लाइव टीवी

Lockdown: कोचिंग सिटी कोटा में स्टूडेंट्स ने खुद को कमरों में किया 'आइसोलेटेड', पढ़ाई में जुटे हैं
Kota News in Hindi

Shakir Ali | News18 Rajasthan
Updated: April 4, 2020, 7:56 PM IST
Lockdown: कोचिंग सिटी कोटा में स्टूडेंट्स ने खुद को कमरों में किया 'आइसोलेटेड', पढ़ाई में जुटे हैं
कोटा में कोचिंग सेंटर्स में सिंगल रूम कल्चर है. यहां 80 प्रतिशत से अधिक स्टूडेंट्स सिंगल रूम में रहते हैं.

कोरोना (COVID-19) के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) में एक तरफ जहां देश और प्रदेश के कई हिस्सों से इसके नियमों के उल्लंघन के मामले सामने आ रहे हैं, वहीं कोचिंग सिटी कोटा (Coaching City Kota) इस मामले में आदर्श शहर साबित हो रहा है.

  • Share this:
कोटा. कोरोना (COVID-19) के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) में एक तरफ जहां देश और प्रदेश के कई हिस्सों से इसके नियमों के उल्लंघन के मामले सामने आ रहे हैं, वहीं कोचिंग सिटी कोटा (Coaching City Kota) इस मामले में आदर्श शहर साबित हो रहा है. देशभर के अलग-अलग हिस्सों से आकर यहां मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयार करने वाले स्टूडेंट्स न केवल लॉकडाउन का पूरा पालन कर रहे हैं, बल्कि इस समय का सदुपयोग करते हुए अपनी पढ़ाई में जुटे हुए हैं.

स्टूडेंट्स ने खुद को हॉस्टल के कमरों तक किया सीमित
कोटा में रह रहे पूरे देश के हजारों स्टूडेंट्स ने इन दिनों खुद को हॉस्टल के कमरों तक सीमित कर लिया है. वे न केवल होम आइसोलेशन में हैं, बल्कि स्वस्थ और सतर्क भी हैं. वे कोराना वायरस को लेकर हर सरकारी एडवाइजरी पालना बहुत गंभीरता के साथ कर रहे हैं. वे इस समय का फायदा उठाकर न केवल अपनी कमजोरियों को दूर कर रहे हैं, बल्कि हर टॉपिक्स पर अपनी पकड़ भी बढ़ा रहे हैं. इसके लिए उन्हें फेकल्टीज की पूरी मदद भी मिल रही है.

डबल रूम वाले बच्चे जा चुके हैं



कोटा में कोचिंग सेंटर्स में सिंगल रूम कल्चर है. यहां 80 प्रतिशत से अधिक स्टूडेंट्स सिंगल रूम में रहते हैं. करीब 20 प्रतिशत स्टूडेंट्स ऐसे हैं जो कि डबल रूम में रहते हैं. डबल रूम वाले बच्चे जा चुके हैं. ऐसे में सभी सिंगल रूम वाले स्टूडेंट्स यहां है. वे होम आइसोलेशन का बेहतरीन उदाहरण बन रहे हैं. कोटा में इंजीनियरिंग व मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए हर वर्ष डेढ़ लाख से अधिक स्टूडेंट्स कोटा आते हैं. लॉकडाउन के चलते हॉस्टल्स में बाहर के व्यक्तियों का आना-जाना प्रतिबंधित है. स्टूडेंटस को भोजन करने के समय भी एकत्रित नहीं होने दिया जा रहा है.



सिंगल रूम कल्च होम आइसोलेशन की आदर्श स्थिति
कोटा मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ.विजय सरदाना का कहना है कि कोटा का सिंगल रूम कल्चर आइसोलेशन का बहुत प्रभावी उदाहरण है. होम आइसोलेशन के लिए सिंगल कमरा और वॉशरूम अटैच होना चाहिए. ये स्थितियां कोटा में है. इसके साथ ही हॉस्टल्स में हाइपोक्लोराइड से सफाई भी हो रही है. कोटा में स्थिति आदर्श है. स्टूडेंट्स को इन दिनों कहीं जाने का प्रयास नहीं करते हुए इन्हीं परिस्थितियों में रहना चाहिए.

पढ़ाई के साथ क्रिएटिव काम करना चाहिए
मनोचिकित्सक डॉ.वीरेन्द्र मेवाड़ा कहते हैं कि कोटा में होम आइसोलेशन की अच्छी स्थितियां हैं. स्टूडेंट्स किसी के संपर्क में नहीं हैं. उन्हें पढ़ाई के साथ क्रिएटिव काम करना चाहिए. रोजाना फोन पर बात करें, दोस्तों से चर्चा करें. योगा और व्यायाम भी करें. पूरे दिन का शेड्युल बनाकर फोलो करें. ऐसे में मानसिकता स्वस्थ बनी रहेगी और इस समय का सदुपयोग कर सकेंगे.

होम आइसोलेशन जैसी स्थिति ही है
एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक नवीन माहेश्वरी ने बताया कि कोटा में रह रहे हजारों स्टूडेंट्स की एलन स्टूडेंट्स वेलफेयर सोसायटी द्वारा मदद की जा रही है। स्टूडेंट्स जिला प्रशासन के निर्देशों की हॉस्टल में रहकर ही पूरी पालना कर रहे हैं. यहां स्टूडेंट्स के लिए होम आइसोलेशन जैसी स्थिति ही है. वे अपने कमरे में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं.

समस्या के समाधान के लिए 8 हेल्पलाइन जारी
जिला कलक्टर ओम कसेरा ने पिछले दिनों स्टूडेंट्स और पेरेन्ट्स के नाम जारी किए गए संदेश में भी कहा कि कोटा सेफ है. हॉस्टल्स अपने-आप में आइसोलेशन हैं. यहां स्टूडेंट्स की हर संभव मदद की जा रही है. उनकी समस्या के समाधान के लिए 8 हेल्पलाइन जारी की गई है. उनके माध्यम से रोजाना स्टूडेंट्स अपनी समस्याएं बता रहे हैं और उनका समय रहते समाधान किया जा रहा है.

COVID-19: राजस्थान में अब 191 पॉजिटिव केस, इनमें 41 तबलीगी जमात से

बीकानेर में कोरोना वायरस का पहला शिकार, मौत के बाद सामने आई रिपोर्ट पॉजिटिव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 4, 2020, 7:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading