लाइव टीवी

कोटा में फिर सड़क पर घूमता नजर आया भारी भरकम मगरमच्छ, रेस्क्यू कर काबू में किया

News18 Rajasthan
Updated: October 14, 2019, 2:08 PM IST
कोटा में फिर सड़क पर घूमता नजर आया भारी भरकम मगरमच्छ, रेस्क्यू कर काबू में किया
कोटा में गढ़ पैलेस के पीछे रेस्क्यू कर मगरमच्छ को पकड़ा

कोटा जिले में गढ़ पैलेस के पीछे कोटा बैराज की पुरानी पुलिया के रोड पर भारी भरकम खूंखार मगरमच्छ घूमता दिखाई दिया. वहीं वन् विभाग की टीम ने रेस्क्यू कर करीब दो घंटे में मगरमच्छ को पकड़ा.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान के कोटा (Kota) जिले में गढ़ पैलेस के पीछे कोटा बैराज (kota Barrage) की पुरानी पुलिया के रोड पर भारी भरकम खूंखार मगरमच्छ (Crocodile) घूमता दिखाई दिया. इसके बाद वन विभाग की टीम को सूचना दी गई. वन विभाग (Forest Department) की टीम ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू किया और करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद उसे काबू में किया. वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को पकड़कर मुकंदरा टाइगर रिजर्व के सावनभादो डैम में छोडा दिया.

2 घंटे की मश्कक्त के बाद मगरमच्छ पर पाया काबू

जानकारी के मुताबिक सुबह 5 बजे पुलिस कंट्रोल रूम पर कोटा बैराज डैम से गुजरने वाले लोगों ने सूचना दी. उन्होंने बताया कि गढ़ पैलेस के पीछे कोटा बैराज की पुरानी पुलिया के रोड पर 10 फीट से ज्यादा लंबा और ढाई क्विंटल से ज्यादा वजनी मगरमच्छ घूम रहा है. इसके बाद वन विभाग की टीम को सूचना दी गई. लोगों को देख मगरमच्छ भारी भरकम पत्थर से नाले में छिपा गया. वन विभाग की टीम ने जेसीबी मशीन मंगवाकर मगरमच्छ तक पहुंचने का रास्ता बनाया और करीब 2 घंटे की मश्कक्त के बाद मगरमच्छ को पकड़ लिया. मौके पर भारी तादाद में एकत्रित हुई भीड़ में से लोगों ने रेस्क्यू टीम की मदद करते हुए उसे वन विभाग के वाहन में चढाया, ऐसे में लोगों के और वन विभाग के पसीने छूट गए.

अब तक कोटा से 48 मगरमच्छों को पकड़ा जा चुका है

वन विभाग के रेस्क्यू दल के मुताबिक इस सीजन में अब तक कोटा में 48 मगरमच्छ पकड़े जा चुके है, जिनमें से कुछ को चंबल घड़ियाल सेंचुरी में छोड़ा, तो कुछ को मुंकदरा टाइगर रिजर्व के सावनभादो डैम में छोडा गया,. वन विभाग के कार्मियों ने बताया कि सीजन में पकड़े गए मगरमच्छ में यह तीसरा सबसे बड़ा मगरमच्छ है, जिसे पकड़ना खतरे से खाली नहीं था. वहीं स्थानीय लोगों ने कहा कि उन्होंने जिंदगी में इतना बड़ा मगरमच्छ नहीं देखा. उन्होंने कहा कि इस इलाके में अभी तीन से चार मगरमच्छ और है, जो कोटा बैराज डैम रोड पर रात के समय घूमते हैं.

( कोटा से अर्जुन अरविंद की रिपोर्ट )

यह भी पढ़ें- Good News: गहलोत सरकार राज्य कर्मचारियों को आज दे सकती है Diwali का तोहफा
Loading...

यह भी पढ़ें- बूंदी में तालाब में डूबे दो सगे मासूम भाई, दोनों की मौत, गांव में पसरा मातम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 2:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...