• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan: कोटा रेल मंडल के मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर से 'Mission Raftaar’ को मिलेगी रफ्तार, यात्रियों को सुविधा

Rajasthan: कोटा रेल मंडल के मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर से 'Mission Raftaar’ को मिलेगी रफ्तार, यात्रियों को सुविधा

इस काम के पूरा होने के बाद 160 किलोमीटर प्रति घंटे की मिशन रफ्तार की दिशा में काफी मदद मिलेगी.

Indian Railway News: कोटा रेल मंडल ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है. मंडल में गंगापुर सिटी-दौसा नई रेल लाइन की डायरेक्ट कनेक्टिविटी गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन से हो गई है‌. अब यहां से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से रेलगाड़ियां गुजर सकेंगी.

  • Share this:
कोटा. कोटा रेल मंडल (Kota Railway Division) में गंगापुर सिटी-दौसा नई रेल लाइन की डाइरेक्ट कनेक्टिविटी गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन से हो गई है‌. गंगापुर सिटी में यार्ड रीमॉडलिंग (Yard remodeling) का काम पूरा हो गया है. यहां नया पैनल इंटरलॉकिंग सिस्टम स्थापित कर दिया गया है. इस काम के पूरा होने के बाद गंगापुर सिटी में 90 किलोमीटर प्रति घंटे की गति का प्रतिबंध भी समाप्त हो गया है. अब गंगापुर सिटी यार्ड और रेलवे स्टेशन से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से रेलगाड़ियां गुजर सकेंगी. इस काम के लिए प्री नॉन इंटरलॉकिंग और उसके बाद नॉन इंटरलॉकिंग कार्य युद्धस्तर पर 12 जुलाई से शुरू किया गया था. इस कार्य के पूरा हो जाने से रेलवे के ‘मिशन रफ्तार’ को भी गति मिलेगी.

नए सिस्टम की वजह से कई फायदे होंगे. स्टाफ की बचत होगी. सभी पुराने अवधि पार गियर समाप्त हो जाएंगे. अनावश्यक कर्व हट जाएंगे. फैल्योर में कमी आएगी. संरक्षा मजबूती होगी. गति प्रतिबंध समाप्त हो जाएंगे. इससे रेलगाड़ियों की गति में सुधार हो जाएगा. एनआई वर्क के बाद गंगापुर सिटी से दौसा में नवनिर्मित रेलवे लाइन की डाइरेक्ट कनेक्टिविटी स्टेशन से हो जाएगी‌. अब रेलगाड़ियों को किसी भी प्लेटफार्म पर लेना और वहां से रवाना करना संभव होगा. मंडल रेल प्रबंधक (DRM) पंकज शर्मा ने इस कार्य के विधिवत रूप से पूरा होने की ऑनलाइन घोषणा की.

160 किलोमीटर प्रति घंटे की मिशन रफ्तार की दिशा में मदद मिलेगी
वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक अजय कुमार पाल ने बताया कि अब गंगापुर सिटी स्टेशन से दौसा होते हुए जयपुर की तरफ रेलगाड़ियां चलाने के लिए एक और वैकल्पिक मार्ग की सुविधा हो गई है. उन्होंने बताया कि बरसों पुराने ले आउट में फैल्योर की संभावना अधिक रहती थी. इस काम के पूरा होने के बाद दौसा की तरफ से गंगापुर सिटी स्टेशन पर आने वाली और दौसा की तरफ को जाने वाली रेलगाड़ियों को गंगापुर सिटी स्टेशन के किसी भी प्लेटफार्म पर लाना और रवाना करना आसान हो जाएगा. इस काम के पूरा होने के बाद 160 किलोमीटर प्रति घंटे की मिशन रफ्तार की दिशा में काफी मदद मिलेगी.

आधुनिक प्रणाली का सिस्टम स्थापित किया
कोटा यार्ड रीमॉडलिंग और रूट रिले इंटरलॉकिंग काम के बाद गंगापुर सिटी में हुआ यह कार्य कोटा रेल मंडल का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट (Infrastructure Development) के कार्यों में से एक है. इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट की दिशा में ये एक तरह से मील का पत्थर (Mile Stone) साबित होगा. इस काम के दौरान अवधि पार पुराने सभी सिग्नलिंग गियर समाप्त कर दिए गए हैं. वहीं जो अनावश्यक कर्व रेलवे लाइन में पड़ते थे वो भी हटा दिए गए हैं. गैरजरूरी पॉइंट्स भी शिफ्ट कर दिए गए हैं. उनके स्थान पर आधुनिक प्रणाली का सिस्टम स्थापित किया गया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज