अपना शहर चुनें

States

देवउठनी एकादशीः कोटा में आज 3000 से अधिक शादियां होंगी, समारोह पर प्रशासन की नजर

कोटा में आज देवउठनी एकादशी के दिन तीन हजार से ज्यादा शादियां होंगी.
कोटा में आज देवउठनी एकादशी के दिन तीन हजार से ज्यादा शादियां होंगी.

कोरोना काल (Corona era) में देवउठनी एकादशी के दिन आज कोटा (Kota) में तीन हजार से अधिक शादियां (Weddings) होने जा रही हैं. इन शादियों में सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन कराने के लिए प्रशासन (Administration) ने कई टीमों का गठन किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 11:40 AM IST
  • Share this:
कोटा. देश और प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) ने जहां शादी समारोह में अधिकतम 50 लोगों के शामिल होने की संख्या तय कर दी है. वहीं आज कोटा में देवउठनी एकादशी (Devauthani Ekadashi) के दिन करीब 3000 से अधिक शादियां होने जा रही हैं. इन सभी शादी समारोह में मेहमानों के शामिल होने के कोरोना से बचने के लिए राजस्थान सरकार ने विशेष दिशा-निर्देश जारी किया है.

शादी समारोह में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सरकार के द्वारा जारी निर्देशों का पालन करने के लिए प्रशासन ने कई टीमों को गठित किया है. इसके साथ ही अधिकारी शादी समारोह आयोजन स्थलों पर पहुंचकर कोरोना वायरस के नियमों के पालन के लिए अपील कर रहे हैं. अधिकारियों की समझाइश के बाद शादी का आयोजन करने वाले लोगों ने भी सावधानी बरतनी शुरू कर दी है.

Rajasthan: कोरोना बेकाबू हुआ तो बढ़ने लगी रार, नेता चुनावों को देने लगे दोष



नियमों का पालन नहीं होने पर उनके खिलाफ की जाने वाली कानूनी कार्रवाई के बारे में भी चेतावनी दी जा रही है. शादियों में जहां मेहमानों की संख्या सीमित की गई है, इसको देखते हुए इवेंट कंपनियों ने भी रिश्तेदारों को शादियों से जोड़ने का नया तरीका खोज निकाला है. शादी समारोह का लाइव टेलीकास्ट करने की इवेंट कंपनियों ने व्यवस्था कर रखी है. इसके तहत वर्चुअल प्लेटफार्म के जरिए घर बैठे ही रिश्तेदार शादी के आयोजनों को देख सकेंगे और उस शादी का हिस्सा बन सकेंगे.
बता दें कि देवउठनी एकादशी के दिन शादियों (Marriage) के लिए कलक्ट्रेट में परमिशन लेने को लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी थी. प्रदेश में इस बार कोरोना गाइडलाइन्स के तहत शादियों की सूचना जिला प्रशासन को देना आवश्यक किया गया है. वहीं शादियों में 100 लोगों से ज्यादा शामिल नहीं होने की पाबंदी के चलते लोग ऊहपोह में है. लंबे समय से कोरोना के कारण लोग शादियों को टाल रहे थे, लेकिन अब भी स्थिति संतोषजनक नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज