Home /News /rajasthan /

कोटाः 19वां फलौदी माता मेला शुरू, 14 राज्यों से जुटे श्रद्धालु

कोटाः 19वां फलौदी माता मेला शुरू, 14 राज्यों से जुटे श्रद्धालु

फोटो-(ईटीवी)

फोटो-(ईटीवी)

कोटा जिले के खैराबाद कस्बे में 19वां फलौदी माता मेला शनिवार से शुरू हो गया. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मेजबान विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल और सांसद ओम बिरला समेत अंचल के विधायकों के साथ संतों के सान्निध्य में मेले का उद्घाटन किया.

अधिक पढ़ें ...
    कोटा जिले के खैराबाद कस्बे में 19वां फलौदी माता मेला शनिवार से शुरू हो गया. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मेजबान विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल और सांसद ओम बिरला समेत अंचल के विधायकों के साथ संतों के सान्निध्य में मेले का उद्घाटन किया.

    हर बारहवें साल में भरने वाले इस ऐतिहासिक मेले में देशभर के 14 राज्यों से एक लाख से अधिक श्रद्धालु जुटे हैं, जिनके लिए खैराबाद में 350 बीघा के विशाल इलाके में अस्थाई फलौदी नगर बसाया गया है.

    मेड़तवाल वैश्य समाज की कुलदेवी फलौदी माता का देश में स्थित एकमात्र फलौदी माता मंदिर खैराबाद में है. मध्यप्रदेश के भानपुरा की ज्योतिर्मठ पीठ के ज्ञानानंद तीर्थजी युवाचार्य, मथुरा के महामंडलेश्वर गुरुशरणानंद समेत स्थानीय संतों से आशीर्वाद लेते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मेले का उद्घाटन किया.

    इस दौरान राजे ने 12 साल में एक बार भरने वाले इस ऐतिहासिक मेले का सरकारी स्तर पर प्रचार-प्रसार का ऐलान करते हुए कहा कि राजस्थान का ये महाकुंभ 36 कौमों को जोड़ने वाला सांप्रदायिक सौहार्द्र का मेला है.

    350 बीघा जमीन पर विशाल इलाके में भर रहे इस ऐतिहासिक मेले में मुख्यमंत्री के साथ यूडीएचमंत्री श्रीचंद कृपलानी, सांसद ओम बिरला, महापौर महेश विजय, यूआईटी अध्यक्ष आरके मेहता, जिलाध्यक्ष जयवीरसिंह, मेजबान विधायक चन्द्रकान्ता मेघवाल समेत आधा दर्जन विधायक भी मंच पर मौजूद रहे.

    इस दौरान मुख्यमंत्री ने इलाके के लोगों की बहुप्रतीक्षित ताकली बांध की मांग जल्द पूरा करने का वादा करते हुए कहा कि हाल में शीतलहर और ओलावृष्टि से फसलों के खराबे का सरकार जल्दी ही सर्वे कराने जा रही है.

    ये अजीब इत्तेफाक है कि 12 साल पहले भरे इस ऐतिहासिक 18वें द्वादश वर्षीय मेले का उद्घाटन भी वसुंधरा राजे ने ही किया था और ठीक 12 साल बाद मातारानी की भक्त वसुंधरा राजे ने ही शनिवार को फलौदी माता मेले का उद्घाटन किया है. बहरहाल, राजे ने मंच से अपने संबोधन के आखिर में ये वादा भी किया कि फलौदी माता के 20वें मेले के भरने के समय 12 साल बाद वो जाने कहां और किस हाल में रहेंगी लेकिन इतना वादा और इरादा जरूर रखती हैं कि एक भक्त के रुप में वो फलौदी माता के ढोक लगाने तो जरूर आएंगी.

    Tags: Kota news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर