लाइव टीवी

बच्चों की मौत पर बवाल के बाद सचिन पायलट ने अस्पताल का किया दौरा, कहा- जवाबदेही तय करनी होगी
Kota News in Hindi

Shakir Ali | News18 Rajasthan
Updated: January 4, 2020, 4:40 PM IST
बच्चों की मौत पर बवाल के बाद सचिन पायलट ने अस्पताल का किया दौरा, कहा- जवाबदेही तय करनी होगी
परिजनों ने डिप्टी सीएम पायलट को अस्पताल में इलाज के दौरान सुरक्षाकर्मियों के बर्ताव सहित अन्य शिकायतें की.

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि राज्य में 13 महीने से सरकार में होने के बाद बच्चों की मौत के लिए पुरानी सरकार के रवैये को जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं. सरकार को और संवेदनशील होना होगा

  • Share this:
कोटा. राजस्थान (Rajasthan) के कोटा शहर (Kota) में बच्चों की मौत (Death) पर मचे बवाल के बाद शनिवार को डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) ने जेके लोन अस्पताल (JK Lon Hospital) का दौरा किया. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार उन्होंने कहा कि सरकार आंकड़ों में फंसाकर जिम्मेदारी से बच नहीं सकती, जवाबदेही तय करनी होगी. उन्होंने इस मसले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के दिए बयान पर कहा कि सरकार को ऐसे मामलों में और अधिक संवेदनशील होना होगा. पायलट ने कहा कि तेरह महीने से सरकार में होने के बाद बच्चों की मौत के लिए पुरानी सरकार के रवैये को जिम्मेदार ठहराना उचित नहीं.

इससे पहले शनिवार को कोटा पहुंचने पर उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. वो सबसे पहले शहर के छतरपुरा इलाके में पहुंचे. पायलट ने इस दौरान बच्चों की मौत पर दुख जताते हुए पीड़ितों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया.





सुरक्षाकर्मियों के बर्ताव सहित अन्य शिकायतें आईं सामने
उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट छतरपुरा इलाके में संजय रावल के घर पहुंचे. संजय रावल के छह माह के बेटे तेजस की 23 दिसंबर को इलाज के दौरान मौत हो गई थी. उन्होंने संजय रावल और उनके परिजनों से मुलाकात की. परिजनों ने सचिन पायलट से अस्पताल में इलाज के दौरान सुरक्षाकर्मियों के बर्ताव सहित अन्य शिकायतें की. पायलट ने बच्चे की मौत पर अफसोस जताते हुए उन्हें हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया. उन्होंने कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. उसके बाद वो विज्ञान नगर इलाके में भी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे और उनको ढांढस बंधाया. पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद डिप्टी सीएम पायलट जेके लोन अस्पताल का दौरा करेंगे और वहां अधिकारियों की बैठक भी लेंगे.

107 बच्चों की मौत हो चुकी है
इससे पहले शनिवार को भी जेके लोन अस्पताल में एक और बच्चे की मौत हो गई है. इसे मिलाकर दिसबंर से लेकर अभी तक यहां कुल बच्चे दम तोड़ चुके हैं. शिशुओं की लगातार हो रही मौत पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने बच्चों की मौत पर राज्य सरकार से जवाब तलब करते हुए नोटिस जारी किया है. आयोग ने मीडिया रिपोर्ट्स के आधार पर इस मामले में स्वत: संज्ञान लिया है. आयोग ने राज्य सरकार को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है.

ये भी पढ़ें-

कोटा के अस्पताल में 1 और बच्चे ने तोड़ा दम, गलत ब्लड देने से मां की भी मौत

जोधपुर: युवक के साथ दरिंदगी, हाथ-पैर बांधकर पेशाब पिलाया, बाल और भौहें काटी
First published: January 4, 2020, 2:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading