अपना शहर चुनें

States

कोटा पुलिस ने लिखी सफलता की नई इबारत, 2 साल में ढूंढ निकाले 1800 से अधिक गुमशुदा लोग

मानव तस्करी विरोधी यूनिट की टीम ने प्रतिदिन दो से अधिक बालक बालिकाओं और महिला-पुरुषों को तलाश कर सफलता की नई कहानी रची है.
मानव तस्करी विरोधी यूनिट की टीम ने प्रतिदिन दो से अधिक बालक बालिकाओं और महिला-पुरुषों को तलाश कर सफलता की नई कहानी रची है.

New story of success: कोटा की मानव तस्करी विरोधी यूनिट ने गत दो बरसों में गुम हुए 2072 लोगों में से 1869 को तलाश कर नया रिकॉर्ड कायम किया है.

  • Share this:
कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Kota) की मानव तस्करी विरोधी यूनिट ने गत दो साल में 1800 से अधिक गुमशुदा लोगों (Missing people) को तलाश कर न केवल उनके परिजनों के चेहरों की रौनक लौटाई है बल्कि पूरे प्रदेश में सफलता की एक नई कहानी (New story of success) रची है. कोटा पुलिस की मानव तस्करी विरोधी यूनिट उन लोगों के लिए किसी मसीहा से कम नही रही जिनके परिजन दुनिया की इस भीड़ में कहीं गुम हो गए थे. यूनिट के इस सराहनीय कार्य की चर्चा प्रदेशभर में पुलिस महकमे में हो रही है.

मानव तस्करी विरोधी यूनिट प्रभारी राजेन्द्र सिंह कविया ने बताया वर्ष 2019 में 229 बालक और बालिकाओं की गुमशुदगी दर्ज हुई थी. जबकि टीम ने बेहतर कार्य करते हुए पुराने गुमशुदा समेत 233 बालक व बालिकाओं को खोज निकालने में कामयाबी हासिल की. वहीं 2019 में 965 महिला और पुरुषों के लापता होने सहित अन्य मामले दर्ज हुए थे. उनमें टीम ने बेहतर कार्य करते हुए 858 लोगों को खोज निकाला. यानी 2019 में महिला, पुरुषों और बच्चों की गुमशुदगी के 1194 मामले दर्ज हुए थे. उनमें से 1089 तलाशने में सफलता हासिल की है.





2 साल में गुम हुए 2072 में से 1869 लोगों को तलाश लिया
वहीं 2020 में बालक बालिकाओं के गुमशुदगी के कुल 145 मामले दर्ज हुए थे. इस वर्ष में पुलिस ने पुराने कई मामलों समेत 159 बच्चों को तलाशने में सफलता हासिल की. वहीं महिला और पुरुष के 733 गुमशुदगी के मामले दर्ज हुए थे. इनमें से 621 लोगों को खोज निकाला गया. वर्ष 2020 में 878 महिला व पुरुष समेत बच्चों के गुम होने के मामले दर्ज हुए थे. उनमें 780 को तलाशने में सफलता हासिल की है. गत 2 साल में मानव तस्करी विरोधी यूनिट ने गुम हुए 2072 में से 1869 लोगों को तलाश लिया. इस अवधि में मानव तस्करी विरोधी यूनिट की टीम ने प्रतिदिन दो से अधिक बालक बालिकाओं और महिला पुरुष को तलाश कर सफलता की नई कहानी रची है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज