लाइव टीवी

कोटा: पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो पीड़ित ने एसपी ऑफिस में खाया जहर, हड़कंप मचा

News18 Rajasthan
Updated: October 14, 2019, 4:51 PM IST
कोटा: पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो पीड़ित ने एसपी ऑफिस में खाया जहर, हड़कंप मचा
गिरिराज का कहना है कि हर बार पुलिसकर्मी घर पर आते हैं और चाय पीकर चले जाते हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं करते. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

कोटा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कार्यालय (Kota Rural Superintendent of Police Office) में सोमवार को उस समय हड़कंप मच गया जब एक युवक ने सल्फॉस खाकर सुसाइड करने का प्रयास (Attempt to suicide) किया. बाद में युवक को आनन-फानन में गंभीर हालत (Critical condition) में एमबीएस अस्पताल (MBS Hospital) में करवाया भर्ती करवाया गया.

  • Share this:
कोटा. ग्रामीण पुलिस अधीक्षक कार्यालय (Rural Superintendent of Police Office) में सोमवार को उस समय हड़कंप मच गया जब एक युवक ने सल्फॉस खाकर सुसाइड करने का प्रयास (Attempt to suicide) किया. बाद में युवक को आनन-फानन में गंभीर हालत (Critical condition) में एमबीएस अस्पताल (MBS Hospital) में करवाया भर्ती करवाया गया. उसके बाद अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस जाब्ता (Police Force) लगा दिया गया. पुलिस के आला अधिकारी भी अस्पताल पहुंचे और युवक के स्वास्थ्य की जानकारी ली. युवक ने सुनवाई नहीं होने से तंग आकर यह कदम उठाया था.

भाई ने जमीन हड़प ली, पुलिस ने कार्रवाई नहीं की
जानकारी के अनुसार कैथून के घगटाना निवासी गिरिराज ने अपने भाई के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए 3 बार कैथून थाना पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी. गिरिराज का आरोप है कि उसके भाई ने पूरी जमीन हड़प ली और उसे हिस्सा नहीं दिया. इससे वह परेशान था. तंग आकर वह अपनी शिकायत देने सोमवार को सुबह एसपी आफिस में गया था. वहां भी कार्रवाई नहीं होने से आहत होकर जहर खा लिया. गिरिराज का कहना है कि हर बार पुलिसकर्मी घर पर आते हैं और चाय पीकर चले जाते हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं करते.

इमरजेंसी वार्ड में चल रहा है युवक का इलाज

गिरिराज को एमबीएस अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है. वहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है. पीड़ित को अस्पताल में भर्ती कराए जाने के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पारस जैन और नयापुरा थानाधिकारी संजय रॉयल भी वहां पहुंचे. उन्होंने पीड़ित के हालचाल पूछकर चिकित्सकों से भी इस बारे में जानकारी ली.  पुलिस के आलाधिकारियों ने पूरे मामले की जानकारी मांगी है. घटनाक्रम के बाद कैथून थाने में भी हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस अब पीड़ित से जुड़े पूरे मामले की तहकीकात कर रही है. वहीं चिकित्सक पीड़ित युवक पर नजर रखे हुए हैं.

(रिपोर्ट: ओमप्रकाश मारू)

अशोक गहलोत सरकार का यू-टर्न, जनता नहीं पार्षद ही चुनेंगे निकाय प्रमुख
Loading...

मंत्री शांति धारीवाल बोले, हम मीसा बंधुओं को स्वतंत्रता सेनानी नहीं मानते

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 4:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...