• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • कोचिंग सिटी कोटा को मिलेगी एक और सेटेलाइट रेलवे स्टेशन ‘सोगरिया’ की सौगात, यहां रुकेंगी ये ट्रेनें

कोचिंग सिटी कोटा को मिलेगी एक और सेटेलाइट रेलवे स्टेशन ‘सोगरिया’ की सौगात, यहां रुकेंगी ये ट्रेनें

सोगरिया स्टेशन पर जबलपुर से अजमेर और अजमेर से जबलपुर, भोपाल से जोधपुर और जोधपुर से भोपाल समेत कई अहम ट्रेनों का ठहराव शुरू हो जायेगा‌.

सोगरिया स्टेशन पर जबलपुर से अजमेर और अजमेर से जबलपुर, भोपाल से जोधपुर और जोधपुर से भोपाल समेत कई अहम ट्रेनों का ठहराव शुरू हो जायेगा‌.

Kota Railway Division News: कोचिंग सिटी कोटा को एक और सेटेलाइट रेलवे स्टेशन की सौगात मिलने जा रही है. कोटा के पास स्थित सोगरिया रेलवे स्टेशन तैयार हो गया है. इसे जल्द ही शुरू कर दिया जायेगा. कोटा का यह तीसरा स्टेशन होगा, यहां कई महत्वपूर्ण ट्रेनों का ठहराव होगा.

  • Share this:

कोटा. दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग (Delhi-Mumbai Rail Route) के प्रमुख स्टेशनों में से एक कोटा (Kota) को एक और सेटेलाइट स्टेशन की सौगात मिलने जा रही है. कोटा रेलवे स्टेशन के पास स्थित डकनिया के बाद अब तीसरे सोगरिया रेलवे स्टेशन (Sogaria Railway Station) का कार्य लगभग पूरा हो चुका है. इसको अगस्त महीने में जनता को समर्पित करने की तैयारियां हैं.

सेटेलाइट सोगरिया स्टेशन पर हाई लेवल प्लेटफॉर्म, पैदल ऊपरी पुल, परिभ्रमण क्षेत्र, फसाड लाइट, नया स्टेशन भवन, कवर ओवर शेड आदि विकास कार्य लगभग पूरे हो गए हैं. यहां क्विक वाटरिंग सिस्टम (Quick Watering System) लगाने के बाद उसका परीक्षण भी सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है.

इन ट्रेनों का होगा स्टापेज
वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक अजय कुमार पाल ने बताया कि आने वाले दिनों में सोगरिया स्टेशन पर जबलपुर से अजमेर और अजमेर से जबलपुर, भोपाल से जोधपुर और जोधपुर से भोपाल, भागलपुर से अजमेर एवं अजमेर से भागलपुर के अलावा कोलकाता-अजमेर, अजमेर-कोलकाता और संतरागाछी-अजमेर आदि ट्रेनों का ठहराव शुरू हो जायेगा‌.

क्विक वाटरिंग सिस्टम, क्रू चेंजिंग पॉइंट भी
इन रेलगाड़ियों में पानी भरने के लिए क्विक वाटरिंग सिस्टम लगाया गया है. इससे रेलगाड़ियों को कोटा जंक्शन तक लाने की जरूरत नहीं रहेगी और इंजन के रिवर्सल आदि में लगने वाले आधा घंटा समय की बचत होगी. क्रू चेंजिंग पॉइंट (Crew Changing Point) भी सोगरिया स्टेशन को ही बना दिया जाएगा. इससे यात्री गाड़ियों के समय की बचत होगी तथा 24 कोचों वाली ट्रेन के सभी डिब्बों में महज 4 से 5 मिनट के भीतर पानी भरना संभव होगा.

लोकसभाध्यक्ष ओम बिरला भी कर चुके हैं निरीक्षण कोटा मुख्यालय सहित आसपास के छोटे स्टेशनों के विकास को लेकर लोकसभाध्यक्ष (Lok Sabha Speaker) ओम बिरला लगातार सक्रिय हैं. उन्होंने रेलवे यात्रियों की सुविधा में इजाफे को लेकर पिछले दिनों हाड़ौती के सभी छोटे बड़े रेलवे स्टेसन का रेलवे अधिकारियों के साथ निरीक्षण किया था. बिरला ने छोटे स्टेशनों पर संसाधनों में बढ़ोतरी कर यात्रियों को सभी तरह की सुविधायें उपलब्ध कराने के निर्देश दिये थे.

आधुनिक वाटरिंग सिस्टम भी हुआ तैयार
कोटा में ट्रेनों में पानी भरने के लिए अत्याधुनिक कैमटैक डिजाइन का वाटरिंग सिस्टम स्थापित किया गया है. इसके लिए इंजीनियरिंग विभाग की टीम की ओर से ढाई लाख लीटर क्षमता की आरसीसी से निर्मित ओवरहेड टैंक का निर्माण किया गया है. इसके साथ ही 2 बोरवेल भी बनाए गए हैं. लगभग 6 इंच व्यास का और 590 मीटर लंबाई का वाटर हाइड्रेंट लगाया गया है. इसके अलावा लाइन नंबर 1 और 2 के बीच पानी की निकासी के लिए पक्का ड्रेनेज सिस्टम भी बनाया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज