Assembly Banner 2021

Kota News: वर्दी का रौब दिखाकर रिश्वत लेने वाले कांस्टेबल को कोर्ट ने सुनाई 3 साल की जेल की सजा

जांच में यह भी पाया गया कि आरोपी कांस्टेबल लाल सिंह ने जिस मामले की धमकी दी थी वैसा कोई मामला था ही नहीं.

जांच में यह भी पाया गया कि आरोपी कांस्टेबल लाल सिंह ने जिस मामले की धमकी दी थी वैसा कोई मामला था ही नहीं.

Decision of the Prevention of Corruption Court: कोर्ट ने दस पुराने मामले का निस्तारण करते हुये कांस्टेबल लाल सिंह को दोषी करार दिया है. कोर्ट ने उसे तीन साल की जेल और 50 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग सिटी कोटा के भ्रष्टाचार निवारण न्यायालय कोर्ट (Court of Prevention of Corruption) ने 10 साल पुराने रिश्वत कांड के आरोपी पुलिस कांस्टेबल (Police constable) को तीन साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है. कोर्ट ने इसके साथ ही दोषी करार दिये गये कांस्टेबल को 50 हजार रुपए के अर्थदण्ड से भी दण्डित किया है.

सहायक निदेशक अभियोजन अशोक कुमार जोशी के मुताबिक 2 अप्रैल 2010 को अंता थाना इलाके के धतूरिया गांव निवासी परिवादी बृजबिहारी ने एसीबी कार्यालय बारां में शिकायत दी थी. उसने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि अन्ता थाने का सिपाही लाल सिंह उसके गांव आया था. लाल सिंह ने कहा कि उसके खिलाफ बालाईडा के गांव वालों ने एसपी को शिकायत दी है कि वह चोरियां करता है. इस मामले की जांच उसे दी गई है. बचना है तो 10000 रुपये देने पड़ेंगे नहीं तो थाने में बंद कर देगा.

परिवादी ने कांस्टेबल को तीन हजार रुपये दे दिये थे
परिवादी ने बताया इसके बाद उसकी पत्नी रोमाबाई डर गई और लाल सिंह को 3 हजार रुपये अन्ता में सीसवाली चौराहे पर देकर आयी. लेकिन लाल सिंह 5000 रुपये और मांग रहा है. काफी मिन्नतें करने के बाद वह 4000 रुपये के लिये तैयार हो गया है. इस पर ब्यूरो चौकी बारां के पुलिस निरीक्षक दीनदयाल भार्गव ने रिश्वत राशि की मांग का सत्यापन करवाया. सत्यापन में शिकायत सही पाई गई. उसके बाद 8 अप्रैल 2010 को लाल सिंह को परिवादी से 4000 रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया गया.
परिवादी के खिलााफ कोई भी शिकायत नहीं थी


ब्यूरो ने अपनी जांच के बाद न्यायालय में लाल सिंह के खिलाफ आरोप-पत्र पेश कर दिया. जांच में यह भी पाया गया कि आरोपी लाल सिंह कांस्टेबल ने जिस मामले की धमकी दी थी वैसा कोई मामला था ही नहीं. सुनवाई के बाद कोर्ट ने लाल सिंह को दोषी माना. कोर्ट ने अभियुक्त लाल सिंह को तीन साल के कठोर कारावास व 50 हजार रुपए के अर्थदण्ड से दण्डित किये जाने का फैसला सुनाया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज