अपना शहर चुनें

States

Lockdown: BJP विधायक को कोटा ले जाने वाले ड्राइवर को विधानसभा सचिवालय ने किया सस्पेंड

पिछले दिनों विधानसभा सचिवालय ने ड्राइवर को शो कॉज कर जवाब मांगा था.
पिछले दिनों विधानसभा सचिवालय ने ड्राइवर को शो कॉज कर जवाब मांगा था.

नवादा जिले के हिसुआ से बीजेपी विधायक अनिल सिंह (BJP MLA Anil Singh) को लेकर कोटा जाने के जुर्म में विधान सभा सचिवालय के ड्राइवर को बुधवार को सस्पेंड कर दिया गया.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन के बीच नवादा जिले के हिसुआ से बीजेपी विधायक अनिल सिंह (BJP MLA Anil Singh) को कोटा जाकर बेटी की वापस लाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. बिहार विधानसभा सचिवालय ने बुधवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए ड्राइवर शिवमंगल चौधरी को सस्पेंड कर दिया. बीजेपी विधायक अनिल सिंह के कोटा जाकर वापस आने को लेकर पिछले दिनों विधानसभा सचिवालय ने ड्राइवर को शो कॉज कर जवाब मांगा था. बुधवार को विधानसभा सचिवालय ने ड्राइवर के जवाब से असंतुष्ट होते हुए सस्पेंड करने का निर्णय लिया है.

ड्राइवर के बाद विधायक पर उठने लगे सवाल
विधानसभा ड्राइवर के सस्पेंड होने के बाद विधायक अनिल सिंह पर कार्रवाई के दबाब बढ़ गया है. कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि बड़े लोगों को बचाने के लिए ड्राइवर को बलि का बकरा बनाया गया है. ड्राइवर खुद कोटा नहीं गया था बल्कि अनिल सिंह के कहने पर कोटा गया था. विधायक पर भी करवाई होनी चाहिए।

संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने दिए विधायक पर कार्रवाई के संकेत
अनिल सिंह के कोटा जाने को लेकर जेडीयू के वरिष्ठ नेता और संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कार्रवाई का इशारा किया है. श्रवण कुमार का कहना है कि जब विधायक के ड्राइवर को शो कॉज किया गया है तो माननीय से भी हर हाल में पूछताछ होनी चाहिए, क्योंकि कानून सब के लिए बराबर है. यही नहीं, श्रवण कुमार ने एक कदम और आगे बढ़ते हुए कहा कि बीजेपी को अपने विधायक पर कार्रवाई करनी चाहिए. क्योंकि सरकार के लॉकडाउन के फैसले का माननीय ने उलंघन किया है.



क्या है मामला
नवादा जिले में हिसुआ विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक अनिल सिंह 16 अप्रैल को राजस्थान के कोटा शहर के लिए रवाना हुए थे और शनिवार देर रात अपने पटना आवास पर लौट आए. सिंह को नवादा सदर अनुमंडल दंडाधिकारी द्वारा 15 अप्रैल को यात्रा पास जारी किया गया था जो कि रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इस खबर के सामने आते ही हंगामा मच गया.

पीके और तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर साधा था निशाना
बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने सत्ता में बैठे लोगों पर दोहरी नीति अपनाने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा था कि महामारी और विपदा की घड़ी में भी ये लोग आम और खास का वर्गीकरण कर राजनीति कर रहे हैं. वहीं, जेडीयू से बर्खास्त राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने वाहन पास दिखाते हुए नीतीश कुमार पर हमला बोला था. पीके ने ट्वीट करते हुए लिखा, ''कोटा में फंसे बिहार के सैकड़ों बच्चों की मदद की अपील को नीतीश कुमार ने यह कहकर खारिज कर दिया था कि ऐसा करना लॉकडाउन की मर्यादा के खिलाफ होगा. अब उन्हीं की सरकार ने बीजेपी के एक विधायक को कोटा से अपने बेटे को लाने के लिए विशेष अनुमति दी है. नीतीश जी अब आपकी मर्यादा क्या कहती है?''

ये भी पढ़ें-

लॉकडाउन में बेटी को कोटा से वापस ले आए BJP विधायक, सरकार ने दिए जांच के आदेश

लॉकडाउन के बीच BJP विधायक को कोटा का पास देने वाले नवादा के SDM सस्पेंड
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज