मंत्री ने RTO कर्मियों को वसूली करते रंगे हाथ पकड़ा, इंस्पेक्टर हुआ सस्पेंड और होगी एसीबी जांच भी

कोटा में गुरुवार को मंत्री रमेश मीणा ने खुद परिवहनकर्मियों को वसूली करते पकड़ा. इसके बाद इंस्पेक्टर चद्रशेखर शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया. एसीबी पूरे मामले की जांच भी करेगी.

Shakir Ali | News18 Rajasthan
Updated: August 30, 2019, 5:24 PM IST
मंत्री ने RTO कर्मियों को वसूली करते रंगे हाथ पकड़ा, इंस्पेक्टर हुआ सस्पेंड और होगी एसीबी जांच भी
पुलिस वाले की जेब से निकले वसूली के रुपए के साथ मंत्री रमेश मीणा
Shakir Ali
Shakir Ali | News18 Rajasthan
Updated: August 30, 2019, 5:24 PM IST
कोटा में गुरुवार को सड़क परिवहन विभाग ( RTO officials) के वसूली रैकेट को किसी और ने नहीं बल्कि राजस्थान सरकार के खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रमेश मीणा ने रंगे हाथों (red handed) पकड़ा. मंत्री रमेश मीणा जब बूंदी से कोटा आ रहे थे तो थर्मल बाईपास के पास परिवहन विभाग के इंस्पेक्टर (Inspector) सहित अन्य कर्मचारी वाहन चालकों से वसूली कर रहे थे. मंत्री (Minister) ने जब इस पूरे खेल को देखा तो उन्होंने वसूली करने वाले कर्मियों से वसूले गए 8 हजार से ज्यादा रुपए भी बरामद किए.

वाहन चालकों से बात करते मंत्री रमेश मीणा


पूरे मामले की जांच करेगी कोटा एसीबी की टीम 

इसके बाद मंत्री ने वसूली करने वाले कर्मचारियों को जमकर लताड़ा. मंत्री रमेश मीणा के स्तर से इस वसूली के खेल को देखने और दोषियों को रंगे हाथ पकड़ने के बाद कोटा परिवहन विभाग के इंस्पेक्टर चद्रशेखर शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया है. अब इस पूरे मामले की जांच कोटा एसीबी की टीम (ACB investigation) करेगी. वसूली का यह खेल कैसे चल रहा था और मंत्री रमेश मीणा ने कैसे इस खेल का भंडाफोड़ किया.

आरटीओ वाले कर रहे थे वसूली : मंत्री रमेश मीणा

मंत्री मीणा ने बताया कि जब वह गाड़ी से थर्मल बाईपास के पास आ रहे थे तो दूर से उन्हें दिखाई दिया कि कुछ लोग आती हुई गाड़ियों की बोनट पर डंडे मार रहे हैं. मेरी गाड़ी स्पीड में थी, जैसे ही पास में पहुंचा तो मैंने जानना चाहा कि पुलिस वाले गाड़ियों को क्यों रोक रहे हैं. इसके लिए मैंने गाड़ी को बैक कराया तो पता चला कि आरटीओ वाले हैं. डंडे मारने के बारे में पूछा तो एक ड्राइवर ने कहा कि साहब थोड़ी देर पहले मैं पैसे देकर आया हूं और ये लोग दोबारा पैसे मांग रहे हैं.

मिल गए वसूले गए 8 हजार 300 रुपए 
Loading...

वसूली की हकीकत जानने के लिए मैंने अपने स्टॉफ से परिवहन कर्मियों की गाड़ी और उनकी तलाशी कराने का निर्णय लिया. इसी बीच उन्होंने पैसे फेंक दिए. जब अपने साथ के पुलिस वालों से ढूंढवाया तो इन लोगों ने वसूली के रुपए को गोल-गोलकर के प्लास्टिक में लपेट कर जो फेंके थे वे बरामद हो गए. कुल आठ हजार तीन सौ रुपए थे. मैंने परिवहन मंत्री मंत्री से बात की. एसपी से भी बात की और ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा.

ये भी पढ़ें- इस अद्भुत पेड़ में लोग अबतक ठोक चुके हैं हजारों जंजीरें

केंद्र से पैसे के लिए BJP सांसदों से गुहार लगाएगी कांग्रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 11:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...