लाइव टीवी

कोटा: 1100 इंजेक्शन देकर बचाई मरीज की जान, पी लिया था घातक कीटनाशक

News18 Rajasthan
Updated: November 20, 2019, 8:41 PM IST
कोटा: 1100 इंजेक्शन देकर बचाई मरीज की जान, पी लिया था घातक कीटनाशक
बारां जिले के मामोनी निवासी सुनील को 10 नवंबर को आधी रात को मरणासन्न अवस्था में बारां से रेफर करवाकर कोटा लाया गया था.

कोटा (Kota) संभाग के सबसे बड़े महाराव भीम सिंह अस्पताल (MBS Hospital) में पॉइजनिक (Poisonic) का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें मरीज को 1100 इंजेक्शन (Injection) देकर उसकी जान बचाई (Saved life) गई है. मरीज ने घातक किस्म का कीटनाशक (Deadly pesticide) पी लिया था.

  • Share this:
कोटा. संभाग के सबसे बड़े महाराव भीम सिंह अस्पताल (MBS Hospital) में पॉइजनिक (Poisonic) का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसमें मरीज को 1100 इंजेक्शन (Injection) देकर उसकी जान बचाई (Saved life) गई है. मरीज ने घातक किस्म का कीटनाशक (Deadly pesticide) पी लिया था. इस तरह के खतरनाक कीटनाशक को 5 से 10 एमएल पीने से ही व्यक्ति दम तोड़ (Death) देता है, जबकि इस मरीज ने उसे करीब 50 एमएल तक गटक लिया था. उसके बावजूद चिकित्सकों ने उसकी जान बचा ली.

मरणासन्न हालत में लाया गया था मरीज
एमबीएस अस्पताल के मेडिसन विभाग के डॉ. सीपी मीणा ने बताया कि मामोनी निवासी सुनील को 10 नवंबर को आधी रात को मरणासन्न अवस्था में बारां से रेफर करवाकर कोटा लाया गया था. सुनील ने घातक किस्म का कीटनाशक पी लिया था. इससे उसकी हालत बेहद गंभीर हो गई थी. स्थिति को देखते हुए सुनील को तत्काल वेंटिलेटर पर लेकर उसे हाई डोज दी गई.



करीब 50 एमएल घातक कीटनाशक को गटक गया था
सुनील उस समय कुछ बताने की स्थिति में नहीं था. परिजनों से पूछताछ के बाद उस कीटनाशक का डिब्बा मंगवाया गया जिसका सुनील ने सेवन किया था. तब पता चला कि जिस कीटनाशक का उसने सेवन किया वह बेहद खतरनाक था. उसमें ऑर्गेनो फॉस्फेट कंपाउड्स होता है. उस कीटनाशक को 5 से 10 एमएल पीने से ही इंसान की 4-5 घंटे में मौत हो जाती है, जबकि सुनील ने करीब एक कप (50 एमएल) तक उसे गटक लिया था. इस पर उसे एट्रोपीन एंटीडोज के इंजेक्शन दिए गए. 10 दिनों में 1100 एंटीडोज इंजेक्शन दिए गए. करीब 10 दिन तक जिंदगी और मौत के बीच झूलने के बाद आखिरकार सुनील की जान बच गई. अब वह सामान्य स्थिति में है.

कोटा का पहला मामला है यह
Loading...

बकौल डॉ. मीणा एक इंजेक्शन की 1 एमएल की वॉइल होती है. किसी भी मरीज को इस तरह से एंटीडोज 1100 इंजेक्शन लगाने का कोटा में पहला और दुर्लभ मामला है.

(रिपोर्ट: ओमप्रकाश मारू)

निकाय चुनाव: सभी 49 निकायों में प्रमुख के पद के लिए पर्चा दाखिल करेगी BJP

निकाय चुनाव: CM अशोक गहलोत का चला जादू, BJP को लगा तगड़ा झटका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...