लाइव टीवी

वन विभाग की पहल पर मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में मनाई जा रही ईको फ्रेंडली दीपावली

News18 Rajasthan
Updated: October 26, 2019, 1:43 PM IST
वन विभाग की पहल पर मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में मनाई जा रही ईको फ्रेंडली दीपावली
कोटा के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में मनाया जाएगा ईको फ्रेंडली

कोटा में मुकुंदरा टाइगर रिजर्व (Mukundara Hills Tiger Reserve) के ग्रामीण इस बार पटाखों (Firecrackers) में पैसे बर्बाद न करते हुए ईको फ्रेंडली दिवाली (Eco Friendly Diwali) मनाने का फैसला लिया है.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) जिले में प्रदेश के तीसरे सबसे बड़े मुकुंदरा टाइगर रिजर्व (Mukundara Hills Tiger Reserve) के ग्रामीण इस बार पटाखों (Firecrackers) में पैसे बर्बाद न करते हुए ईको फ्रेंडली दिवाली (Eco Friendly Diwali) मनाने का फैसला लिया है.

दीप जलाकर और मिठाइयां खाकर मनाएंगे दिवाली

वन विभाग (Forest Department) की इस अनोखी पहल का स्वागत करते हुए वन्यजीवों (Wildlife) के प्रवास में किसी प्रकार का खलल नहीं होगा. सिर्फ दीप जलाकर, मिठाइयां व नए कपड़े पहनकर ईको फ्रेंडली दीपावली मनाएंगे. वन विभाग की इस पहल में ग्रामीणों ने अपनी सहमति जाहिर की है, ताकि पटाखों से होने वाली तेज आवाज वन्यजीवों को विचलित या आक्रोशित न कर सके. मालूम हो कि अक्सर जानवर तेज आवाजों से भयभीत होकर किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचा देते हैं, इसलिए पटाखों में पैसे जलाने से बेहतर ग्रामीणों ने दो पैसे बचाकर घर में दीप जलाकर दीपावली मनाने का निर्णय लिया है.

ग्रामीणों को किया गया जागरूक 

कोटा के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व के पदाधिकारी ने यहां बसे गांवों में ईको फ्रेंडली दीपावली मनाने को लेकर जन जागरण अभियान चलाकर ग्रामीणों को जागरूक किया है. इस जागरूकता के लिए गांव-गांव रेंजर अधिकारियों, फोरेस्ट गार्ड और वनकर्मियों ने कैंप लगाकर ग्रामीणों से ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने की समझाइश दी है.

इस पर ग्रामीणों ने भी एक आवाज में कहा कि वे वन्यजीवों को किसी भी तरह की पटाखे न जलाकर भयभीत नहीं करेंगे. पटाखों से जंगल में आग लगने का खतरा भी रहता है. ऐसे में रोशनी व दीपक जलाकर ही ग्रामीण दीवापली मनाएंगे.

दीपावली-deepawali
दीप जलाकर मनाया जा रहा दीपावली

Loading...

बोराबांस रेंजर संजीव गौतम ने ईको फ्रेंडली दिवाली मनाने की समझाइश का बोराबांस रेंज के भैरूपुरा गांव में ईको फ्रेंडली दीपावली ग्रामीणों के साथ मनाते हुए ग्रामीणों में मिठाई बांटी. मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में फिलहाल 2 बाघ और 2 बाघिन है. इसके अलावा 5 दर्जन से ज्यादा पैंथर, करीब 6 दर्जन से ज्यादा भालू, और जरख, शियार, लोमडी, चीतल, सांभर, चिंकारे, नीलगाय, समेत बड़ी संख्या में पक्षी आदि हैं.

(कोटा से अर्जुन अरविंद की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें:- कार से टकराने के बाद ऐसे हवा में उड़े बाइक सवार, CCTV में कैद हुआ हादसा

ये भी पढ़ें:- सवाई माधोपुर: मिठाई की दुकान में लगी भीषण आग, 10-15 लाख का नुकसान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 1:33 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...