Home /News /rajasthan /

Big News: कोटा-बूंदी में FCI और राजफेड किसानों का शत-प्रतिशत गेहूं खरीदेगी, यह है एक्शन प्लान

Big News: कोटा-बूंदी में FCI और राजफेड किसानों का शत-प्रतिशत गेहूं खरीदेगी, यह है एक्शन प्लान

बिरला ने कहा कि किसान अपनी उपज को बेचने के लिए 30 जून तक इंतजार नहीं करेंगे. किसान अपनी उपज को जल्द से जल्द अच्छी कीमत पर बेच सके इसके लिए नए केन्द्र खोले जाएं तथा नए टोकन भी जारी किए जाएं.

बिरला ने कहा कि किसान अपनी उपज को बेचने के लिए 30 जून तक इंतजार नहीं करेंगे. किसान अपनी उपज को जल्द से जल्द अच्छी कीमत पर बेच सके इसके लिए नए केन्द्र खोले जाएं तथा नए टोकन भी जारी किए जाएं.

Big news for Kota-Bundi farmers: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) ने कोटा-बूंदी जिला प्रशासन के साथ बैठक कर इस बात के निर्देश दिये हैं कि किसानों से गेहूं की शत-प्रतिशत खरीद की जाये.

कोटा. हाड़ौती संभाग के कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र ( Kota-Bundi Lok Sabha constituency) में क्षेत्र के किसानों के लिये बड़ी खबर सामने आयी है. यहां एफसीआई, राजफेड (FCI and Rajfed) और अन्य एजेंसियां किसानों (Farmers) से शत-प्रतिशत गेहूं खरीदेगी (wheat). इसके लिए खरीद केन्द्रों की क्षमता बढ़ाई जाएगी. खरीद के लिए नए केन्द्र खोले जाएंगे. गेहूं खरीद की प्रक्रिया जल्द पूरी हो इसके लिए नए टोकन भी जारी किए जाएंगे.

सोमवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने अपने संसदीय क्षेत्र में गेहूं खरीद की प्रक्रिया की समीक्षा के बाद इसकी जानकारी दी. कोटा-बूंदी क्षेत्र में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद में अव्यवस्थाओं को लेकर विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों ने लोकसभा अध्यक्ष बिरला को जानकारी दी थी. इसके बाद बिरला ने कोटा और बूंदी के जिला कलक्टर तथा एफसीआई और संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक की.

120 क्विंटल की सीलिंग को समाप्त करें
बैठक में बिरला ने कहा कि गेहूं खरीद प्रक्रिया के दौरान किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होंने 120 क्विंटल की सीलिंग को समाप्त करने के कड़े निर्देश दते हुए कहा कि एफसीआई, राजफेड और अन्य एजेसियां किसानों से शत-प्रतिशत गेहूं की खरीद करेंगी. बिरला ने कहा कि एफसीआई और राजफेड अपनी खरीद क्षमता को बढ़ाएंगे तथा प्रतिदिन खरीद की सीलिंग को भी समाप्त करेंगे.

उपज को बेचने के लिए 30 जून तक इंतजार नहीं करेंगे किसान
उन्होंने कहा कि किसान अपनी उपज को बेचने के लिए 30 जून तक इंतजार नहीं करेंगे. किसान अपनी उपज को जल्द से जल्द अच्छी कीमत पर बेच सके इसके लिए नए केन्द्र खोले जाएं तथा नए टोकन भी जारी किए जाएं. इससे किसानों का बारी जल्द आएगी. बैठक में कोटा कलक्टर उज्जवल राठौड़, बूंदी कलक्टर आशीष शर्मा, कोटा शहर पुलिस अधीक्षक विकास पाठक, ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शरद चैधरी, एफसीआई तथा अन्य संबंधित एजेंसियों के अधिकारी भी उपस्थित रहे.

Tags: Farmer, Lok sabha Speaker Om Birla, MSP of crops, Wheat crop

अगली ख़बर