Assembly Banner 2021

Big News: कोटा रेल मंडल जल्द शुरू होगी 4 मेमू ट्रेन की सेवा, जानें संभावित रूट

रेलवे ने दैनिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन करने की घोषणा की है.

रेलवे ने दैनिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन करने की घोषणा की है.

Big News of Kota: कोटा में जल्द ही यात्रियों को मेमू ट्रेनों (Memu train) की सौगात मिलने वाली है. कोटा रेल मंडल (Kota Railway Division) 4 नई मेमू ट्रेनें शुरू करने जा रहा है. इनमें से एक ट्रेन तो कोटा पहुंच चुकी है.

  • Share this:
कोटा. कोटा रेल मंडल (Kota Railway Division) के छोटे स्टेशनों पर ट्रेनों के ठहराव की समस्या जल्द खत्म होने वाली है. इस समस्या का समाधान करने के लिए कोटा रेल मंडल छोटे स्टेशनों से यात्रियों को यात्रा कराने के लिए मेमू ट्रेन (Memu Train) संचालित करने जा रहा है. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Lok Sabha Speaker Om Birla) के प्रयास से कोटा रेल मंडल में जल्द मेमू ट्रेन शुरू होगी. कोटा रेल मंडल में छोटे स्टेशनों के लिए चार मेमू ट्रेन चलेंगी.

कोटा रेल मंडल को एक मेमू ट्रेन मिल चुकी है. तीन मेमू ट्रेन और आनी बाकी हैं. दो इंजन और 8 कोच वाली एक मेमू ट्रेन कोटा प्लेटफॉर्म पर आकर खड़ी हो गई है. ट्रेन का संचालन होने पर छोटे स्टेशन पर मेमू ट्रेन का ठहराव होगा. यह ट्रेन ग्रामीण इलाकों के लिए परिवहन की संजीवनी साबित होगी. इससे यात्री कम दूरी के नजदीक के इलाकों में आसानी से पहुंच सकेंगे.

फिलहाल ट्रेनों का रूट तय नहीं
कोटा रेल मंडल के वरिष्ठ वाणिज्य प्रबंधक अजय कुमार पाल के मुताबिक, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयास से यह मेमू ट्रेन कोटा रेल मंडल में संचालित की जा रही है. एक मेमू ट्रेन कोटा पहुंच चुकी है. बाकी ट्रेन के आने का इंतजार है. ये ट्रेनें कोटा रेल मंडल में किस रूट पर चलेगी फिलहाल यह तय नहीं हुआ है. इस बारे में जल्द ही फैसला किया जाएगा.
बेहद सुविधाजनक हैं ये ट्रेनें


संभावना जताई जा रही है कि मेमू ट्रेन का संचालन कोटा रेल मंडल प्रशासन कोटा-नागदा स्टेशन के बीच करेगा. दूसरा संभावित रूट कोटा-बीना है. उम्मीद की जा रही है कि मेमू ट्रेन संचालन का शुभारंभ केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के द्वारा किया जाएगा. मेमू ट्रेन में यात्रियों के बैठने के लिए शानदार सीटें लगी हुई हैं. साथ ही सीट नहीं मिलने की एवज में खड़े रहने वाले यात्रियों के लिए हर कोच में हैंगिंग हैंडल लगे हैं, ताकि ट्रेन चलने के दौरान यात्री अपना संतुलन बना कर खड़ा रह सकें. हर कोच में 4 बड़े गेट हैं जहां से यात्री आसानी से चढ़ और उतर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज