Home /News /rajasthan /

Corona Vaccination campaign: जानिये 31 जुलाई तक क्या रहा देशभर का हाल, RTI की जुबानी, टीकाकरण की कहानी

Corona Vaccination campaign: जानिये 31 जुलाई तक क्या रहा देशभर का हाल, RTI की जुबानी, टीकाकरण की कहानी

देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को और रफ़्तार पकड़ना अभी बाकी 
 (सांकेतिक तस्वीर)

देश के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान को और रफ़्तार पकड़ना अभी बाकी (सांकेतिक तस्वीर)

Corona Vaccination campaign : कोरोना की तीसरी लहर सिर पर है और राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान धीमी गति से चल रहा है. इसमें 31 जुलाई तक हुए वेक्सीनेशन में उत्तर प्रदेश पहले, महाराष्ट्र दूसरे, गुजरात तीसरे, राजस्थान चौथे एवं कर्नाटक पांचवें पायदान पर है.

अधिक पढ़ें ...

कोटा. कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव का एक मात्र उपाय इसकी वैक्सीन (Vaccine) ही है. इसकी दोनों डोज लेने के बाद ही कोरोना से लड़ा जा सकता है. लेकिन 138 करोड़ की जनसंख्या (Population) वाले भारत में अभी तक आधी आबादी को कोरोना वैक्सीन की प्रथम डोज भी नसीब नहीं हुई है. यह खुलासा कोटा के सामाजिक कार्यकर्ता सुजीत स्वामी को सूचना के अधिकार (Right to Information)के तहत मिली जानकारी से हुआ. केंद्र के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से सुजीत स्वामी ने जुलाई माह में आरटीआई के माध्यम से देश में टीकाकरण की स्थिति के बारे में जवाब मांगा था. इसके जवाब में विभाग ने 31 जुलाई तक देश में हुए टीकाकरण की स्थिति स्पष्ट की.

देश में कोरोना वेक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी से हुई थी. सात महीने बीतने के बाद भी केवल 34.20 फीसदी लोगों को ही वैक्सीन की डोज लग पायी है. विभाग ने विभिन्न श्रेणियों में लगे टीके का आंकड़ा उपलब्ध करवाया साथ ही प्रत्येक राज्य को जनवरी से जुलाई 23 तक कितनी-कितनी वैक्सीन दी गई है  उसका डाटा भी मुहैया करवाया है.

47.20 करोड़ लोगों को लग चुकी वैक्सीन
विभाग ने बताया की 31 जुलाई 2021 तक देश में कुल 10 करोड़ 41 लाख 91 हजार 118 लोगों का ही वेक्सीनेशन अब तक पूरा हो पाया है. यानी जिनको कोरोना की फर्स्ट & सेकंड दोनों डोज लगायी गयी है. जबकि 36 करोड़ 78 लाख 43 हजार 730 लोगों को फर्स्ट डोज लगाई जा चुकी है और वो दूसरी डोज के इंतजार में है. दोनों डोज़ मिलाकर देखा जाये तो 31 जुलाई तक 47 करोड़ 20 लाख 34 हजार 848 वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है जो वर्तमान भारत की जनसंख्या का लगभग 34.2%है.

हेल्थ केयर और फ्रंट लाइन वर्कर को लगी डोज
1 करोड़ 3 लाख 11 हजार 317 हेल्थ केयर वर्कर को फर्स्ट एवं 78 लाख 55 हजार 614 को सेकंड डोज लग चुकी है. फ्रंट लाइन वर्कर में 1 करोड़ 13 लाख 63 हजार 183 का वेक्सीनेशन पूरा हुआ. जबकि 1 करोड़ 79 लाख 78 हजार 88 को फर्स्ट डोज ही लगी है.

दोनों डोज लेने वाले युवाओं की संख्या कम
18 से 44 वर्ष आयु वाले ग्रुप के लोगों में सबसे कम वेक्सीनेशन पूरा हुआ. इसमें दोनों डोज ले चुके लोगों की संख्या मात्र 88 लाख 87 हजार 38 है, जबकि फर्स्ट डोज लेने में यह ग्रुप अव्वल रहा. 31 जुलाई तक इस ग्रुप के 15 करोड़ 69 लाख 10 हजार 991 लोगों को फर्स्ट डोज लग चुकी है. 45 से 59 वर्ष आयु वाला ग्रुप सेकंड डोज लगवाने में पहले पायदान पर रहा. इसमें 3 करोड़ 94 लाख 14 हजार 954 लोगों को सेकंड डोज लग चुकी है, जबकि 10 करोड़ 65 लाख 23 हजार 802 लोगों को फर्स्ट डोज दी जा चुकी है.

7.61 करोड़ बुजुर्गों को दूसरी डोज का इंतजार

60 वर्ष आयु ग्रुप का वेक्सीनेशन देश में सबसे पहले शुरू हुआ था. इसमें अब तक 3 करोड़ 66 लाख 70 हजार 329 लोग सेकंड डोज लगवा चुके हैं. जबकि 7 करोड़ 61 लाख 19 हजार 532 लोग फर्स्ट डोज लेकर दूसरी डोज का इंतजार कर रहे हैं.

सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश को मिली डोज
उत्तर प्रदेश में 4 करोड़ 84 लाख 41 हजार 824, महाराष्ट्र में 4 करोड़ 46 लाख 66 हजार 687, गुजरात में 3 करोड़ 37 लाख 27 हजार 302, राजस्थान में 3 करोड़ 28 लाख 10 हजार 318 एवं कर्नाटक में 3 करोड़ 6 लाख 56 हजार 903 वैक्सीन अब तक लगाई जा चुकी है. केंद्र ने राज्यों को जनवरी में 2,14,89,720 फ़रवरी में 2,39,38,360 मार्च में 4,75,81,130 अप्रेल में 7,07,53,090 मई में 4,12,76,990 जून में 7,66,04,100 और 23 जुलाई तक 7,56,87,820 वैक्सीन की डोज मुहैया करवाई.

राजस्थान में 56 फीसदी को वैक्सीन का इंतजार
7.5 करोड़ से ज्यादा की आबादी वाले राजस्थान में 56% से ज्यादा लोगों को अब तक वैक्सीन का इंतजार है. यहां 31 जुलाई तक कुल 3 करोड़ 28 लाख 10 हजार 318 (2,52,81,101 को फर्स्ट & 75,29,217 को दोनों) वैक्सीन की डोज लगायी जा चुकी हैं. राजस्थान में हेल्थ केयर वर्कर को कुल 9 लाख 85 हजार 149 (5,54,561 को फर्स्ट & 4,30,588 को दोनों), फ्रंट लाइन वर्कर को कुल 12 लाख 04 हजार 21 (7,02,099 को फर्स्ट & 5,01,922 को दोनों) वैक्सीन की डोज लगी हैं.

1.16 करोड़ युवाओं को लग चुकी हैं डोज
इसी प्रकार 18 से 44 वर्ष आयु वाले ग्रुप में 1 करोड़ 16 लाख 25 हजार 618 (1,07,59,786 को फर्स्ट & 8,65,832 को दोनों), 45 से 59 वर्ष आयु वाले ग्रुप में 98 लाख 26 हजार 969 (70,66,693 को फर्स्ट & 27,60,276 को दोनों) एवं 60 वर्ष आयु वाले ग्रुप में 91 लाख 68 हजार 561 (61,97,962 को फर्स्ट & 29,70,599 को दोनों) वैक्सीन की डोज़ लगी है.

प्रदेश में मार्च में सबसे ज्यादा मिली डोज
राजस्थान को जनवरी में 12,66,000 फ़रवरी में 11,30,840 मार्च में 59,43,670 अप्रेल में 52,71,850 मई में 35,08,300 जून में 40,74,990 और 23 जुलाई तक 46,96,580 वैक्सीन की डोज केंद्र से प्राप्त हुई है. सामाजिक कार्यकर्ता सुजीत स्वामी के मुताबिक वैक्सीन की रफ्तार बढ़ानी होगी. तीसरी लहार आने को है और सात महीने बीतने पर भी हम आधी आबादी को टीके नहीं लगा पाए. यह चिंताजनक है.

राज्य में मात्र 7.5% आबादी का ही वेक्सीनेशन
प्रदेश में मात्र 7.5% आबादी का ही वेक्सीनेशन 31 जुलाई तक पूरा हो पाया है. जबकि युवाओं की बात करें तो यह आंकड़ा बहुत ही कम है. सरकार को टीके लगाने की रफ़्तार में तेजी करनी चाहिए ताकि जल्द से जल्द लोगों का टीकाकरण पूरा हो सके और वो कोरोना वायरस से बच सकें. यदि इसी गति से टीके लगाए गए तो देश में कई लोगों को सम्पूर्ण टीकाकरण होने से पूर्व ही बूस्टर डोज की जरूरत पड़ने लग जाएगी.

Tags: 18 plus vaccination, 3rd Phase Vaccination, Corona 19, Corona Infections, Coronavaccine, Coronavirus Third Wave

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर