अपना शहर चुनें

States

COVID-19: कोटा में भीख नहीं मिलने से नाराज महिलाओं ने थूका, हड़कंप मचा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज देखकर नगर निगम को सूचना देकर पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करवाया.
पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज देखकर नगर निगम को सूचना देकर पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करवाया.

कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण के बचने के लिए प्रदेश सरकार ने हाल ही में सार्वजनिक स्थान पर थूकने (Spitting) पर पाबंदी लगा दी है. उसके बाद सोमवार को कोचिंग सिटी कोटा के गुमानुपरा थाना इलाके में कुछ संदिग्ध महिलाओं के सड़क पर और दूसरे के घरों में थूकने का एक सीसीटीवी वीडियो वायरल हो गया.

  • Share this:
कोटा. कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण के बचने के लिए प्रदेश सरकार ने हाल ही में सार्वजनिक स्थान पर थूकने (Spitting) पर पाबंदी लगा दी है. उसके बाद सोमवार को कोचिंग सिटी कोटा के गुमानुपरा थाना इलाके के वल्ल्भबाड़ी इलाके में कुछ संदिग्ध महिलाओं के सड़क पर और दूसरे के घरों में थूकने का एक सीसीटीवी वीडियो वायरल हो गया. जैसे ही इस घटनाक्रम के बारे में लोगों को पता चला तो वहां हड़कंप मच गया. उन्होंने गुमानुपरा पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने संदिग्ध महिलाओं को तलाश कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करवाया
कोटा सिटी एसपी गौरव यादव के अनुसार पकड़ी गई सभी महिलाएं बावरी समाज की हैं. वे भीख नहीं मिलने के कारण नाराज हो गई थीं और उन्होंने इस तरह की हरकत को अंजाम दिया. इस संबंध में स्थानीय निवासियों ने शिकायत दर्ज करवाई थी. शिकायत में उन्होंने बताया कि 4-5 महिलाएं क्षेत्र में घूम रही हैं. ये महिलाएं लोगों के घरों के दरवाजों पर जाकर थैली से थूक लगा रही हैं. इसकी सूचना पर गुमानपुरा पुलिस मौके पर पहुंची और पूरे मामले की जानकारी ली. इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज देखकर पुलिस ने नगर निगम को सूचना देकर पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करवाया. उसके बाद पुलिस ने संदिग्ध महिलाओं को खोजबीन कर गिरफ्तार कर लिया. पुलिस पकड़ी गई सभी महिलाओं से पूछताछ कर रही है.

कोटा में 47 मामले सामने आ चुके हैं
उल्लेखनीय है कि कोटा में अब तक कोरोना वायरस के 47 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. कोचिंग सिटी कोटा बीते कई दिनों से कोरोना संक्रमण बचा हुआ था. लेकिन हाल ही में भीमगंजमंडी और मकबरा इलाके से एक एक बाद एक कई पॉजिटिव मरीज पाए गए तो यहां का चिंता का माहौल हो गया. उसके बाद से शहर में पॉजिटिव मरीजों के आने का सिलसिला जारी है. इन्हीं क्षेत्रों के करीब 100 से अधिक कोरोना संदिग्धों को न्यू मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशिलिटी विंग के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है.



Lockdown: जयपुर ने फिर कायम की मिसाल, हिन्दू शख्स का मुस्लिम बंधुओं ने...

ऑटिस्टिक बीमारी से ग्रसित बच्चे के लिए रेलवे ने मुंबई पहुंचाया ऊंटनी का दूध
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज