कोटा: पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया, पूछताछ जारी

भीमगंज मंडी थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इमरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों और वाट्सऐप समूहों के जरिये लगातार पाकिस्तानी लोगों के संपर्क में था. (सांकेतिक चित्र)
भीमगंज मंडी थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इमरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों और वाट्सऐप समूहों के जरिये लगातार पाकिस्तानी लोगों के संपर्क में था. (सांकेतिक चित्र)

कोटा शहर के पुलिस अधीक्षक गौरव यादव (Gaurav Yadav) ने कहा कि संदिग्ध की पहचान उत्तर प्रदेश के बागपत के निवासी इमरान के रूप में हुई है. वह शहर के सैन्य क्षेत्र में अनुबंध पर बढ़ई का काम करता है.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान (Rajasthan) के कोटा जिले (Kota District) में सेना के अधिकारियों ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों के जरिये कथित रूप से पाकिस्तान (Pakistan) के लिये जासूसी करने वाले 30 वर्षीय व्यक्ति को शनिवार उसके कार्यस्थल से हिरासत में ले लिया. वह उत्तर प्रदेश का रहने वाला है और कोटा सैन्य क्षेत्र में अनुबंध पर बढ़ई का काम करता है. सेना, पुलिस और खुफिया एजेंसियों की टीमें संदिग्ध जासूस (sneak) से संयुक्त रूप से पूछताछ कर रही हैं.

कोटा शहर के पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने कहा कि संदिग्ध की पहचान उत्तर प्रदेश के बागपत के निवासी इमरान के रूप में हुई है. वह शहर के सैन्य क्षेत्र में अनुबंध पर बढ़ई का काम करता है. शनिवार को उसे उसके कार्यस्थल से पकड़ा गया. वह बीते दो महीने से यहां काम कर रहा है. भीमगंज मंडी थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इमरान सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों और वाट्सऐप समूहों के जरिये लगातार पाकिस्तानी लोगों के संपर्क में था.

दो जासूसों को गिरफ्तार किया था
बता दें कि बीते जून महीने में भी राजस्थान इंटेलीजेंस (Rajasthan Intelligence) ने सैन्य ठिकानों पर सेना की गतिविधियों की गोपनीय और संवेदनशील सूचना पाकिस्तान खुफिया एजेंसी से साझा करने के मामले में दो जासूसों को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार किए गए जासूसों में गंगानगर में कार्यरत सिविल डिफेंसकर्मी ट्रेडमैन विकास तिलोतिया और महाजन फील्ड फॉयरिंग रेंज बीकानेर में कार्यरत संविदाकर्मी चिमललाल नायक थे. इन दोनों को बीकानेर से पकड़ा गया था. ये पाकिस्तानी की खुफिया एजेंसी को सामरिक सूचनाएं दे रहे थे.
पाकिस्तान से चलाई जा रही थी फेसबुक आईडी


एडीजी इंजेलीजेंस उमेश मिश्रा ने बताया था कि दोनों ही आरोपियों के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है. भारतीय सेना, उत्तर प्रदेश एटीएस और राजस्थान पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में इनको पकड़ा गया था. इस ऑपरेशन का नाम 'डेजर्ट चेज' रखा गया था. एमआई लखनऊ को जानकारी मिली थी की पाक की ओर से अनुष्का चोपड़ा नाम की फेसबुक आईडी से राजस्थान के दो लोगों से संपर्क किया जा रहा है. यह फेसबुक आईडी पाकिस्तान से चलाई जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज