Kota: कोरोना से सावधानी की मजबूरी और फैशन, अब बाजार में आया चांदी का 'मास्क'
Kota News in Hindi

Kota: कोरोना से सावधानी की मजबूरी और फैशन, अब बाजार में आया चांदी का 'मास्क'
ज्वेलर्स के मुताबिक उन्होंने फैशन और शादियों में डिमांड को लेकर ही इसे बनाया है.

आज पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) से जूझ रही है. डब्ल्यूएचओ से लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार लोगों से अपील कर रही है कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए मुंह पर नियमित मास्क पहनें.

  • Share this:
कोटा. आज पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) से जूझ रही है. डब्ल्यूएचओ से लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार लोगों से अपील कर रही है कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए मुंह पर नियमित मास्क पहनें. ऐसे में तरह-तरह के फैशनेबल मास्क भी बाजार में बिकने लगे हैं. कपड़ों के डिजाइन मास्क सबसे ज्यादा प्रचलित हैं. लेकिन राजस्थान के एजुकेशन सिटी कोटा में एक ज्वेलर्स ने तो चांदी का मास्क (Silver mask) ही तैयार करवा डाला. ज्वेलर्स का दावा है कि चांदी का यह मास्क संक्रमण से पूरी तरह प्रोटेक्ट करता है. जबकि डॉक्टर्स का कहना है कि चांदी का मास्क फैशन के लिहाज से ठीक हो सकता है, लेकिन यह जीवन सुरक्षा उपयोगी नही हो सकता.

यूं आया आइडिया
कोटा के ज्वेलर ऋषभ जैन के पास चांदी के मास्क की डिमांड आई तो उनके भी दिमाग में इसको बनाने का विचार आ गया. इस पर उन्होंने चांदी के 10 मास्क तैयार करवाये. ज्वेलर्स के मुताबिक उन्होंने फैशन और शादियों में डिमांड को लेकर ही इसे बनाया है. लोग लगातार इसकी मांग कर रहे हैं. महिलाओं की ओर से साड़ी और कॉस्ट्यूम्स के साथ ज्वेलरी की मैचिंग में मास्क की भी डिमांड आ रही है. यही कारण रहा कि चांदी का मास्क तैयार किया. बकौल ऋषभ कर्नाटक के बेंगलुरु से उन्हें इसका बड़ा ऑर्डर भी मिला है. इसे वे नवंबर में सप्लाई करेंगे. फैशन और साड़ी के मैचिंग के लिए महिलाएं भी इसे खरीदने के लिए बेताब हैं. ज्वेलर्स के मुताबिक के चांदी के इस मास्क की कीमत 5000 रुपए है. वजन 85 ग्राम है. इसे पहनने में असुविधा भी नहीं होती है. यह काफी कम्फर्टेबल है. इसके साथ ही जब कोरोना खत्म हो जाएगा तब इसे वापस भी बेचा जा सकता है.

Rajasthan: अस्पताल की दूसरी मंजिल से Corona पीड़ित वृद्ध ने लगाई छलांग, मौके पर ही मौत
जीवन सुरक्षा उपयोगी नहीं हो सकता


वहीं कोटा न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक डॉ. चंद्रशेखर सुशील का कहना है कि ज्वेलर्स जिस तरह का दावा कर रहा है उसकी पुष्टि टेस्टिंग के जरिए ही की जा सकती है. N-95 मास्क प्रमाणित है. ऐसे मास्क को सिर्फ फैशन के तौर पर पहना जा सकता है. लेकिन यह मास्क जीवन सुरक्षा उपयोगी नहीं हो सकता. N-95 या सर्जिकल मास्क ही जीवन सुरक्षा उपयोगी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading