक उप निरीक्षक ब्यूरो की कार्रवाई की भनक पाकर फरार हो गया. ब्यूरो ने रिश्वत के इस खेल में पुलिसकर्मी के दलाल को गिरफ्तार कर लिया है. इस कार्रवाई के बाद एएसआई को निलंबित (Suspend) कर दिया गया है.

एसीबी की एएसपी ठाकुर चंद्रशील ने बताया कि दोनों कार्रवाइयों को मंगलवार को इटावा इलाके में अंजाम दिया गया है. पहली कार्रवाई इटावा थाने के सहायक उप निरीक्षक रणवीर सिंह के खिलाफ की गई. इस संबंध में परिवादी विपिन कुमार योगी ने शिकायत दर्ज कराई थी. योगी ने बताया कि उसके चाचा सुरेंद्र के खिलाफ इटावा थाने में मामला दर्ज है. उसे रफा-दफा करने की एवज में एसआई रणवीर ने पहले 300000 रुपए की मांग की. घूस नहीं दिए जाने पर एएसआई सिंह ने गिरफ्तारी की धमकी दी. बाद में अग्रिम जमानत के लिए 15 दिन का वक्त देने के लिए 40,000 रुपए मांगे.

एएसआई रणवीर सिंह को निलंबित करने के आदेश

ब्यूरो ने शिकायत का सत्यापन कराया तो वह सही पाई गई. इस पर ब्यूरो ने अपना जाल बिछाकर सिंह के दलाल राम सिंह को 40,000 रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों ट्रैप कर लिया. कार्रवाई की भनक पाकर एएसआई फरार हो गया. एएसपी ठाकुर चंद्रशील ने बताया कि रणवीर सिंह की तलाश में एसीबी की टीम जुटी हुई है. जांच पड़ताल में सामने आ रहा है कि रणवीर सिंह के गैंगस्टर शिवराज सिंह से भी संबंध हैं. उसकी भी पड़ताल की जा रही हैं. इस कार्रवाई के तुरंत बाद ही कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने फरार हुए एएसआई रणवीर सिंह को निलंबित करने के आदेश दे दिए. उसकी गिरफ्तारी के लिए इटावा के सीओ विजय शंकर को निर्देश दिए गए हैं.
गेता सरपंच भवानी शंकर नागर को रिश्वत लेते पकड़ा

दूसरी कार्रवाई भी इटावा क्षेत्र के ही गेता में की गई. ब्यूरो ने गेता सरपंच भवानी शंकर नागर को 2 लाख 51 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोचा है. सरपंच रिश्वत के 1000 रुपए नगद और ढाई लाख के 2 चैक ले रहा था. यहां पर परिवादी विपिन कुमार ही है. सरपंच भवानी शंकर नागर ने परिवादी विपिन से इंतकाल खोलने और मृत्यु प्रमाण-पत्र बनाने की एवज में 2 लाख 51 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज