Rajasthan News: कोटा की यह योजना अब दिलाएगी 5000 लोगों को रोजगार, आप भी बन सकते हैं हिस्‍सेदार

शर्मा ग्रुप की ओर से प्रस्तुत डीपीआर के अनुसार योजना में 165 करोड़ का निवेश किया जाना प्रस्तावित है.

शर्मा ग्रुप की ओर से प्रस्तुत डीपीआर के अनुसार योजना में 165 करोड़ का निवेश किया जाना प्रस्तावित है.

Kota's Devnarayan Nagar Integrated Housing Scheme: कोटा नगर विकास न्यास की योजना अब रोजगारपरक होने जा रही है. इसमें निवेश करने के लिये इटली का शर्मा ग्रुप आगे आया है. इसके जरिये करीब 5000 लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार (Employment) मिलेगा.

  • Share this:

कोटा. कोचिंग सिटी कोटा के नगर विकास न्यास की ओर से विकसित की जा रही देवनारायण नगर एकीकृत आवासीय योजना (Devnarayan Nagar Integrated Housing Scheme) पशुपालकों के लिए देश में अपने आप में एक अलग योजना है. इस योजना को अब निवेशक भी मिलने लगे हैं. इसके जरिये इटली के शर्मा ग्रुप की ओर से एक्सपोर्ट क्वालिटी के दुग्ध उत्पाद तैयार करने की प्रस्तावित परियोजना से लगभग 5 हजार लोगों को प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार (Employment) उपलब्ध हो सकेगा. इस परियोजना में 165 करोड़ रुपए का निवेश किया जाना प्रस्तावित है.

माइक्रो एवं लघु डेयरी क्लस्टर योजना के लिए कंपनी की ओर से 9 हेक्टेयर में विकसित तथा 5.25 हेक्टेयर अविकसित भूमि के प्रावधान का उपयोग मानते हुए डीपीआर प्रस्तुत की गई है. शर्मा ग्रुप की ओर से इसको लेकर नगर विकास न्यास के मंथन सभागार में पॉवर प्वाइंट प्रेजेंटेशन दिया गया है.

165 करोड़ रुपए का किया जाएगा निवेश

शर्मा ग्रुप की ओर से प्रस्तुत डीपीआर के अनुसार योजना में 165 करोड़ का निवेश किया जाना प्रस्तावित है. योजना में 234 माइक्रो एवं स्मॉल यूनिट तैयार की जाएंगी. इसमें एक्सपोर्ट क्वालिटी के विभिन्न दुग्ध उत्पाद जैसे पैकेज्ड मिल्क, फ्लेवर्ड मिल्क, योगर्ट, दही, बटर मिल्क, मावा, खोया, पनीर, चीज, मिल्क चोकलेट, सोया मिल्क, टोफू पनीर, मिठाइयां, आईसक्रीम, क्रीम और शुद्ध घी तैयार किए जाएंगे.
5 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार

इस परियोजना से लगभग 5000 लोगों को प्रत्यक्ष तथा अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार उपलब्ध होगा. शर्मा ग्रुप की ओर से देवनारायण स्मार्ट इंटरप्राइजेज पार्क के नाम से एसपीवी का गठन प्रस्तावित किया है. इसके माध्यम से परियोजना का क्रियान्वयन किया जाएगा. इस परियोजना से देवनारायण योजना के पशुपालकों से घर-घर जाकर दूध का संकलन किया जाएगा.

तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाएगा



पशुओं को चिकित्सा सुविधा और टीकाकरण करवाया जाएगा. पशुपालकों को उत्तम क्वालिटी का पशु आहार डोर स्टेप पर उपलब्ध करवाया जाएगा. पशुपालकों को पशुपालन से संबंधित तकनीकी प्रशिक्षण दिया जाएगा. उद्यमियों को तकनिकी ट्रेनिंग, प्रोडक्ट के क्वालिटी कंट्रोल, मार्केटिंग, प्रशिक्षण, महंगे उपकरण, पैकिंग मशीन, लैब तथा कॉमन फैसिलिटी उपलब्ध करवाई जाएगी.

विभिन्न सुविधाएं मिलेंगी

इसके साथ ही कॉमन चिलिंग प्लांट, वेयरहाउस, कॉमन पैकिंग मशीन, मार्केटिंग और ट्रांसपोर्ट इत्यादि समस्त सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाऐगी. शर्मा ग्रुप की इस परियोजना का कार्य 9 से 12 माह में पूर्ण कर लिया जायेगा. इस दौरान सभागार में नगर विकास न्यास के सलाहकार आरडी मीणा, सचिव राजेश जोशी, उपसचिव चंदन दुबे, अधिशासी अभियंता राजेंद्र कुमार राठौर, मुख्य लेखाधिकारी टीपी मीणा और उप नगर नियोजक महावीर सिंह मीणा आदि उपस्थित रहे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज