अपना शहर चुनें

States

Kota News: बाजार में आए आटे-गुड़ से बने कप, इस्तेमाल के बाद गायों को खिलाएं

आटा और गुड़ से बने कप अच्छे विकल्प हैं.
आटा और गुड़ से बने कप अच्छे विकल्प हैं.

Kota News: आटा और गुड़ से बने कप अच्छे विकल्प हैं. पर्यावरण की दृष्टि से तो अनुकूल है हीं उपयोग के बाद भी इन्हें गायों को खिलाने के काम में लिया जा सकता है. इन कप के उपयोग का लाभ किसानों और महिलाओं को भी होता है.

  • Share this:
कोटा. बाजार में चाय पीने के शौकीन लोग अब खाली कप गायों को खिला सकेंगे. दिल्ली की आटा वेयर कंपनी ने आटे और गुड़ से बने ऐसे कप तैयार किए हैं जो उपयोग के बाद मवेशियों को खिलाए जा सकते हैं. कंपनी संचालकों ने यह कप कोटा उपभोक्ता होलसेल भंडार लिमिटेड के अध्यक्ष हरिकृष्ण बिरला को दिखाए. हरीकृष्ण बिरला अब कोटा में भी इन कपो के इस्तेमाल को लेकर तैयारी कर रहे हैं.

कंपनी के प्रतिनिधि आशुतोष रंगिया दीपक वर्मा ने बताया कि अभी तक बाजार में ऐसे कप उपलब्ध हैं जो उपयोग के बाद बेकार होते हैं तथा उन्हें सड़क पर फेंक किया जाता है. ये कप प्लास्टिक मटेरियल से बने होते हैं जिनसे न सिर्फ पर्यावरण को नुकसान होता है बल्कि सड़क पर फेंक दिए जाने के बाद अक्सर गाय व अन्य पशुओं ने इन्हें खाते हैं तथा बीमार हो जाते हैं.

किसानों और महिलाओं को भी होता है लाभ


कंपनी द्वारा आटा और गुड़ से बने कप इसका अच्छा विकल्प है. यह पर्यावरण की दृष्टि से तो अनुकूल है हीं उपयोग के बाद भी इन्हें गायों को खिलाने के काम में लिया जा सकता है. इन कप के उपयोग का लाभ किसानों और महिलाओं को भी होता है. जहां एक और किसानों से उनकी उपज खरीद कप के निर्माण में उपयोग किया जाता है वहीं निर्माण कार्य में महिला श्रम शक्ति का उपयोग किया जाता है. उन्हें भी रोजगार मिलता है.
उन्होंने बताया कि मार्च में कुंभ मेले के दौरान व्यापक स्तर पर इन कप्स का उपयोग किया जाएगा. समाजसेवी हरि कृष्ण बिरला ने इस अवसर पर कहा कि आज जब पर्यावरण संरक्षण को लेकर व्यापक चिंता जताई जा रही है वहां इस तरह के प्रयास एक कारगर उपाय का काम कर सकते हैं. इस अवसर पर भजपा महिला मोर्चा की पूर्व जिलाध्यक्ष अनुसूया गोस्वामी एवं मंत्री पद्मिनी हाडा मौजूद थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज