कोटा: हाड़ौती में होगी जल और जंगल दोनों की सफारी, बनाया जा रहा है ये 'मेगा प्लान'

कोटा में जहां चंबल की सफारी पर्यटकों को आकर्षित करेगी वहीं उन्हें जंगलों में वन्यजीवों को देखने का भी मौका मिलेगा.

Mukundra Tiger Reserve Development Plan: कोटा जिले में स्थित मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में जल्द ही बाघों के साथ चीते भी शिफ्ट किये जायेंगे. उसके बाद हाड़ौती देशभर में ऐसा स्थान होगा जहां जल और जंगल दोनों की सफारी होगी. इससे यहां पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

  • Share this:
कोटा. हाड़ौती के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व (Mukundra Tiger Reserve) में एक बार फिर जल्द बाघों की दहाड़ सुनाई देगी. मुकुंदरा में दो बाघ और एक बाघिन को शिफ्ट किया जाएगा. इससे पूर्व एनटीसीए (NTCA) की टेक्निकल टीम मुकुंदरा टाइगर रिजर्व का जायजा लेगी. उसके बाद में इसमें चीते भी शिफ्ट किये जाने के कार्ययोजना पर कार्य किया जायेगा. इससे हाड़ौती देश का ऐसा पर्यटक स्थल बन जायेगा जहां जल और जंगल दोनों की सफारी होगी। हाड़ौती में टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा.

मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में लंबे समय से बाघों को शिफ्ट करने की चल रही मांग के बीच राज्य के वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई बुधवार को कोटा पहुंचे. उन्होंने एनटीसीए की ओर से बाघों के लिए मुकुंदरा टाइगर रिजर्व में प्री बेस तैयार करने की दी गई मंजूरी के बाद टाइगर रिजर्व का निरीक्षण किया. वन मंत्री विश्नोई ने अधिकारियों के साथ बैठक कर उम्मीद जताई कि प्री बेस तैयार होते ही आगे की कार्रवाई की जायेगी.

लोकसभा स्पीकर से मिले मंत्री और विधायक
उसके बाद मंत्री सुखराम बिश्नोई राजस्थान वाइल्ड लाइफ बोर्ड के सदस्य विधायक भरत सिंह के साथ लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से मुलाकात करने पहुंचे. स्पीकर के कैम्प कार्यालय में करीब आधा घंटे तक तीनों के बीच हाड़ौती के मुकुंदरा टाइगर रिजर्व और हाल ही में बूंदी जिले के रामगढ़ को बतौर टाइगर रिजर्व की मिली मंजूरी के बाद उसे भी विकसित करने पर चर्चा की.

मुकुंदरा के जंगल में चीते भी लाये जायेंगे
स्पीकर ओम बिरला ने वन मंत्री और विधायक भरत सिंह को आश्वस्त किया कि वे जल्द ही केंद्र सरकार से बातचीत कर दोनों टाइगर रिजर्व को विकसित करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने विधायक भरत सिंह की ओर से लंबे समय से हाड़ौती के जंगलों में चीतों को लाने की मांग पर भी कहा कि इसके लिये भी प्रयास किये जायेंगे.

देश में जल और जंगल की सफारी सिर्फ हाड़ौती में होगी
लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने कहा कि देश में हाड़ौती ही ऐसा स्थान है जहां पर्यटकों को जल और जंगल दोनों की सफारी करने का मौका मिलेगा. एक तरफ जहां चंबल की सफारी पर्यटकों को आकर्षित करेगी वहीं उन्हें हाड़ौती के जंगलों में वन्यजीवों को देखने का मौका मिलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.