Home /News /rajasthan /

कोटा में कैदी की मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप, शव उठाने से किया इनकार

कोटा में कैदी की मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप, शव उठाने से किया इनकार

मोर्चरी में आक्रोशित परिजन और तैनात पुलिस जाब्ता। फोटो: न्यूज18 राजस्थान

मोर्चरी में आक्रोशित परिजन और तैनात पुलिस जाब्ता। फोटो: न्यूज18 राजस्थान

कैदी की मौत बाद उसके परिजनों ने शव पर चोटों के निशान दिखाते हुए जेल प्रशासन पर मर्डर का आरोप लगाया है.

    कोटा की सेन्ट्रल जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी की शनिवार को मौत हो गई. कैदी की मौत बाद उसके परिजनों ने शव पर चोटों के निशान दिखाते हुए जेल प्रशासन पर मर्डर का आरोप लगाया है. परिजनों ने शव उठाने से इनकार कर दिया है. उनकी मांग है कि इस प्रकरण में हत्या का मामला दर्ज कर जेलर को गिरफ्तार किया जाए. अपनी मांग को लेकर परिजनों ने पहले मोर्चरी के बाहर और फिर नयापुरा थाने पहुंचकर जमकर हंगामा किया.

    हालात बिगड़ते देखकर मौके पर पुलिस उपाधीक्षक सहित कई पुलिस अधिकारी, जनप्रतिनिधि और भाजपा व कांग्रेस के कार्यकर्ता पहुंच गए. सभी ने परिजनों से समझाइश की, लेकिन उन्होंने शव उठाने से इनकार कर दिया. हंगामे को बढ़ता देखकर पूरे मोर्चरी परिसर और नयापुरा थाना परिसर में आरएसी के जवानों को तैनात किया गया है.

    तीन दिन पहले अवैध रूप से शराब बेचते पकड़ा था
    जानकारी के अनुसार मृतक दीपक उर्फ कालू बोरखेड़ा के मानपुरा का निवासी था. उसको पुलिस ने तीन दिन पहले ही अवैध रूप से शराब बेचने के आरोप में पकड़ा था. बाद में उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेज दिया गया. तभी से जेल में बंद था. शनिवार को सुबह कैदी दीपक जेल में संदिग्ध हालत में पड़ा मिला. इस पर जेल के सुरक्षा गार्ड उसे अस्पताल लेकर गए. वहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

    परिजनों का आरोप तबीयत खराब की नहीं दी सूचना
    परिजनों का आरोप है कि जेल प्रशासन ने उसकी तबीयत खराब की सूचना भी नहीं दी. जेल प्रशासन ने सीधे ही मौत की खबर परिजनों को भिजवाई. परिजनों ने मौत के कारणों की जांच की मांग की है. वहीं पुलिस का कहना है कि मृतक कैदी के शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जायेगा और परिजनों की रिपोर्ट पर कार्रवाई की जायेगी.

    (रिपोर्ट :ओमप्रकाश मारू)

    Tags: Crime report, Kota news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर