दिल्ली-मुबंई रेलमार्ग- 160 किलोमीटर प्रति घंटा होगी ट्रेनों की गति, ग्रीन सिग्नल मिला

News18 Rajasthan
Updated: August 20, 2019, 12:27 PM IST
दिल्ली-मुबंई रेलमार्ग- 160 किलोमीटर प्रति घंटा होगी ट्रेनों की गति, ग्रीन सिग्नल मिला
मंगलवार को कोटा के रांवठा से बूंदी के लबान तक 180 किमी प्रति घंटे की स्पीड से इंजन दौड़ाया गया। फाइल फोटो।

दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग (Delhi-Mumbai railway track) पर वाया कोटा विद्युत इंजन से 180 किलोमीटर प्रति घंटे (180 kilometers per hour) की रफ्तार का ट्रायल (Speed trial) सफल होने के बाद अब इस ट्रैक पर ट्रेनों की गति 160 किलोमीटर प्रति घंटा करने की योजना को हरी झंडी (Green signal) मिल गई है.

  • Share this:
दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग (Delhi-Mumbai railway track) पर वाया कोटा विद्युत इंजन से 180 किलोमीटर प्रति घंटे (180 kilometers per hour) की रफ्तार का ट्रायल (Speed trial) सफल होने के बाद अब इस ट्रैक पर ट्रेनों की गति 160 किलोमीटर प्रति घंटा करने की योजना को हरी झंडी (Green signal) मिल गई है. इस बीच दिल्ली-मुंबई के इस रेलवे ट्रैक पर ट्रायल जारी है. गत तीन दिनों से सेमी हाई स्पीड रेल का इंजन कोटा के रांवठा स्टेशन से लेकर बूंदी के लबान स्टेशन के बीच ट्रायल कर रहा है.

180 स्पीड से दौड़ा इंजन
मंगलवार को रांवठा और लबान के बीच इंजन को फिर 180 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ाया गया. ट्रायल का पहला चरण 9 से 12 अगस्त तक चला था. रेलवे सूत्रों के मुताबिक दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर सेमी हाई स्पीड ट्रेनों की रफ्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटा किए जाने के बाद पैसेंजर ट्रेनों की औसत गति में भी 60 फीसदी तक बढ़ोतरी होने का अनुमान है. स्पीड बढ़ाने के बाद दिल्ली और मुंबई के बीच यात्रा के समय में साढ़े तीन घंटे की कमी आएगी.

सात राज्यों से होकर गुजरता है यह रेल मार्ग

इस मार्ग की कुल लंबाई 1,483 किलोमीटर है. यह रेलमार्ग सात राज्यों दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्यप्रदेश, गुजरात और महाराष्ट्र से होकर गुजरता है. इस परियोजना से क्षमता निर्माण, गति और सुरक्षा में वृद्धि होगी.

स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा
इस प्रोजेक्ट के तहत स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली का प्रयोग किया जाएगा. सरकार ने साल 2022-23 तक 6,806 करोड़ की लागत से दिल्ली-मुंबई और बडोदरा-अहमदाबाद सहित कई मार्गों पर गति बढ़ाकर 160 किलोमीटर प्रति घंटा करने के लिए स्वीकृति दे दी है. रेलवे द्वारा किए जा रहे कार्यों में तारबंदी, स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली और मोबाइल ट्रेन रेडियो संचार समेत कई चीजों को शामिल किया गया है.
Loading...

(रिपोर्ट: अर्जुन अरविंद) 

बकाएदारों पर मेहरबान हुई गहलोत सरकार, किया यह ऐलान

MBC Reservation Case: VC के जरिए आज HC में होगी सुनवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 12:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...