• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • पॉक्सो कोर्ट ने बेटी से दुष्कर्म व उसकी हत्या करने वाले पिता को फांसी की सजा सुनाई

पॉक्सो कोर्ट ने बेटी से दुष्कर्म व उसकी हत्या करने वाले पिता को फांसी की सजा सुनाई

मां के बयान कोर्ट में दर्ज हुए तब पता चला कि पिता ही लंबे समय से बेटी से दुष्कर्म कर रहा था.

मां के बयान कोर्ट में दर्ज हुए तब पता चला कि पिता ही लंबे समय से बेटी से दुष्कर्म कर रहा था.

नाबालिग बेटी (Minor Daughter) से दुष्कर्म व हत्या (Rape and Murder) के करीब साढ़े चार साल पुराने मामले में पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) ने दोषी पाए गए पिता को फांसी (Hang) की सजा सुनाई. कोर्ट ने सजा के साथ दोषी पिता पर 20 हजार का जुर्माना भी लगाया है.

  • Share this:
    कोटा. नाबालिग बेटी (Minor Daughter) से दुष्कर्म व हत्या (Rape and Murder) के करीब साढ़े चार साल पुराने मामले में पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) ने दोषी पाए गए पिता को फांसी (Hang) की सजा सुनाई. कोर्ट ने सजा के साथ दोषी पिता पर 20 हजार का जुर्माना भी लगाया है. विशिष्ट लोक अभियोजक प्रेमनारायण नावदेव ने बताया कि मई 2015 में मृतका के पिता ने नयापुरा थाने में शिकायत दी थी कि वह नयापुरा इलाले में किराए के मकान में रहता था. वह ढकनिया में वेयर हाउस में गार्ड का काम करता था और पत्नी वेयर हाउस के बाहर चाय की थड़ी लगाती थी. 13 मई को उसका छोटा बेटा भी पत्नी के साथ दुकान पर गया था. तब 17 साल की उसकी नाबालिग बेटी घर पर अकेली थी. रात को जब वह घर पर पहुंचा तब बेटी को लहूलुहान हालत में सोफे पर पड़ा पाया.

    मां के बयान से पिता की करतूत सामने आई

    पिता की इस शिकायत पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अनुसंधान शुरू किया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि मृतका को चार माह का गर्भ था. इस कारण पुलिस ने भ्रूण का डीएनए जांच के लिए सैंपल लिया. जब मां के बयान कोर्ट में दर्ज हुए तब मामला सामने आया कि पिता ही लंबे समय से बेटी से दुष्कर्म कर
    रहा था, जिसके चलते वह चार माह से गर्भवती थी.


    विशिष्ट लोक अभियोजक प्रेमनारायण नावदेव ने बताया कि पॉक्सो कोर्ट ने दोषी पिता को दुष्कर्म के मामले में आजीवन कारावास और हत्या के मामले में फांसी की सजा सुनाई.


    पिता पर 20 हजार का अर्थदंड भी लगा

    मामले में पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था. तब से ही यह मामला कोर्ट में विचाराधीन था. 8 गवाहों के बयान के बाद आज पॉक्सो कोर्ट क्रम एक कोर्ट के विशिष्ट न्यायाधीश अशोक चौधरी ने मामले में फैसला सुनाते हुए आरोपी पिता को दुष्कर्म के मामले में आजीवन कारावास व बेटी की हत्या के मामले में फांसी की सजा सुनाई. कोर्ट ने आरोपी पिता पर 20 हजार का अर्थदंड भी लगाया है.

    (कोटा से ओम प्रकाश की रिपोर्ट)

    ये भी पढ़ें - पुलिस पर मारपीट व झूठे मुकदमे दर्ज करने के आरोप में प्रदर्शन

    ये भी पढ़ें - कोहरे का कहर ! बाइक सवार को बचाते समय पलटा ट्रक, सड़क पर बिखरे टमाटर

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज