अपना शहर चुनें

States

कोरोना काल में कोटा के कोचिंग स्टूडेंट्स को 24 घंटे मिलेगी मुफ्त चिकित्सा सुविधा

देशभर से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए कोटा आने वाले हर विद्यार्थी को सुरक्षित माहौल मिले 24 घंटे चिकित्सा सुविधा निशुल्क मिल सकेगी
देशभर से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए कोटा आने वाले हर विद्यार्थी को सुरक्षित माहौल मिले 24 घंटे चिकित्सा सुविधा निशुल्क मिल सकेगी

कोटा (Kota) में मोशन एजुकेशन और आयु एप ने पहल करते हुए स्टूडेंट्स की हेल्थ केअर एप बेस्ड मॉनिटरिंग शुरू की है. इसके माध्यम से स्टूडेंट्स की हेल्थ मॉनिटरिंग से लेकर हिस्ट्री और डॉक्टरों के परामर्श से लेकर दवा पहुंचाने तक का काम किया जाएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 7:00 PM IST
  • Share this:
कोटा. मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए मशहूर कोचिंग सिटी कोटा (Kota) अब कोरोना संक्रमण के दौर में स्टूडेंट्स की हेल्थ केयर (Health Course) के लिए भी पहचाना जाएगा. कोटा में मोशन एजुकेशन और आयु एप ने पहल करते हुए स्टूडेंट्स की हेल्थ केअर एप बेस्ड मॉनिटरिंग शुरू की है. इसके माध्यम से स्टूडेंट्स की हेल्थ मॉनिटरिंग से लेकर हिस्ट्री और डॉक्टरों के परामर्श से लेकर दवा पहुंचाने तक का काम किया जाएगा. इससे देशभर से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए कोटा आने वाले हर विद्यार्थी को सुरक्षित माहौल मिले 24 घंटे चिकित्सा सुविधा निशुल्क मिल सकेगी.

मोशन एजुकेशन के निर्देशक नितिन विजय ने दावा किया है कि हर विद्यार्थी स्वस्थ रहे यही हमारी प्राथमिकता है, और इसके लिए आयु एप के जरिए एप बेस्ड मॉनिटरिंग और एक्सपर्ट डॉक्टर की 24 घंटे सुविधा के अलावा, हॉस्टल, पीजी तक दवाइयों की डिलिवरी पहली बार कोटा से शुरू की जाएगी. यह ऐसी सुविधा होगी जिसमें स्टूडेंट्स को कोविड-फ्री रखने का पूरा प्रयास किया जाएगा. वहीं आयु ऐप के को-फाउंडर श्रेयांश मेहता ने कोचिंग स्टूडेंट्स के लिए की गई शुरुआत को मौजूदा माहौल में विद्यार्थियों के लिए सुरक्षित बताया. उन्होंने कहा कि स्टूडेंट की मॉनिटरिंग के साथ यदि किसी डॉक्टर से परामर्श लेना है तो भी आयु ऐप के माध्यम से 24 घंटे में कभी भी ऐसा किया जा सकेगा. शहर ही नहीं बल्कि बड़े और नामचीन डॉक्टरों से परामर्श भी एप के माध्यम से स्टूडेंट्स ले सकेंगे.

विजय ने कहा कि इसके अलावा रोजाना एप के माध्यम से स्टूडेंट्स के सिम्टम्स का असाइनमेंट किया जाएगा, और इस पहल को आगे बढ़ाते हुए स्टूडेंट की हेल्थ चेकअप भी इसी माध्यम से करने की तैयारी की जा रही है. बुधवार को एप के पोस्टर का मोशन एजुकेशन के निर्देशक और आयुर्वेद के को-फाउंडर श्रेयांश मेहता सहित टीम के सदस्यों ने किया. शुरुआती तौर पर 10 हजार स्टूडेंट्स को ऐप से जोड़ा जा रहा है जैसे-जैसे कोटा में स्टूडेंट्स पहुंचेंगे उनको इस एप से जोड़कर उसका लाभ पहुंचाया जाता रहेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज