Home /News /rajasthan /

more than 2000 crocodiles camped in hathikheda village kota 1300 people in fear danger of life increased cgpg

2000 से ज्यादा मगरमच्छों ने जमाया डेरा, बस गया पूरा गांव, खौफ में 13 हजार लोग

Kota News: राजस्थान के कोटा में मगरमच्छों की मौजूदगी से लोगों में खौफ बढ़ता जा रहा है. हाथीखेड़ा गांव में 2 हजार से ज्यादा मगर ने अपने बसेरा बना लिया है.

Kota News: राजस्थान के कोटा में मगरमच्छों की मौजूदगी से लोगों में खौफ बढ़ता जा रहा है. हाथीखेड़ा गांव में 2 हजार से ज्यादा मगर ने अपने बसेरा बना लिया है.

Kota News: राजस्थान (Rajasthan News) के कोटा में मगरमच्छों (crocodile attack) का खतरा बढ़ता जा रहा है. कोटा से करीब 15 किमी दूर हाथीखेड़ा गांव में करीब दो हजार से ज्यादा मगरमच्छों की मौजूदगी से लोगों में जान का खतरा बढ़ गया है. हाथीखेड़ा गांव के नजदीक 2 हजार से ज्यादा मगरमच्छों ने डेरा जमा रखा है. इस इलाके की पहचान अब क्रोकोडाइल पॉइंट की तरह होने लगी है, लेकिन बस्तियों के तरफ बढ़ रहे इनके मूवमेंट से लोगों में अब डर बैठने लगा है.

अधिक पढ़ें ...

कोटा. राजस्थान के कोटा इलाके में लगातार घनी आबादी के बीच मगरमच्छों के निकलने का सिलसिला जारी है. यह मगरमच्छ चंबल नदी के आसपास के इलाकों तक पहुंच गए हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रेम नगर, किशोरपुरा सहित कई इलाकों तक मगरमच्छ आ चुके हैं. बताते हैं कि कुछ दिन पहले आबादी वाले इलाके में करीब 7 फीट लंबा मगरमच्छ देखा गया था. इधर, कोटा में एक ऐसा गांव ऐसा भी है जिसे देखर ऐसा लगता है कि मगरमच्छों ने यहां अपना पूरा कुनबा बसा लिया है. यह इलाका चंद्रलोई नदी के नजदीक है. कोटा से करीब 15 किमी दूर हाथीखेड़ा गांव में करीब 1300 लोग रहते हैं. इस नदी में 2 हजार से ज्यादा मगरमच्छों ने डेरा जमा रखा है. इस इलाके की पहचान अब क्रोकोडाइल पॉइंट की तरह होने लगी है, लेकिन बस्तियों के तरफ बढ़ रहे इनके मूवमेंट से लोगों में अब डर बैठने लगा है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक चंद्रलोई नदी के किनारे हाथीखेड़ा गांव का करीब 4 किमी का इलाका बसा हुआ है. अब इस इलाके में करीब 2 हजार से ज्यादा मगरमच्छों की मौजूदगी बताई जा रही है. कहते हैं कि यहां के 16 किमी की रेंज में मगरमच्छ रहते हैं. मगरमच्छ जब धूप सेकने आते हैं तो ऐसा लगता है कि उन्होंने यहां पूरा गांव बसा लिया है. यहां कई बार 10 से 12 की झुंड में मगरमच्छ दिख जाते हैं.

लोगों में बढ़ रहा खौफ

दरअसल, हाथीखेड़ा के 16 किमी का एरिया चंद्रलोई नदी के नजदीक बसा है. यहां 15 से ज्यादा गांव बसे हैं. इसी इलाके में बड़ी संख्या में मगरमच्छों की मौजूदी देखी गई है. अब इन गांवों के 5 हजार से ज्यादा लोगों में अब खौफ बढ़ता जा रहा है. कहते हैं कि कुछ महीने पहले मंदानिया गांव में दो लोगों पर मगर हमला कर चुका है. ग्रामीणों का कहना है कि मगरमच्छों के डर से लोगों ने नदी के नजदीक जाना बंद कर दिया है. लोगों को लगता है कि कभी भी मगर उन पर हमला कर सकता है. इतना ही नहीं नदी पर पानी पीने आने वाले मवेशियों को भी ये अपना शिकार बना रहे हैं.

ये भी पढ़े:  बेटी चलाती थी घर, मौत पर दाह-संस्कार के लिए लकड़ियां तक नहीं जुटा पाया परिवार, पढ़ें दर्दनाक स्टोरी 

बारिश में बढ़ जाती है संख्या
लोगों का कहना है कि बारिश के मौसम में पानी का स्तर काफी बढ़ जाता है. इन दिनों मगरमच्छों की संख्या बढ़ जाती है. ऐसे में कई बार ये गांव में भी घुस जाते हैं.वन विभाग का कहना है कि नदी किनारे स्थित खेतों में इसका खतरा ज्यादा रहता है. आबादी से मगरमच्छों को दूर रखने के लिए उन्हें डायवर्ट करने की जरूरत है.

Tags: Crocodile, Kota news, Rajasthan news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर